Teja Dashmi 2021: 16 सितंबर को मनाई जाएगी तेजा दशमी, जानिए इसके पीछे की लोक कथा

Teja Dashmi 2021: 16 सितंबर को मनाई जाएगी तेजा दशमी, जानिए इसके पीछे की लोक कथा

Teja Dashmi 2021: 16 सितंबर को मनाई जाएगी तेजा दशमी, जानिए इसके पीछे की लोक कथा

जयपुर: भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि के दिन मध्यप्रदेश और राजस्थान के कई इलाकों में तेजा दशमी पर्व मनाने की परंपरा है. गुरुवार 16 सितंबर को  रवियोग में तेजा दशमी मनाई जाएगी. इस दिन वीर तेजाजी के पूजन की परंपरा है और तेजाजी महाराज के मंदिरों में मेले का भी आयोजन होता है.

इस दिन तेजा जी महाराज के मंदिरों में मेला लगता है और भक्त तेजा जी को रंग-बिरंगी छतरियां चढ़ाते हैं. ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि इस पर्व को ग्रामीण क्षेत्रों में धूमधाम से मनाया जाता है. ग्रामीण क्षेत्रों में काफी लोगों की सांप के काटने से परेशानी हो जाती है. मान्यता है कि जो लोग तेजा जी महाराज की पूजा करते हैं, उन्हें सर्प दंश का भय नहीं रहता है. इसी वजह से ग्रामीण इलाकों में तेजा जी महाराज के भक्तों की संख्या काफी अधिक है. 

ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि वीर तेजाजी महाराज का जन्म नागौर जिले के खड़नाल गांव में ताहरजी (थिरराज) और रामकुंवरी के घर माघ शुक्ल चतुर्दशी संवत् 1130 यथा 29 जनवरी 1074 को जाट परिवार में हुआ था. बताया जाता है कि तेजाजी के माता-पिता को संतान नहीं हो रही थी तब उन्होंने शिव पार्वती की कठोर तपस्या की, जिसके बाद उनके घर तेजाजी का जन्म हुआ था. मान्यता है कि जब वे दुनिया में आए तब एक भविष्यवाणी में कहा गया था कि भगवान ने खुद आपके घर अवतार लिया है.

और पढ़ें