इंदौर (मध्यप्रदेश) अगर आप भी घूम रहे हैं बिना मास्क तो हो जाइए सावधान, यहां खानी पड़ सकती है जेल की हवा

अगर आप भी घूम रहे हैं बिना मास्क तो हो जाइए सावधान, यहां खानी पड़ सकती है जेल की हवा

अगर आप भी घूम रहे हैं बिना मास्क तो हो जाइए सावधान, यहां खानी पड़ सकती है जेल की हवा

इंदौर (मध्यप्रदेश): सार्वजनिक स्थलों पर लोगों द्वारा बिना मास्क घूमने की प्रवृत्ति पर नकेल कसने के लिए राज्य के दो और स्थानों पर शुक्रवार से अस्थायी जेल की व्यवस्था शुरू की गई.

धर्मशाला और महेश्वर में बनाई जा रही जेलेंः
अधिकारियों ने बताया कि सूबे में कोरोना वायरस संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित जिलों में शामिल खरगोन के दो स्थानों पर यह व्यवस्था शुरू की गई है. उन्होंने बताया कि अस्थायी जेलें खरगोन की एक धर्मशाला और महेश्वर के एक सरकारी विद्यालय में बनाई गई हैं. उन्होंने बताया कि इन जेलों में उन लोगों को करीब छह घंटे तक कैद रखा जा रहा है जो बगैर मास्क लगाए सार्वजनिक स्थलों पर घूमते पकड़े जा रहे हैं. अधिकारियों ने बताया कि सूबे में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित जिले इंदौर में अस्थायी जेल की व्यवस्था पहले ही शुरू की जा चुकी है.

अब तक 130 से ज्यादा लोग गिरफ्तारः
इंदौर के केंद्रीय जेल के अधीक्षक राकेश कुमार भांगरे ने शुक्रवार शाम को बताया कि पिछले 24 घंटे में शहर के अलग-अलग इलाकों से 130 से ज्यादा लोगों को एहतियातन गिरफ्तार करके अस्थायी जेल लाया गया है. जेल अधीक्षक के मुताबिक प्रशासन के आदेश पर स्नेहलतागंज क्षेत्र में एक समुदाय के गेस्ट हाउस को अस्थायी जेल बनाया गया है.

धारा 151 के तहत किया जा रहा गिरफ्तारः
राकेश कुमार भांगरे ने बताया कि सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहने बगैर घूमने वाले लोगों को दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 151 (संज्ञेय अपराध घटित होने से रोकने के लिए की जाने एहतियातन गिरफ्तारी) के तहत गिरफ्तार करके अस्थायी जेल भेजा जा रहा है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें