Tennis Player जोकोविच ने Summer Games को लेकर रखी शर्त, बोले- दर्शकों को Entry मिलने पर ही Tournament खेलूंगा

Tennis Player जोकोविच ने Summer Games को लेकर रखी शर्त, बोले- दर्शकों को Entry मिलने पर ही Tournament खेलूंगा

Tennis Player जोकोविच ने Summer Games को लेकर रखी शर्त, बोले- दर्शकों को Entry मिलने पर ही Tournament खेलूंगा

बेलग्रेड: दुनिया के नंबर-1 टेनिस प्लेयर नोवाक जोकोविच (Tennis Player Novak Djokovic) ने कहा है कि वे टोक्यो ओलिंपिक्स में खेलने को लेकर अपनी शर्त रख दी है. उन्होंने कहा है कि वे ओलिंपिक में तभी हिस्सा लेंगे, जब उसमें दर्शकों को एंट्री की परमिशन दी जाएगी. इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी (International Olympic Committee) और टूर्नामेंट ऑर्गेनाइजेशन (Tournament Organization) ने हाल ही में कहा था कि यह ओलिंपिक बंद स्टेडियम में खेला जाएगा. जबकि, स्थानीय लोग और डॉक्टर्स इसे रद्द करने की मांग कर रहे हैं. ओलिंपिक 23 जुलाई से 8 अगस्त तक आयोजित होगा. इसके बाद 24 अगस्त से पैरालिंपिक गेम्स की शुरुआत होगी.

ओलिंपिक में फैंस को एंट्री मिलेगी तब ही खेलने पर विचार करूंगा:
 जोकोविच ने कहा कि मैं ओलिंपिक में खेलने पर विचार तभी करूंगा, जब इसमें फैन्स को एंट्री (Entry) मिलेगी. अगर नहीं, तो इस पर दोबारा विचार करूंगा. जोकोविच अकेले टेनिस स्टार नहीं हैं, जिन्होंने कोरोना के समय में ओलिंपिक कराने को लेकर चिंता जाहिर की है. इससे पहले सेरेना विलियम्स, नाओमी ओसाका, राफेल नडाल और रोजर फेडरर (Serena Williams, Naomi Osaka, Rafael Nadal and Roger Federer) भी नाराजगी जता चुके हैं. इन सभी ने कहा है कि उन्होंने अभी तक ओलिंपिक में हिस्सा लेने के बारे में नहीं सोचा है.

फ्रेंच ओपन की तैयारियों में जुटे टेनिस प्लेयर्स:
जोकोविच ने यह बयान बेलग्रेड टूर्नामेंट (Belgrade Tournament) के दौरान दिया. वे इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंच चुके हैं. गुरुवार को उन्होंने फेडरिको कोरिया को 6-1, 6-0 से हराया. सभी टेनिस प्लेयर फिलहाल साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम फ्रेंच ओपन की तैयारियों में जुटे हुए हैं. फ्रेंच ओपन की शुरुआत 30 मई से होगी. जोकोविच ने साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन को रिकॉर्ड 9वीं बार अपने नाम किया था.

जापान की ही ओसाका ने ऑर्गेनाइजर्स को सलाह दी थी:
फेडरर ने कहा था कि एथलीट को इस बारे में मिलकर फैसला लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि वे खुद इसको लेकर संशय में हैं और दोनों पहलुओं के बारे में सोच रहे हैं. वहीं, जापान की स्टार प्लेयर ओसाका (Star Player Osaka) और केई निशिकोरी ने कहा था कि टोक्यो को फिलहाल यह ओलिंपिक होस्ट नहीं करना चाहिए था. इस पर लोगों की मत लेनी चाहिए थी.

जापान के एक डॉक्टर ने ऑर्गेनाइजर्स को दी चेतावनी:
जापान के एक मेडिकल इंस्टीट्यूट (Medical Institute) के डॉक्टर नाओतो उएयामा (Doctor Naoto Uyama) ने गुरुवार को IOC और ऑर्गेनाइजर्स को चेतावनी भी दी. उन्होंने कहा कि 2 महीने के अंदर ओलिंपिक हुआ तो इससे जापान में कोरोना दोगुना गति से फैल सकता है. इससे हालात कितने भयावह होंगे ये बता पाना मुश्किल है.

राकुटेन के CEO ने टोक्यो ओलिंपिक को सुसाइड मिशन बताया:
कई प्रांतों ने विदेशी एथलीट (Foreign Athletes) को होस्ट करने से मना कर दिया है. वहीं, कई अस्पताल टूर्नामेंट (Hospital Tournament) के दौरान मिलने वाले कोरोना संक्रमितों के लिए बेड देने को तैयार नहीं हैं. इसके बाद टूर्नामेंट ऑर्गेनाइजर्स ने स्टाफ की संख्या में कटौती का फैसला लिया था. जापान के करोड़पति बिजनेसमैन और राकुटेन के CEO हिरोशी मिकितानी (Hiroshi Mikitani, CEO of Rodapati Businessman and Rakuten) ने कहा था कि कोरोना के समय में टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) कराना सुसाइड मिशन (Suicide Mission) है.

और पढ़ें