वाशिंगटन भारत को निशाना बना रहे आतंकवादी समूहों का पाकिस्तानी सरजमीं से काम जारी - अमेरिकी रिपोर्ट

भारत को निशाना बना रहे आतंकवादी समूहों का पाकिस्तानी सरजमीं से काम जारी - अमेरिकी रिपोर्ट

भारत को निशाना बना रहे आतंकवादी समूहों का पाकिस्तानी सरजमीं से काम जारी - अमेरिकी रिपोर्ट

वाशिंगटन: भारत को निशाना बना रहे आतंकवादी समूहों ने पाकिस्तानी सरजमीं से अपनी गतिविधियों को अंजाम देना जारी रखा है. पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद संस्थापक और संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकवादी मसूद अजहर तथा 2008 मुंबई हमले के ‘‘प्रोजेक्ट मैनेजर’’ साजिद मीर समेत अन्य आतंकवादियों के खिलाफ भी कार्रवाई नहीं की है. अमेरिका के विदेश विभाग द्वारा आतंकवाद पर जारी एक नयी रिपोर्ट में यह बात कही गयी है.

अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने बृहस्पतिवार को आतंकवाद पर जारी देश की रिपोर्ट 2020 में कहा कि क्षेत्रीय रूप से आतंकवादी समूह पाकिस्तान से अपनी गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘अफगान तालिबान और उससे जुड़े हक्कानी नेटवर्क समेत अफगानिस्तान को निशाना बना रहे समूहों के साथ ही भारत को निशाना बना रहे लश्कर-ए-तैयबा और उससे जुड़े संगठन तथा जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) समेत अन्य आतंकवादी समूहों ने पाकिस्तानी सरजमीं से अपना काम जारी रखा है.’’

अजहर और मीर दोनों पाकिस्तान में निर्बाध घूम रहे:
रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान ने जेईएम संस्थापक और संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकवादी अजहर और 2008 मुंबई हमले के ‘‘प्रोजेक्ट मैनेजर’’ मीर जैसे अन्य वांछित आतंकवादियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. ऐसा माना जाता है कि अजहर और मीर दोनों पाकिस्तान में निर्बाध घूम रहे हैं.

आतंकवाद के वित्त पोषण के कई आरोपों में दोषी ठहराया:
इसमें कहा गया है कि फरवरी और फिर नवंबर में लाहौर की एक आतंकवादी रोधी अदालत ने लैश्कर-ए-तैयबा संस्थापक हाफिज सईद को आतंकवाद के वित्त पोषण के कई आरोपों में दोषी ठहराया और उसे साढ़े पांच साल के कारावास की सजा सुनाई. रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान ने वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) की कार्य योजना को पूरा करने की दिशा में 2020 में अतिरिक्त प्रगति की लेकिन कार्य योजना के सभी कामों को पूरा नहीं किया और वह एफटीएफ की ‘‘ग्रे सूची’’ में बना हुआ है. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें