प्रदेश में कांग्रेस उम्मीदवारों के नाम पर मंथन पूरा, होली के बाद आएगी पहली सूची

Naresh Sharma Published Date 2019/03/17 06:09

जयपुर (नरेश शर्मा)। राजस्थान में लोकसभा का चुनाव प्रचार अभियान शुरू करने के साथ ही कांग्रेस ने उम्मीदवारों के नाम पर भी मंथन पूरा कर लिया है। रविवार को नई दिल्ली में कांग्रेस के वॉर रूम 15 जीआरजी में स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग हुई, जिसमें उम्मीदवारों के नाम पर राय बना ली गई है। जिन उम्मीदवारों पर आम सहमति बनी है, उनके नाम केंद्रीय चुनाव समिति को भेजे जाएंगे और होली के बाद कांग्रेस की पहली सूची जारी हो जाएगी।

15 जीआरजी में आज कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग हुई, जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, संगठन महामंत्री के सी वेणुगोपाल, सह प्रभारी काजी निजामुद्दीन विवेक बंसल शामिल हुए। मीटिंग के दौरान ही राज्य सरकार के तीन मंत्री डॉ रघु शर्मा लालचंद कटारिया व हरीश चौधरी भी आए। वहीं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ चंद्रभान, रामेश्वर डूडी,  धीरज गुर्जर,  मोहन प्रकाश ने भी चर्चा में हिस्सा लिया। कांग्रेस के आला नेताओं ने सभी 25 सीटों पर राय मशविरा किया। इस दौरान विभिन्न सर्वे रिपोर्ट को भी मीटिंग में रखा गया। 

मिली जानकारी के अनुसार करीब 20 सीटों पर आम राय बन चुकी है और शेष सीटों  पर 2 से 3 दावेदारों के पैनल बनाए गए हैं। अब यह पैनल केंद्रीय चुनाव समिति में भेजे जाएंगे जहां पर राहुल गांधी की अध्यक्षता में होने वाली मीटिंग में उम्मीदवारों के नाम पर मुहर लगेगी। स्क्रीनिंग कमेटी ने तय किया है कि विधानसभा चुनाव की तरह ही लोकसभा चुनाव में भी पार्टी बड़े व लोकप्रिय चेहरों को मैदान में उतारेगी चाहे वे विधायक या मंत्री ही क्यों ना हो।

आलाकमान ने राजस्थान कांग्रेस को प्रदेश में कम से कम 20 सीट जीतने का लक्ष्य दिया है और इसी कारण उम्मीदवार चयन की रणनीति में लगातार बदलाव होता गया। अब कई चौंकाने वाले नाम सूची में सामने आएंगे। हालांकि कुछ जगह ऐसी है जहां पर सिंगल पैनल है और उम्मीदवार के नाम को लेकर कोई विवाद नहीं है। पार्टी ने यह भी तय किया है कि कुछ नजदीकी मुकाबले वाली सीटों पर भाजपा के उम्मीदवारों को देखने के बाद ही नाम पर किए जाएंगे। इस बीच टिकट के दावेदारों ने आला नेताओं के सामने अपनी बात रखी। रामेश्वर डूडी ने शुरू चूरू से और चंद्रभान ने झुंझुनू से टिकट मांगी है। वहीं हरीश चौधरी बाड़मेर से चुनाव लड़ने पर अड़े हुए हैं। आलाकमान मानवेंद्र सिंह को चुनाव लड़ाना चाहता है, ऐसे में अब हरीश चौधरी को मनाने की कोशिश की जा रही है। कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने भी दिल्ली में नेताओं से मुलाकात की।  सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वे नागौर में अपने समधी के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं। हालांकि कटारिया को भी जयपुर ग्रामीण से उम्मीदवार बनाए जाने की चर्चा फिर तेज हो गई है। वहीं रघु शर्मा ने कहा है कि पार्टी जिताऊ उम्मीदवार को टिकट देगी और कोई भी कांग्रेस में ऐसा नेता नहीं है, जो चुनाव लड़ने से पीछे हट रहा है। उन्होंने कहा कि मंत्री हो या विधायक या कोई अन्य नेता पार्टी जो आदेश करेगी वह उसे मान्य होगा। 

एक तरफ उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया चल रही है वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के चुनाव अभियान का दूसरा चरण 23 मार्च से शुरू होगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 23 मार्च से 5 अप्रैल तक प्रदेश के विभिन्न लोकसभा क्षेत्रों में जनसभाएं करेंगे। वे अब तक 8 लोकसभा क्षेत्रों में जनसभा कर चुके हैं। गहलोत के साथ उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी रहेंगे, लेकिन चुनाव प्रचार का असली रंग उस समय जमेगा, जब राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी इसी महीने राजस्थान में बड़ी आम सभा करेंगे। प्रदेश कांग्रेस के सभी नेता व कार्यकर्ता आम सभा की तैयारियों में जुट गए हैं और जल्द ही पूरा कार्यक्रम तय कर लिया जाएगा। ऐसे में अब देखना यह है कि राहुल गांधी द्वारा दिया गया 20 सीटों का टारगेट कांग्रेस किस सीमा तक हासिल कर पाती है।


 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in