बहरोड़ लॉकअप कांड में पूरे थाने पर गिरी गाज, 2 हैड कांस्टेबल बर्खास्त, थानाधिकारी निलंबित, स्टाफ लाइन हाजिर

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/09/10 08:59

अलवर: जिले के बहरोड थाने पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर कुख्यात अपराधी विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को लॉकअप से छुड़ाने के मामले में शुरुआती जांच के बाद लापरवाही के दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ गाज गिरी है. घटना के तीसरे दिन सोमवार रात बहरोड़ एसएचओ सुगनसिंह को निलम्बित कर दिया. थाने के दो हैडकांस्टेबल विजयपाल और रामोतार को बर्खास्त तथा शेष पूरे स्टाफ को लाइन हाजिर किया गया है. 

पूरा स्टाफ नया लगा दिया: 
वहीं, तत्काल तिजारा के एसएचओ जितेन्द्र सोलंकी को बहरोड़ एचएचओ लगाते हुए पूरा स्टाफ नया लगा दिया है. एक अन्य आदेश में अतुल साहू को झालावाड़ से स्थानांतरित कर बहरोड़ डीएसपी लगाया गया है. इस प्रकार से प्रकरण में पुलिस की मिलीभगत के बाद बहरोड़ का पूरा का पूरा पुलिस महकमा बदल दिया गया है.

बदमाश को उसके गुर्गों ने पुलिस स्टेशन से छुड़ा लिया था: 
हरियाणा का कुख्यात गैंगस्टर पपला गुज्जर 30 लाख रुपए की नकदी और हथियारों के साथ पुलिस हाथों पकड़ा गया था. अगले दिन सुबह ही उसके गुर्गों ने पुलिस स्टेशन से उसे छुड़ा लिया. पपला अपनी ऐसी ही वारदातों के चलते कुख्यात है और फेसबुक पर भी दहशत फैलाता रहता है.

बहरोड़ थाने पर एसएचओ समेत 69 पुलिसकर्मियों का स्टाफ था: 
बहरोड़ थाने पर एसएचओ समेत 69 पुलिसकर्मियों का स्टाफ था. पूरे स्टाफ को हटाते हुए उनके स्थान पर 69 नए पुलिसकर्मियों को लगाया गया है. थाने में दो एसआई रामकिशोर और शेरसिंह लगाए गए हैं. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in