close ads


नवोन्मेष और आविष्कार की बुनियाद है उत्साही विचार, इसे नजरअंदाज न करें: K. Sivan

नवोन्मेष और आविष्कार की बुनियाद है उत्साही विचार, इसे नजरअंदाज न करें: K. Sivan

जमशेदपुरः हाल ही में आईआईटी जमशेदपुर का दसवा दीक्षात समारोह का आयोजन किया गया था. इस दौरान भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के. सिवन ने समारोह  की अध्यक्षता की थी. इस दौरान सिवान ने कहा है कि उत्साही विचार नवोन्मेष और आविष्कार की बुनियाद है, इसलिए इसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए.

आपको बता दे कि के सिवन कोरोना के चलते वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर आयोजित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान जमशेदपुर के दसवें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे. संस्थान के उत्तीर्ण विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए सिवन ने कहा कि आज देश कई समस्याओं से जूझ रहा है. इन समस्याओं के तकनीकी समाधान में आप सहायक हो सकते हैं.

उन्होंने छात्रों से कहा कि उत्साही विचार नवोन्मेष और आविष्कार की बुनियाद है, इसलिए इसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए. जिसके  बाद छात्रों ने अपने सपनों को साकार रुप देने की बात भी कही और उन्हें अपनी प्रेरणा बताया. जिसके बाद सभी ने सिवान का आभार जताया था. आपको बता दे कि कोरोना के चलते दीक्षांत समारोह ऑनलाइन माध्यम से आयोजित किया गया था.  (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें