VIDEO: बूंदी में आरएसएस शाखा पर हमले को लेकर विधानसभा में हुआ जमकर हंगामा

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/07/11 09:01

जयपुर: विधानसभा में आज शून्यकाल के दौरान आर एस एस की शाखा पर हुये हमले का मसला उठा. हाड़ौती के तेज तर्रार विधायक मदन दिलावर ने कहा बूंदी के एक पार्क में संघ की शाखा पर हमला हुआ. दिलावर ने कहा कि यह केरल और बंगाल नहीं राजस्थान है. संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने निष्पक्ष कार्रवाई का आश्वासन दिया. धारीवाल ने विपक्ष पर आरोप जड़े तो सदन में हंगामा बिफर गया. हंगामे को बढ़ता देख स्पीकर डॉ सीपी जोशी को आसन पर आना पड़ा और पढ़ाना पढ़ा अनुशासन का पाठ. 

हाडौती के बूंदी में आरएसएस की शाखा पर हुये हमले की गूंज आज सदन में सुनाई दी. सियासत इतनी गरमाई की सदन में जमकर हंगामा देखने को मिला. रामगंजमंडी के बीजेपी के विधायक मदन दिलावर ने स्वयंसेवकों पर समुदाय विशेष के लोगों की ओर से किये गये हमले का मसला उठाया. 

सदन में इस मुद्दें पर क्या हुआ, कौन क्या बोला:
दिलावर ने पर्ची के जरिये सदन में कहा कि कल बूंदी के एक पार्क में वाकया हुआ. जहां भगवा ध्वज लगाकर खेल रहे छोटे बच्चों पर हमला हुआ. पुलिस में इस हमले की रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई, लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई. इमरान और नौकर को गिरफ्तार करना चाहिये. ये 6 बजे की घटना है और  रिपोर्ट 9 बजकर 42 मिनट पर दर्ज हुई. आरएसएस की शाखा में चरित्र निर्माण, अनुशासन और देश भक्ति सिखाई जाती है और देश भक्ति जाग्रत की जाती है. हम ऐसे हमले बर्दाश्त नहीं करेंगे. हम कानून हाथ में लेना नहीं चाहते, लेकिन मजबूर ना करे. हम किसी भी असामाजिक तत्व को खुला नहीं घूमने देंगे. हम मुंडी पकड़कर पुलिस के हवाले करेंगे, फिर आप कहोगे कि सांप्रदायिकता कर रहे हो, मुस्लिमों के साथ ऐसा कर रहे हो. आप असमाजिक तत्वों को पनपने मत दो. मैंने धारीवाल जी को कल भी बता दिया था. एसपी ने कहा रातों रात सबको उठा लेंगे, लेकिन केवल एक को पकड़ा गया. मुझे लगता है कि सरकार पर प्रेशर है और समुदाय वर्ग का प्रेशर नहीं चलने देंगे. 

कटारिया बोले विषय गंभीर:
वहीं नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि विषय गंभीर है. संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने कटारिया से कहा आप कौन होते हैं, पर्ची पर मदन दिलावर बोलने के अधिकारी है, आप नहीं. इतना कहते ही सदन में हंगामा पनप गया, बीजेपी विधायक खड़े होकर सत्ता पक्ष के खिलाफ बोलने लगे. गुलाबचंद कटारिया और शांति धारीवाल के तीखी बहस हुई. मातृ संगठन के पक्ष में बीजेपी के विधायक कांग्रेस सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. आसन पर बैठे सभापति राजेन्द्र पारीक को अनुशासन बनाये रखने में परेशानी होने लगी. तभी हंगामा बढ़ता देखकर अपने कक्ष में बैठे स्पीकर डॉ सीपी जोशी को सदन में आना पड़ा और आसन पर बैठ गये. 

संसदीय कार्य मंत्री ने दी सफाई:
संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि सार्वजनिक पार्क पर 10 जुलाई को बच्चियां झूला झूल रही थीं और उसी समुदाय में शादी समारोह था. वहीं शाखा लगाई जा रही थी, लेकिन प्राथमिकी में 5 ही आदमियों के नाम क्यों दर्ज कराए. कटारिया जी से मेरी कल रात फोन पर बात हुई थी. एसपी से पूछकर कार्रवाई भी बताई गई और कहा कि दोषियों को पकड़ा जाएगा और क्या जवाब चाहते हैं आप सरकार से. 

हाड़ौती को आरएसएस की प्रयोगशाला कहा जाता है. मदन दिलावर सरीखे नेता संघ की उसी शाखा से निकलकर विधायक बने. ऐसे में जब बात हाडौती की हो और संघ की हो तो ये तेज तर्रार विधायक चुप नहीं रह सकते. जैसे उन्होंने मामला उठाया संघ की शाखा से सियासत में आये गुलाब चंद कटारिया, वासुदेव देवनानी, रामलाल शर्मा, सतीश पूनिया, अशोक लाहोटी समेत प्रमुख विधायकों ने मोर्चा खोल दिया. सदन में बीजेपी की भगवा ब्रिगेड से संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल लोहा लेते दिखे. महेश जोशी, महेंद्र चौधरी और कुछ मंत्रियों का जरुर साथ मिला. विपक्षी विधायकों की इस मुद्दें पर संघ भक्ति नजर आई तो सत्ता पक्ष ने तर्को के आधार पर विपक्षी हमलों का तीखा जबाव दिया. पूरे मामले में सदन को ठीक ढंग से नियंत्रित कर अनुशासन करने का काम किया विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने. 

... ऋतुराज शर्मा, ऐश्वर्य प्रधान, नरेश शर्मा के साथ योगेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in