पानी के लिए मचने लगा हाहाकार, मटकियां फोड़कर की नारेबाजी

पानी के लिए मचने लगा हाहाकार, मटकियां फोड़कर की नारेबाजी

पानी के लिए मचने लगा हाहाकार, मटकियां फोड़कर की नारेबाजी

जैसलमेर: जिले के पोकरण उपखण्ड के वार्ड संख्या दो व तीन के निवासियों के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं ने जलदाय विभाग के अधिशासी अभियंता कार्यालय में बिगड़ी जलापूर्ति व्यवस्था को लेकर जमकर विरोध प्रदर्शन किया. साथ ही मटकियां फोड़कर जलापूर्ति सुचारु करने की मांग की और अधिशासी अभियंता को एक खाली मटकी भी सुपुर्द की.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 131 नए पॉजिटिव, 6 की मौत, जिलेवार जाने आंकड़े 

एक माह से जलापूर्ति व्यवस्था पूरी तरह से लड़खड़ाई हुई: 
गौरतलब है कि कस्बे के वार्ड संख्या दो, तीन, कोरियाबास, बागवानों का बास, दाऊ का बास, सेवापुरी कॉलोनी में गत एक माह से जलापूर्ति व्यवस्था पूरी तरह से लड़खड़ाई हुई है. भीषण गर्मी में बिगड़ी जलापूर्ति व्यवस्था के कारण आमजन को पेयजल संकट से रूबरू होना पड़ रहा है. साथ ही ट्रैक्टर टंकियों से पानी खरीदकर मंगवाना पड़ रहा है. इस संबंध में लोगों ने कई बार जलदाय विभागाधिकारियों को अवगत करवाया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने पर मजबूरन उनकी ओर से बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया गया. 

विभाग के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की:
भाजयुमो प्रदेश मंत्री आईदानसिंह भाटी नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता व वार्डवासी जलदाय विभाग के अधिशासी अभियंता कार्यालय पहुंचे. यहां उन्होंने विभाग के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की. विरोध प्रदर्शन की सूचना पर अधिशासी अभियंता सुशीलकुमार कश्यप कार्यालय से बाहर समस्या सुनने पहुंचे. इस दौरान गुस्साए लोगों ने उनके समक्ष मटकियां फोड़ी और रोष जताया.  

जम्मू-कश्मीर में टला बड़ा आतंकी हमला, पुलवामा की तरह गाड़ी में रखी गई थी IED 

जलापूर्ति व्यवस्था से परेशानी हो रही:
उन्होंने बताया कि एक माह से अवगत करवाने के बावजूद जलापूर्ति सुचारु नहीं की गई है. इन बस्तियों में मजदूर वर्ग निवास करता है. जिन्हें बिगड़ी जलापूर्ति व्यवस्था से परेशानी हो रही है. उन्होंने आरोप लगाते हुए बताया कि विभाग की ओर से टैंकरों से जलापूर्ति के दावे किए जा रहे है, लेकिन पोकरण कस्बे में न तो पर्याप्त जलापूर्ति हो रही है, न ही अभावग्रस्त वार्डों में टैंकर पहुंच रहे हैं. विरोध कर रहे लोगों ने खाली मटकी व समस्या के निराकरण की मांग को लेकर एक ज्ञापन सुपुर्द कर बताया कि यदि उनकी समस्या का शीघ्र निराकरण नहीं होता है, तो उनकी ओर से धरना शुरू कर उग्र आंदोलन किया जाएगा. 

और पढ़ें