संभावित तीसरी लहर से मुकाबले के लिए स्वास्थ्य सेवाओं में कोई कमी नहीं रहेगी, CM Ashok Gehlot ने किया योजनाओं का लोकार्पण

संभावित तीसरी लहर से मुकाबले के लिए स्वास्थ्य सेवाओं में कोई कमी नहीं रहेगी, CM Ashok Gehlot ने किया योजनाओं का लोकार्पण

संभावित तीसरी लहर से मुकाबले के लिए स्वास्थ्य सेवाओं में कोई कमी नहीं रहेगी, CM Ashok Gehlot ने किया योजनाओं का लोकार्पण

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि राज्य सरकार (State Government) कोरोना की संभावित तीसरी लहर (Third Wave) से मुकाबले के लिए निचले स्तर तक स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने में कोई कमी नहीं रख रही है. शहरों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में सीएचसी एवं पीएचसी स्तर तक मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर (Medical Infrastructure) को लगातार सुदृढ़ किया जा रहा है.

वीडियो कांफ्रेंस के जरीए किया लोकार्पण:
गहलोत बुधवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बीकानेर जिले में विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं के लोकार्पण तथा मेडिकल विंग एवं साइकिल वेलोड्रम के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय में 9 करोड़ 30 लाख रुयपे की लागत से बनने वाले साइकिलिंग वेलोड्रम तथा पीबीएम अस्पताल में भामाशाह श्रीमती सी.एम. मूंधडा चेरिटेबल ट्रस्ट, मुंबई के सहयोग से 20 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली मेडिसिन विंग का शिलान्यास किया. उन्होंने पूगल तथा कालू में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवनों तथा खिंयेरा, बेरासर, गारबदेसर, अर्जुनसर, गुसांईसर में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवनों का लोकार्पण भी किया. 

राजस्थान में दानवीरों की कमी नहीं है:
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में दानवीरों की कभी कोई कमी नहीं रही. अकाल और सूखे की बात हो या विपदा का अन्य कोई समय, प्रवासी राजस्थानियों ने प्रदेश के विकास में हमेशा दिल खोलकर सहयोग दिया है.  गहलोत ने सी.एम. मूंधडा चेरिटेबल ट्रस्ट का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने मानव सेवा के जिस काम का बीड़ा उठाया है, उससे बीकानेर के लोगों की स्वास्थ्य सेवाओं की बड़ी जरूरत पूरी होगी. उन्होंने कहा कि साइकिलिंग वेलोड्रम का निर्माण होने के बाद यहां की खेल प्रतिभाओं को आगे आने के भरपूर अवसर मिल सकेंगे.

इस संकट में इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म:
गहलोत ने कहा कि संकट के इस समय में इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म है और इस महामारी का मुकाबला हम सब मिलकर करें, यही हमारी भावना होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जिन कार्यों का आज शिलान्यास हुआ है, वे निर्धारित समय पर पूरे हों, ताकि लोगों को इनका लाभ समय पर मिल सके.
 

और पढ़ें