बिजली चोरी के मामलों की होगी ऑनलाइन मॉनिटरिंग, ऊर्जा मंत्री ने कहा- उपभोक्ताओं की शिकायतें कम होंगी, पारदर्शिता आएगी

बिजली चोरी के मामलों की होगी ऑनलाइन मॉनिटरिंग, ऊर्जा मंत्री ने कहा- उपभोक्ताओं की शिकायतें कम होंगी, पारदर्शिता आएगी

जयपुर: बिजली चोरी के मामलों की अब ऑनलाइन मॉनीटरिंग हाे सकेगी. ऊर्जा विभाग की विजिलेंस चैकिंग टीमें अब मोबाइल एप के जरिए मौके से ही चालान बनाने के लिए ऑनलाइन डेटा सब्मिट कर सकेंगी. जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने विजिलेंस एप डवलप किया है, जिसे आज ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला ने लॉन्च किया. एप लॉन्चिंग के दौरान ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव दिनेश और जेवीवीएनएल के एमडी एके गुप्ता ने बताया कि बिजली चोरी की घटनाओं को रोकने की प्रक्रिया अब पूरी तरह पारदर्शी होगी. इससे उपभोक्ताओं को परेशानी नहीं होगी.

बिजली चोरी, छीजत कम करने का है हमारा लक्ष्य:
हालांकि शिकायतें आने पर बाद में समझौता समितियों के जरिए इनका निस्तारण किया जाएगा. ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि वर्ष 2005 में बिजली कंपनियों में छीजत 41 प्रतिशत थी, जो अब 18 प्रतिशत है. यदि हम 1 प्रतिशत भी छीजत कम करते हैं तो 450 कराेड़ की बचत होती है. पिछले डेढ साल में मौजूदा सरकार ने बिजली छीजत 2 प्रतिशत से ज्यादा कम की है. इस एप की सफलता के बाद इसे अजमेर और जोधपुर विद्युत वितरण निगमाें में भी लागू किया जाएगा.

अधिकारियों-कर्मचारियों की कॉलोनियों में लेंगे स्मार्ट मीटर:
मंत्री ने कहा कि स्मार्ट मीटर लगाने का काम भी तेजी से किया जा रहा है. सबसे पहले बिजली विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों की कॉलोनियों में स्मार्ट मीटर लगाएंगे. जिससे कि कोई खामी सामने आने पर इसे दूर किया जा सके. इसके बाद जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की कॉलोनियों में भी स्मार्ट मीटर लगाएंगे. इन्हें 1 एक साल में पूरे डिस्कॉम के उपभोक्ताओं के लगाया जाएगा.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

और पढ़ें