भाजपा के यह कद्दावर नेता इन दिनों राजनीति के किनारे पर

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/09/23 10:32

रानीवाड़ा(जालोर)। जालोर में भाजपा से कद्दावर नेता रहे और पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा इन दिनों राजनीति से किनारे पर हैं, एक समय था जब रानीवाड़ा विधानसभा में देवड़ा की तूती बोलती थी लेकिन इन दिनों राजनीति के करीब होते हुये भी दूर होते नजर आ रहे है। 

जालोर के रानीवाड़ा विधानसभा की राजनीति में राजपूताना का एक अहम रोल रहता हैं। विधानसभा की राजनीति राजपूत समाज के इर्द-गिर्द ही घूमती है ऐसे में राजपूत वोट बैंक सीधे तौर पर विधानसभा चुनावों के परिणामों को प्रभावित करते हैं। हाल में रानीवाड़ा विधानसभा से नारायणसिंह देवल भाजपा से विधायक है। बड़गांव के राजघराने के अर्जुनसिंह देवड़ा ने सन् 1985 में निर्दलीय के तौर पर अपनी राजनीति का सफर शुरू किया जिसके बाद दो बार भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ जीत हासिल की।

पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से तीन बार विधायक चुनकर विधानसभा पहुंचे। पूर्व मुख्यमंत्री भैरोसिंह शेखावत की सरकार के दौर में अर्जुनसिंह देवड़ा मंत्री के पद पर भी रहे। पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा की सादगी पूर्ण जीवन से विधानसभा क्षेत्र की पूरी जनता का भरपूर समर्थन मिल रहा था लेकिन धीरे धीरे पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा राजनीति से किनारे होते चले गए। जब विधायक नारायणसिंह देवल की रानीवाड़ा विधानसभा से राजनीति में प्रवेश हुआ जिस के बाद पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा का राजनीतिक सफर समाप्त सा हो गया। लेकिन आज भी बड़गांव में पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा की वोट बैंक पर अच्छी पकड़ है इतना ही नहीं स्थानीय भाजपा कार्यकर्ता पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा की सादगी पूर्ण जीवन से भी खासे प्रभावित हैं।

रानीवाड़ा विधानसभा की राजनीति में पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा अपने आप में एक पहचान रखते हैं। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष दीपेंद्रसिंह शेखावत के पुत्र बालेन्द्रसिंह शेखावत ने पिछले दिनों पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा से मुलाकात की थी उस दौरान पूर्व मंत्री अर्जुनसिंह देवड़ा के कांग्रेस की ओर झुकाव की चर्चा जरूर बाहर आई लेकिन अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका। विधायक नारायणसिंह देवल विधानसभा चुनाव को लेकर विधायक टिकट की दौड़ में वहीं नारायणसिंह देवल का नाम पैनल में एक नंबर पर है वही रानीवाड़ा में भाजपा में नारायणसिंह देवल के अलावा कोई अन्य विकल्प भी हाल में नजर नहीं आ रहा है। कांग्रेस से पिछली बार चुनाव हार चुके पूर्व उप मुख्य सचेतक रतनदेवासी भी इस बार प्रबल दावेदारी के साथ टिकट की दौड़ में है।

लूणाराम दर्जी फर्स्ट इंडिया न्यूज़ जालोर
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in