इस बार घरेलू टूर्नामेंट भी चढ़ा कोरोना वायरस की भेंट, ट्रायल के माध्यम से ही चुनी जाएगी टीम

इस बार घरेलू टूर्नामेंट भी चढ़ा कोरोना वायरस की भेंट, ट्रायल के माध्यम से ही चुनी जाएगी टीम

इस बार घरेलू टूर्नामेंट भी चढ़ा कोरोना वायरस की भेंट, ट्रायल के माध्यम से ही चुनी जाएगी टीम

जयपुर: राजस्थान के घरेलू टूर्नामेंट भी इस बार कोरोना वायरस की भेंट चढ़ गए हैं.  लॉक डाउन के कारण 2 महीने से अधिक समय तक खेल मैदान बंद रहने के कारण खिलाड़ियों को तो नुकसान हुआ ही है और अब खेल संघ भी इसका खामियाजा भुगतेंगे. लॉक डाउन के कारण आरसीए के घरेलू टूर्नामेंट इस बार नहीं हो सकेंगे और एक बार फिर ट्रायल और कैंप के आधार पर ही बीसीसीआई के विभिन्न टूर्नामेंटों के लिए आरसीए की टीम चयनित की जाएगी. 

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले 

उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में बोर्ड से गाइडलाइंस आ जाएगी:
अगस्त के आखिरी सप्ताह से बीसीसीआई का घरेलू टूर्नामेंट शुरू हो जाता है और उससे पहले आरसीए को अपने घरेलू टूर्नामेंट कराने होते हैं लेकिन फिलहाल यह स्थिति नजर नहीं आ रही और इसके बाद बारिश का मौसम भी शुरू हो जाएगा.  आरसीए के सचिव महेंद्र शर्मा से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आरसीए बीसीसीआई की गाइडलाइंस की पालना करेगी और उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में बोर्ड से गाइडलाइंस आ जाएगी. 

राजस्थान में पान, गुटखा और तम्बाकू बिक्री की अनुमति मिली, किया गया यह संशोधन 

इस बार ट्रायल के माध्यम से ही टीम चुनी जाएगी:
उन्होंने स्वीकार किया कि इस बार ट्रायल के माध्यम से ही टीम चुनी जाएगी. महेंद्र शर्मा ने कहा कि क्रिकेट में क्योंकि टीम गेम होता है ऐसे में हमें बहुत सी सावधानियां रखनी होगी. दरअसल जब आरसीए के घरेलू टूर्नामेंट होते हैं तो खेल मैदान, सहयोगी स्टाफ और होटल जैसी कई सुविधाएं लेनी पड़ती है. फिलहाल इन सुविधाओं के बारे में असमंजस की स्थिति है. ऐसे में एक बार फिर खिलाड़ियों को कॉल्विन शील्ड जैसे टूर्नामेंटों से महरूम रहना पड़ेगा. वैसे लोग डाउन के कारण आरसीए का ऑफिस भी बंद है और अधिकांश क्रिकेट मैदानों में मेंटेनेंस में समय लगेगा. 

और पढ़ें