Live News »

इस बार टेक्नोलॉजी ने बदला गुर्जर आंदोलन का तरीका
इस बार टेक्नोलॉजी ने बदला गुर्जर आंदोलन का तरीका

अलवर। गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर दिल्ली मुम्बई रेलवे ट्रैक बन्द है। पिछले आंदोलन से इस बार के आन्दोलन में टेक्नोलॉजी के उपयोग का फर्क है। 10 साल में आंदोलनकारी भी पढ़ा लिखा हो गया है और एंड्रॉयड मोबाइल और 4जी का भरपूर उपयोग भी कर रहा है हालांकि प्रशासन ने मलारना स्टेशन के 5 किलोमीटर की परिधि में नेट बंदी कर दी है। सोशल मीडिया पर अफवाहों की भी गुंजाइश जताई जा रही है।  

5 फीसदी आरक्षण को लेकर गुर्जर समाज के लोग 2006 से ही आंदोलन कर रहे है। इस बार आंदोलन के अगुवा कर्नल बैंसला ने मलारना स्टेशन के पास पटरियों को चुना है जहां पिछले 4 दिन से आंदोलनकारी जमें है। इस बार युवा आंदोलनकारी है हाथ में मोबाइल है ... हर एक अपडेट के लिए अब माइक के भरोसे नहीं है और ना ही टीवी स्क्रीन के भरोसे हैं। सरकार या प्रदेश के किसी भी कोने से आने वाली हर अपडेट मोबाइल स्क्रीन पर ही ले रहे हैं। फर्स्ट इंडिया न्यूज़ चैनल को भी मोबाइल पर ही देख रहे हैं। इससे पहले हुए आंदोलनों में ना तो एंड्राइड था और ना ही 4G इंटरनेट। तब के नजारे अलग होते थे जब आंदोलनकारियों का हुजूम किसी एक टीवी स्क्रीन पर आंखें गड़ाए रहता था लेकिन अब टेक्नोलॉजी से अपडेट हो चुके इन युवाओं के लिए टीवी स्क्रीन की जगह मोबाइल स्क्रीन ने ले ली है। जहां ना केवल टीवी देख रहे हैं बल्कि कोई भी नई अपडेट के लिए गूगल भी खंगाल लेते हैं।

कई युवा जो घर से ट्रैक पर पहुंचे हैं अपने दोस्तों और परिजनों को यहां का नजारा सोशल मीडिया पर लाइव दिखाकर या वीडियो कॉलिंग से दिखा रहे हैं। कर्नल बैंसला के पास बैठे लोग भी धौलपुर, सिकंदरा या कहीं भी दूसरे स्थान की हर अपडेट की तस्वीरें मंगवा कर बैंसला को दिखा देते हैं। हालांकि इस दौर में अफवाहों की गुंजाइश रहती है और प्रशासन ने मलारना स्टेशन के आसपास इलाके में अब नेट बंद ही कर दी है। ताकि अफवाहों पर लगाम लग सके। खुद सवाई माधोपुर पुलिस अधीक्षक ने भी असामाजिक तत्वों द्वारा अफवाह फैलाने पर विधि सम्मत कार्रवाई करने की बात कही है। पिछड़ेपन के आधार पर आरक्षण की मांग करने के लिए हो रहे आंदोलन में 21 वीं सदी के युवा टेक्नोलॉजी से अपडेट है और एंड्रॉयड मोबाइल ने इस टेक्नोलॉजी को तो कम से कम हर हाथ में पहुंचा दी हैं। 

...अश्विनी यादव फर्स्ट इंडिया न्यूज़ मलारना स्टेशन

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in