जयपुर VIDEO: नकली बीज या खाद बेचने वालों की अब खैर नहीं, कृषि विभाग खाद-बीज दुकानों का कर रहा सर्वे, देखिए ये खास रिपोर्ट

VIDEO: नकली बीज या खाद बेचने वालों की अब खैर नहीं, कृषि विभाग खाद-बीज दुकानों का कर रहा सर्वे, देखिए ये खास रिपोर्ट

जयपुर: अन्न उपजाने वाले भोले-भाले किसानों के साथ धोखाधड़ी नहीं हो, इसे लेकर कृषि विभाग सख्ती बरत रहा है. खरीफ फसलों की बुवाई से पूर्व 1 जून से गुण नियंत्रण का अभियान शुरू किया गया है. अब तक करीब 2 हजार दुकानों पर कृषि आदानों की बिक्री के दौरान सैंपल लिए गए हैं. कैसे हो रही है जांच और क्या चल रही कार्रवाई, 

खरीफ फसल की बुवाई शुरू होने से पहले ही अन्नदाता के साथ धोखाधड़ी शुरू हो गई है. धौलपुर के जाटौली गांव में ब्रांडेड कम्पनियों के बीज में मिलावट का मामला पकड़ा गया है. पाया गया कि यहां पायोनियर जैसे बड़े ब्रांड के बाजरा बीज के अवैध और मिलावटी बीज बेचे जा रहे थे. सूचना मिलने पर कृषि विभाग की टीम ने छापा मारकर 164 किलो बीज जब्त किया है. यह बीज पायोनियर ब्रांड के पॉलीथीन में पैक थे, जबकि बीज नकली था. यहां 4 अन्य ब्रांड के बीज के भी सैंपल लिए गए हैं. इसी तरह के एक मामले में टोंक जिले के फजलपुर गांव में नकली खाद बरामद किया गया है. यह खाद न केवल अवधिपार था, बल्कि नकली होने के चलते इस खाद के ट्रक को जब्त कर लिया गया है. इसी तरह की धोखाधड़ी के मामलों से किसानों को बचाने के लिए कृषि विभाग ने गुण नियंत्रण का जांच अभियान शुरू किया है. यह अभियान 1 जून से 30 जून तक चलाया जा रहा है. 

चैकिंग अभियान में कृषि विभाग ने क्या किया ?

- 1 से 17 जून तक 2460 खाद-बीज दुकानों का किया गया निरीक्षण

- 1994 दुकानों पर लिए गए कृषि आदानों के सैंपल

- सबसे ज्यादा 1072 बीज के सैंपल लिए, 694 खाद के सैंपल लिए

- 228 पेस्टिसाइड बेचने वाली दुकानों पर भी सैम्पल लिए गए

- गड़बड़ी मिलने पर 11 दुकानों पर बिक्री रोकी गई

- 4 दुकानें ऐसी, जिन्हें अनियमितता के चलते सीज किया गया

- 217 अन्य दुकानों पर कृषि विनियम उल्लंघन पर कार्रवाई की गई

कृषि विभाग की ओर से अभियान के तहत अभी सबसे ज्यादा फोकस बीज की जांच को लेकर चल रहा है. प्रदेशभर में खाद-बीज और पेस्टिसाइड बेचने वाली दुकानों का निरीक्षण किया जा रहा है. यहां पर बीज और खाद की प्राथमिकता से जांच की जा रही है. संदेह होने पर कृषि विभाग के निरीक्षक तुरंत ही सैंपल ले रहे हैं. विभागीय सूचना के मुताबिक कुल 414 कृषि निरीक्षक जांच में जुटे हुए हैं. ये निरीक्षक खाद, बीज, जर्मिनेशन के सैंपल लेने का कार्य कर रहे हैं. 

कृषि विभाग का यह अभियान अभी 30 जून तक जारी रहेगा. सूत्रों की मानें तो अभियान के दौरान करीब 10 हजार सैंपल लिए जा सकते हैं. इस दौरान गड़बड़ी करने वाले दुकानों पर न केवल बिक्री रोकी जा सकती है, साथ ही दुकानों के लाइसेंस भी निलंबित किए जा सकते हैं. वहीं इन मामलों में पुलिस में मुकदमे दर्ज कराने की कार्यवाही भी की जा रही है.
 

और पढ़ें