तीन भारतीयों ने ASBC एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में पदक पक्के किये

तीन भारतीयों ने ASBC एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में पदक पक्के किये

तीन भारतीयों ने ASBC एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में पदक पक्के किये

नई दिल्ली: भारत के रोहित चामोली (48 किग्रा), अंकुश (66 किग्रा) और गौरव सैनी (70 किग्रा) ने दुबई में चल रही एएसबीसी एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंचकर खुद के लिये कम से कम कांस्य पदक पक्के कर लिये. तीन अन्य भारतीयों ने टूर्नामेंट के शुरूआती दिन के अपने मुकाबलों में जीत दर्ज की. चंडीगढ़ के चामोली ने जूनियर लड़कों की स्पर्धा में अलहसन कादौस स्रिया को और अंकुश ने कुवैत के बदर शेहाब को 5-0 के समान अंतर से पराजित किया.

हरियाणा के सैनी ने भी कुवैत के मुक्केबाज याकूब सदाल्लाह के खिलाफ दबदबा बनाया जिसके बाद रैफरी ने दूसरे राउंड में ही मुकाबले को रोक (आरएससी) दिया. तीन अन्य जूनियर मुक्केबाजों आशीष (54 किग्रा), अंशुल (57 किग्रा) और प्रीत मलिक (63 किग्रा) ने शुरूआती दौर के अपने मुकाबले जीत लिये. वहीं यशवर्धन सिंह (60 किग्रा), उस्मान मोहम्मद सुल्तान (50 किग्रा), नक्ष बेनिवाल (75 किग्रा) और ऋषभ सिंह (81 किग्रा) को शुरूआती मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा. छह मुक्केबाज दूसरे दिन रिंग में उतरेंगे जिसमें विश्व युवा चैम्पियनशिप 2021 के कांस्य पदक विजेता बिश्वामित्र चोंगथाम अपना अभियान शुरू करेंगे. यह एशियाई चैम्पियनशिप कोरोना महामारी के करीब दो साल बाद एशियाई स्तर पर उभरती हुई युवा प्रतिभाओं को प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट मुहैया करायेगी.

युवा ग्रुप के स्वर्ण पदक विजेताओं को 6,000 डॉलर, रजत पदक विजेताओं को 3,000 डॉलर और कांस्य पदक विजेताओं को 1,500 डॉलर की पुरस्कार राशि मिलेगी. वहीं जूनियर चैम्पियन को 4,000 डॉलर दिये जायेंगे जबकि दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वाले मुक्केबाज को क्रमश: 2,000 और 1,000 डॉलर मिलेंगे. (भाषा) 

और पढ़ें