Live News »

तीन शहरों को जल्द ही खोली जाएंगी औषधीय नियंत्रण प्रयोगशालाएं, नकली दवाओं पर लग सकेगी पाबंदी

तीन शहरों को जल्द ही खोली जाएंगी औषधीय नियंत्रण प्रयोगशालाएं, नकली दवाओं पर लग सकेगी पाबंदी

जयपुर: राज्य सरकार द्वारा अगले दो महीनों में उदयपुर, जोधपुर और बीकानेर में औषधीय नियंत्रण प्रयोगशालाएं खोली जाएंगी. प्रयोगशाला में उपकरण के लिए अब तक 11 करोड़ की राशि खर्च की जा चुकी है. प्रयोगशाला शुरू होने से प्रदेश में औषधियों के सैम्पलों की जांच निर्धारित समय सीमा में हो सकेगी और नकली दवाओं पर पाबंदी लग सकेगी. 

VIDEO- Nirbhaya Case: दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी, 3 मार्च की सुबह 6 बजे होगी फांसी 

तीन शहरों को जल्द ही औषधीय नियंत्रण लैब की सौगात मिल जाएगी:
प्रदेश के तीन शहरों को जल्द ही औषधीय नियंत्रण लैब की सौगात मिल जाएगी. वर्ष 2012-13 में सरकार ने तीन प्रयोगशालाओं को बनाने की घोषणा की थी. पिछले पांच साल में इनकी बिल्डिंग बनकर तैयार हुई और अब सरकार ने  उपकरणों के लिए 14 करोड़ रुपए वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी है. चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने बताया कि इसमें 62 प्रकार के उपकरण खरीदे जाने हैं. उसमें से 15 अत्याधुनिक उपकरण राज्य सरकार ने खरीद लिए हैं, इन पर 11 करोड़ की राशि खर्च की जा चुकी है. 

13 प्रकरणों में एफआईआर दर्ज करवाई गई:
विधानसभा में विधायक अनिता भदेल के प्रश्न के जवाब में रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में पिछले दो वर्षों में 8379 नमूने लिए गए, जिनमें से 161 नमूने तय मानकों से भिन्न यानी अमानक पाए गए. इनमें से 13 प्रकरणों में एफआईआर दर्ज करवाई गई.  ये मिसब्रांड, नकली और मिलावट के प्रकरण थे. 14 प्रकरणों में संबंधित औषधीय निर्माता के लाइसेंस या प्रोडक्ट को निलंबित किया गया है. शेष प्रकरणों पर कार्यवाही प्रक्रियाधीन है. इनमें से 34 प्रकरणों में निर्माता या फर्म राजस्थान की हैं और 127 प्रकरणों में राजस्थान के बाहर की फर्म हैं. जिन 13 प्रकरणों में एफआईआर हुई है उनमें से 12 राजस्थान के हैं. प्रदेश में वर्तमान में एक औषधि परीक्षण प्रयोगशाला, जयपुर में संचालित है. वर्तमान में उक्त औषधि परीक्षण प्रयोगशाला, जयपुर में 7461 सैंपल जांच के लिए लम्बित हैं. 

VIDEO: विधानसभा अध्यक्ष ने फिर अपनाया कड़ा रुख, अधिकारी को सस्पेंड करने का दिया निर्देश 

हमें शिकायत मिलते ही विभाग द्वारा सैंपलिंग की जाती है:
इस मुद्दे पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने नकली दवा बेचने वालों पर कार्रवाई की मांग की. चिकित्सा मंत्री ने कहा कि कोई भी दवा बाजार में आती है तो लाइसेंस दवा निर्माता को तब दिया जाता है, जब उसके पास परीक्षण की पूरी व्यवस्था हो. यदि उसके पास परीक्षण की सुविधा नहीं है तो व भारत सरकार की अधिकृत प्रयोगशालाओं से जांच करवाएगा उसके बाद ही दवा बाजार में आ सकती है. उन्होंने बताया कि हमें शिकायत मिलते ही विभाग द्वारा सैंपलिंग की जाती है. यह विभाग की सतत प्रक्रिया है. उन्होंने कहा कि आवश्यकता के अनुसार राज्य सरकार केंद्र सरकार को नियमों में परिवर्तन के लिए लिखेगा. 

और पढ़ें

Most Related Stories

मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय श्रम राज्यमंत्री को लिखा पत्र, अलवर में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज मामले में लिखा पत्र

मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय श्रम राज्यमंत्री को लिखा पत्र, अलवर में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज मामले में लिखा पत्र

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र सरकार से अलवर में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) द्वारा निर्मित अस्पताल भवन में 500 बेड की सुविधा वाला अस्पताल संचालित करने की मांग की है. गहलोत ने इसके लिए केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री संतोष कुमार गंगवार को पत्र लिखा है. मुख्यमंत्री ने लिखा कि लगभग 800-900 करोड़ रूपए की लागत से तैयार यह भवन मेडिकल काॅलेज एवं अस्पताल के लिए निर्मित किया गया है, लेकिन वर्तमान में यहां केवल 50 बेड का छोटा अस्पताल ही संचालित किया जा रहा है.

भरतपुर में बढ़ता कोरोना मरीजों का ग्राफ, 40 नए पॉजिटिव आये सामने, जिले में शनिवार और रविवार रहेगा लॉकडाउन

500 बेड की सुविधा वाला अस्पताल संचालित करने की मांग:
इससे आमजन को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने में अस्पताल भवन का समुचित उपयोग नहीं हो रहा है. 500 बेड का अस्पताल संचालित होने से अलवर एवं आस-पास के क्षेत्रों के लगभग 3,37,000 बीमितों और उनके 9,67,000 परिवारजनों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं प्रदान की जा सकेंगी. साथ ही यहां मेडिकल काॅलेज के संचालन से आगामी वर्षों में राज्य में चिकित्सकों की कमी को भी दूर करने में मदद मिलेगी.

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर ने कई नेता, पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं से की मुलाकात, संगठनात्मक मुद्दों पर हुई बातचीत

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर ने कई नेता, पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं से की मुलाकात, संगठनात्मक मुद्दों पर हुई बातचीत

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर ने कई नेता, पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं से की मुलाकात, संगठनात्मक मुद्दों पर हुई बातचीत

जयपुर: भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर शुक्रवार को उनके जयपुर स्थित निवास पर भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश पदाधिकारियों ने मुलाकात की, तो प्रदेशभर के कई कार्यकर्ताओं ने भी माथुर से मिलकर अपने अपने क्षेत्र का संगठनात्मक फीडबैक भी दिया. माथुर से मिलने वालों में भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश उपाध्यक्ष अजय पाल सिंह माधुराम चौधरी प्रदेश मंत्री महेंद्र यादव अशोक सैनी मौजूद रहे.

आयुर्वेद चिकित्सकों के 450 रिक्त पदों पर जल्द होगी भर्ती, राज्य सरकार ने दी मंजूरी

बीजेपी पदाधिकारियों से मिले माथुर:
सभी को ओम प्रकाश माथुर ने मिठाई खिलाकर उनकी नई जिम्मेदारी के लिए बधाई और शुभकामनाएं जी एक-एक करके यह तमाम पदाधिकारी ओम प्रकाश माथुर से मिलने पहुंचे थे इस दौरान माथुर ने सभी से संगठनात्मक फीडबैक भी लिया. दूसरी तरफ ओम प्रकाश माथुर से पूर्व मंत्री डॉ रोहिताश्व शर्मा मुलाकात की तो पूर्व विधायक मानसिंह किनसरिया भी ओम प्रकाश माथुर से मिले.

कल दिल्ली जाने का प्रस्तावित कार्यक्रम:
भाजपा नेता मुकेश पारीक और सोहनलाल तांबी भी माथुर से मिले. आपको बता दें कि माथुर पिछले दिनों अपने क्षेत्र फालना में थे जहां पर अपने पारिवारिक मित्र पुष्प जैन के पुत्र के निधन के बाद उनके शोक संतप्त परिवार से मुलाकात की थी और परिवार को ढांढस बंधाया था. उसके बाद माथुर कल जयपुर लौटे और ने दिन भर माथुर के आवास पर मिलने वालों का जमावड़ा रहा कल दिल्ली जाने का प्रस्तावित कार्यक्रम है.

भरतपुर में बढ़ता कोरोना मरीजों का ग्राफ, 40 नए पॉजिटिव आये सामने, जिले में शनिवार और रविवार रहेगा लॉकडाउन

आयुर्वेद चिकित्सकों के 450 रिक्त पदों पर जल्द होगी भर्ती, राज्य सरकार ने दी मंजूरी

आयुर्वेद चिकित्सकों के 450 रिक्त पदों पर जल्द होगी भर्ती, राज्य सरकार ने दी मंजूरी

जयपुर: आयुर्वेद विभाग में लम्बे समय से नौकरी का ख्वाब देख रहे चिकित्सकों के लिए बड़ी राहत की खबर है.चिकित्सा विभाग ने जल्द ही आयुर्वेद चिकित्साधिकारियों के 450 रिक्त पदों पर भर्ती की जायेगी.भर्ती पदों को गहलोत सरकार ने मंजूरी दे दी है.आयुर्वेद मंत्री डॉ रघु शर्मा ने बताया कि सरकार बेरोजगारों के प्रति गंभीर है.आयुर्वेद विभाग में 450 चिकित्सा अधिकारियों के पद खाली चल रहे थे, जिन्हें भरने के लिए मंजूरी दे दी गई है.

नई शिक्षा नीति पर बोले मंत्री सुभाष गर्ग, कहा,केन्द्र सरकार ने नई पॉलिसी में कई असमंजस को दूर नहीं किया

18 लाख 75 हजार रुपये की जारी की गई वित्तीय स्वीकृत:
इसके साथ ही चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने ये भी बताया कि 125 आयुष औषधालयों में बिजली एवं पानी के कनेक्शन की दिक्कत भी दूर होगी.इन सभी औषधालयों में कनेक्शन के लिए 18 लाख 75 हजार रुपये की राशि स्वीकृत की गयी है. 

सामूहिक दुष्कर्म मामले में दोषियों को 20-20 साल का कठोर कारावास, अजमेर न्यायालय ने सुनाया फैसला 

नई शिक्षा नीति पर बोले मंत्री सुभाष गर्ग, कहा,केन्द्र सरकार ने नई पॉलिसी में कई असमंजस को दूर नहीं किया

नई शिक्षा नीति पर बोले मंत्री सुभाष गर्ग, कहा,केन्द्र सरकार ने नई पॉलिसी में कई असमंजस को दूर नहीं किया

जयपुर: नई शिक्षा नीति के में उच्च शिक्षा में सुधारों पर देशभर में चर्चा की जा रही हैं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल तक ने नई शिक्षा नीति से बड़े बदलाव और खूबियां बताई हैं. लेकिन प्रदेश में तकनीकी शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग ने नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन को लेकर चिंता जताई हैं.

शिक्षा में संसाधनों के अभाव पर केन्द्र सरकार का ध्यान क्यों नहीं?:
बतौर शिक्षाविद भी डॉक्टर गर्ग ने कई सवाल उठाते हुए कहा है कि नई शिक्षा नीति में उच्च शैक्षणिक संस्थाओं को मल्टी फैकल्टी के तौर पर डवलप करने की बात कही गई हैं. जो संसाधनों के अभाव में कैसे हो सकेगा. इसे लेकर कोई स्पष्ट नहीं हैं. 

केरल में लैंड स्लाइड से 12 लोगों की मौत, 80 लोगों के फंसे होने की आशंका! 

GDP का 6 फीसदी खर्च शिक्षा पर क्यों नहीं?:
देश में आईआईटी और आईआईएम अपनी अलग पहचान रखते है यदि उनमें इसे लागू करेंगे तो किस तरह का असर पड़ेगा. जब प्राथमिक शिक्षा में तीन तरह की भाषाओं की बात कही है तो फिर उच्च शिक्षा के लिए भाषा क्यों स्पष्ट नहीं की गई हैं. साथ ही जीडीपी का कितना प्रतिशत एजुकेशन पर खर्च किया जाएगा केन्द्र सरकार ने इसे लेकर भी कोई साफ जिक्र नहीं किया हैं. जबकि जरूरत जीडीपी के छह फीसदी खर्च की हैं.

मनी लॉन्ड्रिंग केस में ED की रिया चक्रवर्ती से पूछताछ जारी, सुशांत के खाते से 15 करोड़ रुपए निकालने का है आरोप

बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी की राशि को 50 प्रतिशत कम करने के प्रस्ताव को मंजूरी

बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी की राशि को 50 प्रतिशत कम करने के प्रस्ताव को मंजूरी

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वित्तीय वर्ष 2020-21 की शेष अवधि के लिए माल, सेवाओं एवं संकर्मों के उपापन पर राजस्थान लोक उपापन में पारदर्शिता नियमों के तहत बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी की राशि को 50 प्रतिशत कम करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य! 

निविदाओं में आने वाली परेशानी भी दूर होगी: 
सीएम गहलोत के इस निर्णय से सार्वजनिक निर्माण की परियोजनाओं को समय पर पूरा करने में मदद मिलेगी. इसके साथ ही इन परियोजनाओं की निविदाओं में आने वाली परेशानी भी दूर होगी. कोरोना के चलते संवेदकों को कम बिड सिक्योरिटी एवं परफॉमेर्ंस सिक्योरिटी होने से कम कार्यशील पूंजी की आवश्यकता होगी और बड़ी राहत मिलेगी. 

नई शिक्षा नीति में किसी से भेदभाव नहीं, ये नीति नए भारत की नींव रखेगी- पीएम मोदी 

अंकित प्रावधान राशि को 50 प्रतिशत कम करने का दिया था सुझाव:
उल्लेखनीय है कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित सार्वजनिक निर्माण परियोजनाओं की टास्क फोर्स ने माल, सेवाओं एवं संकर्मों के उपापन पर बिड सिक्योरिटी एवं परफॉर्मेंस सिक्योरिटी के लिए राजस्थान लोक उपापन के पारदर्शिता नियमों में अंकित प्रावधान राशि को 50 प्रतिशत कम करने का सुझाव दिया था. 

Rajasthan Political Crisis: भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी की तैयारियां!

Rajasthan Political Crisis: भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी की तैयारियां!

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच भाजपा विधायकों की भी बाड़ेबंदी की तैयारियां चल रही है. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने 1st इंडिया से खास बातचीत करते हुए कहा कि अभी हमे आवश्यकता नहीं है लेकिन हमें पता लगा है कि हमारे MLA से सम्पर्क करने की कोशिश की जा रही है. ऐसे में हम भी अपने विधायकों को एकत्रित करके प्रशिक्षण देंगे. हमने अपनी तैयारियां कर रखी है.

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य!  

जिस दिन से जैसलमेर शिफ्ट हुए बहुमत खो दिया सरकार ने: 
उन्होंने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जिस दिन से जैसलमेर में शिफ्ट हुए सरकार ने बहुमत खो दिया. सरकार निश्चित रूप से अल्पमत में आ गई है. पायलट के कुछ लोग जैसलमेर में भी है. ऐसे में इस बार सत्र निर्णायक व हंगामेदार होगा. हम जनता के विषय सदन में लाने की कोशिश करेंगे. इस समय प्रदेश में कानून व्यवस्था व कोरोना को देखने वाला कोई नहीं है. कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति कैदी की तरह जिंदगी जी रहे हैं. बिजली के बिल ने करंट मारा है घर का बिल भी आपके सामने हैं. ऐसे में हमारा काम जब शुरू होगा जब हाउस जुड़ेगा. 

नई शिक्षा नीति में किसी से भेदभाव नहीं, ये नीति नए भारत की नींव रखेगी- पीएम मोदी 

हमें अभी पायलट ग्रुप की गणित देखनी है:
नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि हमें अभी पायलट ग्रुप की गणित देखनी है. इसके साथ ही इस दौरान उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव लेकर आने की तैयारियों के भी संकेत दिए. कटारिया ने कहा कि सही रिपोर्ट इकट्ठा करें तो उनके विधायक भगोड़े हैं. वहीं वसुंधरा राजे पर बोलते हुए कहा कि राजे हमारी लीडर और 2 बार की मुख्यमंत्री है. केंद्र क्या सोचता है उनका केंद्र से मिलना भी उसी दृष्टि से रहा है. अध्यक्ष पूनिया ने भी मुलाकात की है तो उसी दृष्टि से की है. हम जो एक्शन प्लान करेंगे तो उन्हें साथ लेकर ही फैसला करेंगे. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य!

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच शुक्रवार को जैसलमेर के सूर्यगढ़ होटल में ही बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए छह विधायकों को कोर्ट के नोटिस दिए गए. जैसलमेर डीजे के रीडर ने होटल में नोटिस तामील करवाए. नोटिस तामील होने से राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य का माहौल है. पहले कांग्रेस द्वारा बसपा से शामिल हुए विधायकों को कहीं और शफ्ट किए जाने की खबर थी ताकि नोटिस तामील न होने पर कोर्ट की कार्यवाही आगे न बढ़ सके. लेकिन गहलोत कैम्प ने आज सभी को एक "सरप्राइज" दिया है और न्यायिक जगत में गहलोत के रणनीतिकारों की प्रतिष्ठा बढ़ी है. 

Coronavirus in India: 24 घंटे में रिकॉर्ड 62 हजार से ज्यादा नए मामले, संक्रमितों की संख्या 20 लाख के पार 

सभी विधायक एक ही जगह मिले टीम को: 
नोटिस मिलने के बाद बसपा विधायकों ने कहा कि हमने सहर्ष नोटिस स्वीकार किये हैं. उन्होंने कहा कि हमने टीम से एक ही नोटिस लिए हैं. सभी विधायक टीम को एक जगह ही मिले. लेकिन अब सभी नोटिस महेश जोशी को सौंपने की खबर है. सभी विधायकों ने जोशी के हाथ नोटिस दिए हैं. 6 विधायकों को नोटिस मिलने के दौरान एसपी भी मौके पर मौजूद रहे. वहीं कोर्ट का नोटिस तामील कराने के मामले पर होटल में हलचल बढ़ गई है. वहीं सीएम गहलोत भी आज शाम जैसलमेर जाएंगे. 

Rajasthan Weather Updates: 13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश का अलर्ट, आज कई हिस्सों में फुहारों का दौर जारी 

मामले को एक बार फिर से एकलपीठ को भेज दिया:
इससे पहले गुरुवार को राजस्थान हाईकोर्ट ने बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के मामले को एक बार फिर से एकलपीठ को भेज दिया. मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खण्डपीठ ने बसपा और भाजपा विधायक मदन दिलावर की अपील पर सुनवाई करते हुए 8 अगस्त तक बसपा के सभी 6 विधायकों को नोटिस सर्व कराने की व्यवस्था की है. लेकिन साथ ही एकलपीठ को निर्देश दिये है कि वो 11 अगस्त का सुनवाई करते हुए उसी दिन बसपा और मदन दिलावर की याचिकाओं पर फैसला भी दे. खण्डपीठ के इस फैसले के बाद फिलहाल तो मुख्यमंत्री खेमे को राहत मिल गई है लेकिन अब 11 अगस्त को एकलपीठ का फैसला ही सरकार का भाग्य तय कर सकता है. बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय को लेकर स्टे एप्लीकेशन पर एकलपीठ उसी दिन फैसला सुनाएगी. 

Rajasthan Weather Updates: 13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश का अलर्ट, आज कई हिस्सों में फुहारों का दौर जारी

Rajasthan Weather Updates: 13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश का अलर्ट, आज कई हिस्सों में फुहारों का दौर जारी

जयपुर: लंबे समय के बाद एक बार फिर बीते चार-पांच दिन से बारिश का दौर जारी है. आज भी प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश होने की संभावना है. हालांकि, मौसम विभाग के अनुसार आज किसी भी क्षेत्र में भारी बारिश होने की संभावना नहीं है, लेकिन प्रदेश के कई इलाकों में हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना है. राजधानी जयपुर में गुरुवार देर रात से ही रिमझिम बारिश का दौर जारी है. इससे मौसम में ठंडक बनी हुई है. 

Horoscope Today, 7 August 2020: आज खुलेगा इन पांच राशि वालों के किस्मत का ताला, रखें इन बातों का ध्यान 

अति कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ: 
मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक वर्तमान में बंगाल की खाड़ी, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के आसपास एक अति कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. ऐसे में मानसून के ओडिशा, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश होते हुए दक्षिण गुजरात की तरफ बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. इसी के चलते प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में भी मानसून की सक्रियता दिखाई दे रही है. ऐसे में आज पूर्वी राजस्थान के कई जिलों में अच्छी बारिश होने की संभावना है. 

आज प्रदेश के 5 संभागों में बारिश हो सकती है:
मौसम विभाग के मुताबिक आज प्रदेश के 5 संभागों में बारिश हो सकती है. इनमें उदयपुर, भरतपुर, जयपुर, अजमेर और कोटा संभाग शामिल हैं. इन संभागों के कई हिस्सों में बारिश होने के आसार है. वहीं पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर और बीकानेर संभाग को बारिश का इंतजार रह सकता है. 

रीको में सीधी भर्ती के करीब 238 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश जारी- उद्योग मंत्री  

13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश की संभावना: 
मौसम विभाग की माने तो मानसून की सक्रियता के चलते आगामी 13 अगस्त तक प्रदेश में बारिश का दौर जारी रह सकता है. विशेष तौर पर पूर्वी राजस्थान के अधिकांश हिस्सों में अच्छी बारिश की संभावना है. इसके साथ ही 9 और 10 अगस्त को कुछ इलाकों में भारी बारिश होने की भी संभावना है. 
 

Open Covid-19