नोएडा (उप्र) डॉक्टर ही कर रहा था रेमडेसिवीर इंजेक्शन ब्लैक, तीन लोग गिरफ्तार

डॉक्टर ही कर रहा था रेमडेसिवीर इंजेक्शन ब्लैक, तीन लोग गिरफ्तार

डॉक्टर ही कर रहा था रेमडेसिवीर इंजेक्शन ब्लैक, तीन लोग गिरफ्तार

नोएडा (उप्र): पूरे देश में इस समय कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के कारण हालत भयावह बने हुए है और भगवार कहे जाने वाले डॉक्टर लोगों की जान बचाने के लिए दिन-रात बिना रूके हुए लगे हुए हैं, इनकी इन सेवा के लिए ही इन्हे कोरोना यौद्धा का नाम दिया गया है. वहीं दूसरी और कुछ ऐसे भी लोग है जो जंद रुपयों के खातिर न सिर्फ लोगों की जान के साथ खेल रहे हैं बल्की मौटे फायदे के लिए जीवन रक्षक दवाओं को ब्लैक करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं. ऐसा ही मामला सामने आया है उत्तर प्रदेश के नोएडा से, जहां एक डॉक्टर सहित तीन लोगों को जीवन रक्षक दवा को ब्लैक करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

गिरफ्तार लोगों से 3 इंजेक्शन बरामदः
जानकारी के अनुसार कोविड-19 के अहम दवाओं में शामिल रेमडेसिवीर इंजेक्शन ब्लैक कर रहे एक डॉक्टर समेत तीन लोगों को थाना सेक्टर 24 पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर उनके पास से 3 इंजेक्शन बरामद किए हैं. थाना सेक्टर 24 के थानाध्यक्ष सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि एक सूचना के आधार पर थाना पुलिस ने शुक्रवार को सुमित्रा हॉस्पिटल के पास से हमजा निवासी साहिबाबाद गाजियाबाद, मुजीब उर रहमान निवासी साहिबाबाद गाजियाबाद तथा डॉक्टर नुसरत इमाम निवासी मिलन विहार अपार्टमेंट एक्सटेंशन पटपड़गंज दिल्ली को गिरफ्तार किया है.

सोशल मीडिया के माध्यम पीड़ित लोगों से करते थे संपर्कः
थाना सेक्टर 24 के थानाध्यक्ष सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि डॉक्टर नुसरत के पास से पुलिस ने एक ब्रिजा कार में रखी रेमडेसिवीर 100 एमजी के 3 इंजेक्शन बरामद किया है. उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि ये लोग कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करते थे, तथा उन्हें ऊंचे दाम पर रेमडीसिवर इंजेक्शन बेचते थे.

गैंग में कुछ और लोगों की तलाश में जुटी पुलिसः
सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि इन लोगों ने पूछताछ के दौरान अपने गैंग में कुछ और लोगों के शामिल होने का खुलासा किया है. पुलिस उनकी जल्द ही गिरफ्तारी करेगी. उन्होंने बताया कि पुलिस को पूछताछ के दौरान पता चला है कि कुछ अस्पतालों के कर्मचारी व डॉक्टर-मरीजों के परिजनों से संपर्क करके, गिरफ्तार आरोपियों से रेमडेसिवीर इंजेक्शन मंगवा रहे थे. पुलिस उन डॉक्टर व कर्मचारियों को भी चिह्नित कर रही है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें