कासगंज तिरंगा रैली हिंसाकांड के बाद...अब नहीं मिलेगी अनुमति

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/28 06:59

उत्तरप्रदेश। 26 जनवरी कासगंज तिरंगा रैली हिंसाकांड के बाद एक बार फिर जिला प्रशासन सहम गया है। जिलाप्रशासन ने शहर में तिरंगा रैली निकालने पर प्रतिबंद्ध लगा दिया है, तो वहीं चंदन के भाई ने प्रधानमंत्री को पत्र भेजकर कासगंज में प्रतिबंद्ध के बावजूद भी तिरंगा रैली निकालने की चेतावनी दी है। जिससे  एक बार फिर कासगंज में तिरंगा रैली का मामला गरमा गया है।

दरअसल, आज कासगंज में पहुंचे अलीगढ परिक्षेत्र के कमिश्नर अजय दीप सिंह ने मीडिया के सवाल के जबाव पर कहा कि 26 जनवरी राष्ट्रीय पर्व है, उसी तरह से मनाया जायेगा, 15 अगस्त को भी इसी तरह की कोशिश की गई थीं, लेकिन प्रशासन ने नहीं निकलने दी। उन्होंने साफ तौर पर कहाकि जो पंरपरा नहीं है, ऐसे कार्यक्रमो की कासगंज जनपद में अनुमति नहीं दी जायेगी।

आपको बतादें कि 26 जनवरी को तिरंगा रैली के दौरान दो समुदाय के बीच हिंसक झड़प हुई थी। जिसमें चंदन गुप्ता नाम के व्यक्ति की मौत हो गई थीं। उसके बाद पूरा कासगंज एक सप्ताह तक आग की तरह सुलगता रहा था। इस मामले में शहीद चंदन गुप्ता के भाई विवेक गुप्ता ने मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री के अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र भेजकर मांग की है कि कासगंज में तिरंगा रैली निकाली जाये। सरकार ने उनके भाई के लिए चंदन चौक बनवाने को आश्वासन दिया था, लेकिन सरकार ने कुछ नहीं किया, चाहे तिरंगा की अनुमति मिले या नहीं, मै अकेला ही तिरंगा रैली निकालूंगा।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in