Live News »

VIDEO: आज संसद में राजस्थान खाली हाथ, ना लोकसभा में कोई नुमाइंदा ना ही प्रदेश में

VIDEO: आज संसद में राजस्थान खाली हाथ, ना लोकसभा में कोई नुमाइंदा ना ही प्रदेश में

जयपुर: संसद में राजस्थान अब खाली हाथ हो गया है. ना ऊपरी सदन राज्यसभा में राजस्थान का प्रतिनिधित्व है और ना ही निचले सदन लोकसभा में. 72 सालों के संसदीय इतिहास में यह पहला मौका है, जब लगातार दो लोकसभा चुनावों में देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस का कोई नुमाइंदा राजस्थान की आवाज उठाने के लिये लोकसभा और राज्यसभा में मौजूद नहीं रह पायेगा. इससे पहले भी कांग्रेस 1977 में बुरे दौर से गुजरी थी, लेकिन उस कालखंड में भी नाथूराम मिर्धा ने सांसद बनकर लाज बचाई थी. इसके बाद 1989 में कांग्रेस के खाते में एक भी सीट नहीं आई. 1984 में 25 की 25 सीटें जीतने वाली कांग्रेस आज खाली हाथ है. खास रिपोर्ट:

साल 2014 का चुनाव जब गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को बीजेपी ने पीएम प्रोजेक्ट कर दिया था. कांग्रेस को बुरे हालात की उम्मीद नहींं थी इसके बावजूद 25 सीटें गंवा दी. मोदी लहर ने कांग्रेस को चारों खाने चित्त कर दिया था. अब फिर इतिहास दोहराया गया. मौजूदा लोकसभा चुनावों में भी 25सीटों पर कमल खिल गया. देश के संसदीय इतिहास में खासतौर पर राजस्थान में ऐसा पहली बार हुआ है, जब लगातार दो लोकसभा चुनावों में कांग्रेस का एक भी सांसद चुनाव नहीं जीत पाया. यहां तक कि राज्यसभा में कांग्रेस का एक भी सांसद राजस्थान से नहीं है. 1885 में स्थापित कांग्रेस पार्टी को बने हुये 134 साल हो चुके है. यह दुनिया के सबसे पुराने सियासी दलों में शुमार है. इसके बावजूद यह पहला अवसर है, जब संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस का एक भी नुमाइंदे की मौजूदगी राजस्थान से नहीं है. आज राजस्थान का संसद में शून्य प्रतिनिधित्व है. 

राजस्थान से जुड़ा लोकसभा का चुनावी इतिहास: 

1952
—कुल सीट 20
—कांग्रेस पार्टी के 9सांसद जीते
—राम राज्य पार्टी के 3सांसद जीते
—भारतीय जनसंघ का 1 सांसद जीता
—के एल पी का 1सांसद जीता
—6 निर्दलीय सांसदों ने जीत दर्ज की

1957
—कुल सीट -22
—कांग्रेस पार्टी के 19सांसद जीते
—मत मिले 24,94,094
—मत प्रतिशत रहा 53.65
—विपक्षी दल जनसंघ का कोई भी सांसद नहीं जीता
—निर्दलीय 3सांसद जीते

1962
—कुल सीट 22
—कांग्रेस के 14सांसद जीते
—स्वतंत्र पार्टी के 3 सांसद जीते
—जनसंघ का 1 सांसद जीता
—राम राज्य पार्टी का 1 सांसद जीता
—स्वतंत्र पार्टी-3
—जनसंघ का 1सांसद जीता

1967
—कुल सीट 23
—कांग्रेस के कुल सांसद जीते 10
—स्वतंत्र पार्टी-8,जनसंघ-3
—2निर्दलीय सांसद बने
—जनसंघ कुल सांसद जीते 3

1971
—कुल सीट 23
—कुल सांसद जीते 14 जीते
—स्वतंत्र पार्टी के 8सांसद 
—निर्दलीय सांसद जीते-2
—जनसंघ से जीते 4सांसद

1977
—कुल सीट 25
—कांग्रेस के एक मात्र सांसद ने जीत दर्ज की
—यह एकमात्र सांसद थे नागौर से नाथूराम मिर्धा
—इमरजेंसी के कारण कांग्रेस को करारी हार मिली थी
—जनता पार्टी  के 24सांसदो ने जीत की पहली बार विपक्ष ने रिकार्ड बनाया
—पहली बार जनसंघ की अगुवाई में 10 से अधिक सांसद जीते

1980
—1980 में भाजपा अस्तित्व में आई 
—इस चुनाव में कांग्रेस के 18 सांसद जीते
—जनता पार्टी  के 4 सांसदों ने जीत दर्ज की
—जनता पार्टी (एस) के 2 सांसद जीते
—कांग्रेस (यू) का एक सांसद जीता

1984
—कांग्रेस के पहली बार 25 सांसद जीते
—इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए थे चुनाव
—प्रचंड कांग्रेस लहर ने विपक्षी दलों को धो दिया
—भाजपा को एक भी सीट नहीं मिली
—पहली बार भाजपा-जनता पार्टी रहे खाली हाथ

1989
—यह चुनाव कांग्रेस के लिये निराशाजनक रहे
—कांग्रेस का एक भी सांसद चुनाव नहीं जीत सका
—ऐसा आजाद भारत के इतिहास में पहली बार हुआ जब राजस्थान रहा कांग्रेस के लिये खाली हाथ
—भाजपा के 13सांसद चुनाव जीते
—जनता दल के 11 सांसदो ने जीत दर्ज की
—कम्युनिस्ट पार्टी का 1 सांसद जीता

1991
—कांग्रेस के 13सांसद चुनाव जीते
—मत मिले 50,27,446 मत प्रतिशत-40.88
—भाजपा के 12सांसद चुनाव जीते

1996
—कांग्रेस के 12सांसद चुनाव जीते
—कांग्रेस को मत मिले 52,53,531 मत प्रतिशत-40.51
—भाजपा के 12सांसद जीते
—एक सांसद जीता कांग्रेस तिवारी से

1998
—कांग्रेस के 18सांसदो ने जीत दर्ज की
—कुल मत कांग्रेस को मिले 78,46,072 मत प्रतिशत-44.45
—भाजपा के 5सांसदो ने जीत दर्ज की
—AIIC(S) से एक सांसद ने जीत दर्ज की

1999
—कांग्रेस के 9सांसद चुनाव जीते
—कांग्रेस को मत मिले 74,75,888 मत प्रतिशत-45.12
—भाजपा के 16सांसदो ने जीत दर्ज की

2004
—कांग्रेस के 4सांसद चुनाव जीते
—71,79,939 कुल मत कांग्रेस को मिले
—कांग्रेस का  मत प्रतिशत रहा -41.43
—भाजपा के 21सांसद चुनाव जीते

2009
—कांग्रेस के 20 सांसद चुनाव जीते
—भाजपा के 4 सांसदो ने जीत दर्ज की
—डॉ किरोड़ी लाल मीना बतौर निर्दलीय चुनाव जीते सांसद का

2014
—कांग्रेस का निराशाजनक प्रदर्शन लहर
—मोदी लहर के कारण कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली
—भाजपा के 25 में से 25 सांसद चुनाव जीते

2019
—फिर चली मोदी लहर
—कांग्रेस हाथ नहीं आई 25 में से एक भी सीट
—कांग्रेस को निराशाजनक प्रदर्शन के दौर से गुजरना पडा

कांग्रेस पार्टी को 2014 औऱ 2019 में करारी पराजय के दौर को देखना पड़ा. आपातकाल औऱ राममंदिर मूवमेंट ही ऐसे रहे जब कांग्रेस ने निराशाजनक दौर देखे थे. आजादी के बाद अधिकांश चुनावों में अवाम के बीच हाथ का निशान ही पर्याय बनकर नजर आता रहा है. नरेन्द्र मोदी ही ऐसे नेता के तौर पर उभर कर सामने आये है. जिनके सामने दुनिया की सबसे पुरानी पार्टी बौनी नजर आ रही है. एक व्यक्ति ने पूरी पार्टी को चुनावों में शिकस्त देकर इतिहास रच दिया. इससे उबरने में आत्मचिंतन और मंथन के दौर से गुजरना होगा. 

... संवाददाता नरेश शर्मा के साथ योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें

Most Related Stories

सोशल मीडिया पर कांग्रेस का कैम्पेन, सचिन पायलट, अविनाश पांडे समेत प्रमुख नेता हुए शामिल

सोशल मीडिया पर कांग्रेस का कैम्पेन, सचिन पायलट, अविनाश पांडे समेत प्रमुख नेता हुए शामिल

जयपुर: कांग्रेस ने गुरुवार से देशभर में सोशल मीडिया कैम्पेन चलाया. देशभर के कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं की इसमें भागीदारी रही. राजस्थान से भी बड़ी तादाद में कांग्रेस नेता कैम्पेन से जुड़े. प्रवासी श्रमिकों ,कामगार ,मजदूर,मध्यम वर्ग,छोटे व्यापारियों की मांग केन्द्र सरकार के सामने रखी. 

जेब तक पहुंचे सीधा पैसा: 
डिप्टी सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने फेसबुक पर कहा कि जरुरत है प्रवासी श्रमिकों की पीड़ा को दूर करना,उन गरीब कामगारों की आवाज बुलंद करना,जिन्होंने लॉकडाउन में दंश झेला,पायलट ने फेसबुक पर कहा कि कांग्रेस पार्टी चाहती है ऐसे लोगों की मदद की जाए, जो इनकम टैक्स तक नहीं दे पा रहे,उनकी जेब तक सीधा पैसा पहुंचाया जाये. 

मुंबई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंची चूरू, 120 प्रवासियों को चूरू लेकर पहुंची ट्रेन

कांग्रेस की पहल का स्वागत:
पायलट ने सोशल मीडिया अभियान के जरिए केन्द्र सरकार से यहीं मांग की. पायलट ने कहा कि मनरेगा में राजस्थान में अच्छा काम किया है. कांग्रेस राज्य प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार से हमारी मांग है कि मध्यम वर्ग ,छोटे उधोग धंधो की मदद की जाये,मनरेगा में रोजगार 200दिन किया जाये,प्रवासी श्रमिकों को नि शुल्क सेवा से घर पहुंचाया जाए. चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कैम्पेन में भाग लिया और कांग्रेस की पहल का स्वागत किया.

कोरोना का खौफ...! वक्त पर मिल जाती बुजुर्ग इंसान को मदद, तो बच सकती थी जान, 3 घंटे तक बाजार में रहा बेहोश 

'अंतर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता' दिवस: महिलाएं स्वच्छ व स्वस्थ रहकर ही अपने परिवार को स्वस्थ रख पाएंगी- ममता भूपेश

'अंतर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता' दिवस: महिलाएं स्वच्छ व स्वस्थ रहकर ही अपने परिवार को स्वस्थ रख पाएंगी- ममता भूपेश

जयपुर: महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ममता भूपेश ने कहा कि अपने परिवार को स्वस्थ रखने के लिए महिलाओं को पहले स्वयं के स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा. उन्होंने कहा कि महिलाएं स्वच्छ व स्वस्थ रह कर ही अपने परिवार को स्वस्थ रख सकती है. 

राज्य में एनपीआर रजिस्टर बनाने के सॉफटवेयर के नाम पर घोटाला, हाईकोर्ट ने 6 अधिकारियों को जारी किया नोटिस 

भूपेश गुरुवार को अन्तर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस पर अपने निवास पर महिला अधिकारिता विभाग द्वारा सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए आयोजित राष्ट्रीय कार्यक्रम में बोल रही थी. उन्होंने बताया कि 28 मई जो कि 28 दिन के अंतराल पर 5 दिवस के माहवारी दिवस के प्रतीक के रूप में महिलाओं के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए जागरूकता हेतु आयोजित किया जाता है. 

महिलाएं अपने स्वास्थ्य को नजरअंदाज नहीं करें:
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते महिलाएं अपने स्वास्थ्य को नजरअंदाज नहीं करें. आज हमारा प्रदेश, देश एवं संपूर्ण विश्व जिन विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है उनमें महिलाओं को अपने घर एवं परिवार जनों की देखभाल पहले की तुलना में अधिक सजग होकर करने की जरूरत है. ऎसी स्थिति में महिलाएं अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखेंगी तभी अपने परिवार को भी स्वस्थ रख पाऎंगी. इसके लिए जरूरी है कि महिलाएं अपने 5 दिनों में स्वच्छता विधियों एवं साधनों का प्रयोग करें. 

आगामी समय में निसंदेह हमारे लिए वित्तीय परिस्थितियां चुनौतीपूर्ण रहेंगी: 
भूपेश ने यह भी कहा कि आगामी समय में निसंदेह हमारे लिए वित्तीय परिस्थितियां चुनौतीपूर्ण रहेंगी इसलिए हमारे प्रदेश की बेटियां और बहनें मजबूती से अपने को संभाले एवं परिवार को स्वस्थ एवं सुरक्षित रखें और एक स्वस्थ भारत का निर्माण करें. 

प्रत्येक 10 महिलाओं को इसके लिए जागरूक करेंगी:
इस अवसर पर उपस्थित पांच महिला लाभार्थियों को जागरूकता संदेश के साथ सेनेटरी नैपकिन तथा साबुन का वितरण किया गया एवं कार्यक्रम समाप्ति के पश्चात जयपुर जिले की विभिन्न जगहों पर लाभार्थी महिलाओं को भी सैनेटरी नैपकिन तथा साबुन का वितरण करवाया गया. कार्यक्रम में उपस्थित सभी महिलाओं ने संकल्प भी लिया कि वे अपने आसपास की प्रत्येक 10 महिलाओं को इसके लिए जागरूक करेंगी. 

सोशल मीडिया की अफवाह पर परिजनों ने जताई कोरोना पॉजिटिव की आंशका, एसडीएम ने कराया दाह संस्कार 

इस मौके पर ये अधिकारी रहे मौजूद:
इस मौके पर विभाग के शासन सचिव के के पाठक, निदेशक समेकित बाल विकास सेवाएं डॉ. प्रतिभा सिंह, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की ब्रांड एंबेसडर अनुपमा सोनी ,महिला सुरक्षा एवं सलाह केंद्र की राज्य स्तरीय स्टीयरिंग कमेटी की सदस्य निशा सिद्धू ,मीनाक्षी माथुर एवं डॉक्टर मेनका व विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे. 

कांग्रेस का बड़ा ऑनलाइन अभियान, सोनिया गांधी ने की हर परिवार को 7500 रुपये प्रति माह देने की मांग

कांग्रेस का बड़ा ऑनलाइन अभियान, सोनिया गांधी ने की हर परिवार को 7500 रुपये प्रति माह देने की मांग

नई दिल्ली: प्रवासी मजदूरों के पलायन के मसले पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. सोनिया ने कहा कि देश की आजादी के बाद पहली बार ऐसा दर्द का मंजर दिखा. मजदूर सैकड़ों-हजारों किमी पैदल चलकर जाने को मजबूर हुए है. लेकिन सरकार ने मजदूरों की सिसकियां नहीं सूनी. इसके साथ ही उन्होंने सरकार से मजदूरों के लिए खजाना खोलने की भी मांग की है. सोनिया गांधी ने हर परिवार को 6 महीने तक 7500 रुपये प्रति माह देने की भी मांग की और उनमें से 10000 फौरन मिले. 

जम्मू-कश्मीर में टला बड़ा आतंकी हमला, पुलवामा की तरह गाड़ी में रखी गई थी IED 

देश गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा:
सोनिया गांधी ने कहा कि पिछले दो महीने से कोरोना वायरस के चलते पूरा देश गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा है. करोड़ों लोगों के रोजगार चले गए, लाखों धंधे बंद हो गए, किसानों को फसल बेचने के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही है. पहले दिन से ही हर कांग्रेसियों, अर्थशास्त्रियों और समाज के हर तबके ने कहा कि यह वक्त आगे बढ़कर घाव पर मरहम लगाने का है.

कांग्रेस ने देशभर में स्पीक अप इंडिया अभियान शुरू किया:
बता दें कि कोरोना लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों से लेकर बेरोजगारी तक के मुद्दे पर कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है. 30 मई को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने वाला है और उससे पहले कांग्रेस ने देशभर में स्पीक अप इंडिया अभियान शुरू किया है. कांग्रेस पार्टी ने फेसबुक, ट्विटर, यू ट्यूब, इंस्टाग्राम जैसे प्रचलित सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एकसाथ 50 लाख कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ऑनलाइन जुटाने का लक्ष्य रखा है. 
 

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी, 50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी,  50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात

नई दिल्ली: कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने की वर्चुअल रणनीति बनाई है.  प्रवासी श्रमिकों, किसान और छोटे दुकानदारों के लिए राहत पैकेज की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी. 

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

दस हजार रुपए की तत्काल मदद पहुंचाने की मांग: 
कांग्रेस लॉकडाउन की मार झेल रहे मजदूरों, किसानों, असंगठित कर्मचारियों और छोटे दुकानदारों के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार को घेरने जा रही है. कांग्रेस आज 11 से 2 बजे के बीच भी लोग इनकम टैक्स की परिधि के बाहर हैं उन सभी परिवारों के खाते में केंद्र सरकार की ओर से दस हजार रुपए की तत्काल मदद पहुंचाने की मांग को लेकर बड़े पैमाने पर ऑनलाइन अभियान चलाएगी. 

सभी कार्यकर्ताओं को इस अभियान में शामिल होना अनिवार्य:
ऑनलाइन अभियान को लेकर कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने चिट्ठी और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए निर्देश दिया किया सभी कार्यकर्ताओं को इस अभियान में शामिल होना अनिवार्य है. पार्टी ने फेसबुक, ट्विटर, यू ट्यूब, इंस्टाग्राम जैसे प्रचलित सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एकसाथ 50 लाख कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ऑनलाइन जुटाने का लक्ष्य रखा है. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

कांग्रेस ने लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया का बखूबी इस्तेमाल किया: 
इससे पहले भी कांग्रेस पार्टी ने लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया का बखूबी इस्तेमाल किया है. दो बार कांग्रेस वर्किंग कमेटी और एक बार विपक्षी दलों की बैठक ऑनलाइन हो चुकी है. राहुल गांधी भी अब तक चार बार ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुके हैं. यूपी के लिए बने ऐसे ही एक वॉट्सऐप ग्रुप की निगरानी प्रियंका गांधी खुद करती हैं.

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

जयपुर: कल कांग्रेस महाअभियान शुरू करने जा रही है. डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि कल 11 से 2 बजे तक कांग्रेस के सभी नेता सोशल मीडिया पर बात करेंगे. पायलट ने बताया कि सोशल मीडिया पर 3 प्रमुख मुद्दें उठाये जाएंगे. पायलट ने कहा कि गरीब के हाथ में पैसा नहीं पहुंचा है, हम हर व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपए डालने की केंद्र सरकार से मांग करेंगे. 

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी 

कांग्रेस कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी:
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि हर उस व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपये डाले जाने की मांग की जाएगी जो इनकम टैक्स के दायरे में नहीं आते. वर्तमान परिस्थिति में संकट के दौर से गुजर रहे लाखों की संख्या में प्रवासी श्रमिकों, किसानों, संगठित क्षेत्रों के कामगारों, एमएसएमई, छोटे कारोबारियों और दैनिक मजदूरों की आवाज को केन्द्र सरकार तक पहुंचाने के लिये कांग्रेस आवाज बुलंद करेगी. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे:
डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने न्याय योजना राजस्थान में लागू करने के सवाल पर कहा कि राजस्थान में पेंशन और अनुग्रह राशि लॉक डाउन 1 के समय से ही लोगों के खातों में डाल दी थी. फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम, यू-ट्यूब तथा अन्य सोश्यल मीडिया माध्यमों से इस देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट राजस्थान

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता बुधवार को राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट प्रोफेसर आशीष झा से बात की. इस दौरान उन्होंने राहुल गांधी ने पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट प्रोफेसर आशीष झा से बात करते हुए यह सवाल किया कि भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? इस पर झा ने राहुल के सवाल का जवाब देते हुए कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि अगले साल तक वैक्सीन आ जाएगी. 

2022 तक T20 वर्ल्ड कप का टलना तय, कल ICC की बैठक में औपचारिक घौषणा संभव 

कोरोना की दवाई कहीं न कहीं से अगले साल तक आ जाएगी:
प्रोफेसर आशीष ने राहुल के सवाल का जवाब देते हुए बताया कि दो तीन वैक्सीन हैं जो काम कर सकती हैं. इसमें एक अमेरिका की है, एक चीन की है, एक ऑक्सफॉर्ड का है. अभी दोनों पर सिर्फ भरोसा पता नहीं कौन सा सही साबित होगा. हो सकता है तीनों काम न करें हो सकता हैं तीनों काम कर जाएं. मुझे विश्वास है कि कोरोना की दवाई  कहीं न कहीं से अगले साल तक आ जाएगी. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 109 पॉजिटिव केस, संक्रमितों का ग्राफ पहुंचा 7645 

सरकार जानबूझकर ज्यादा टेस्ट नहीं कर रही:
हेल्थ एक्सपर्ट आशीष झा से बात करते हुए राहुल गांधी ने एक बड़ा दावा भी किया. उन्होंने कहा कि सरकार जानबूझकर ज्यादा टेस्ट नहीं कर रही क्योंकि ज्यादा केस आने पर लोगों में डर बैठ जाएगा. राहुल गांधी ने कहा कि अब लोगों का जीवन बदलने वाला है. अमेरिका में 11 सितंबर, 2001 के आतंकी हमले (9/11) को नया अध्याय कहा जाता है, लेकिन कोविड-19 पूरी नयी किताब होगा. 

28 मई को कांग्रेस का महा अभियान, प्रवासी श्रमिकों ,कामगारों की आवाज करेगी बुलंद,  AICC की VC में बनी रणनीति

28 मई को कांग्रेस का महा अभियान, प्रवासी श्रमिकों ,कामगारों की आवाज करेगी बुलंद,  AICC की VC में बनी रणनीति

जयपुर: 28मई को कांग्रेस महा अभियान शुरु करने जा रही है. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने विडियो कांफ्रेसिंग की. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट VC में शामिल हुए. तय हुआ है कि वर्तमान परिस्थिति में संकट के दौर से गुजर रहे लाखों की संख्या में प्रवासी श्रमिकों, किसानों, संगठित क्षेत्रों के कामगारों, एमएसएमई, छोटे कारोबारियों और दैनिक मजदूरों की आवाज को केन्द्र सरकार तक पहुंचाने के लिये कांग्रेस आवाज बुलंद करेगी. प्रदेश कांग्रेस कमेटी भी 28मई को सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक ऑनलाईन अभियान चलायेगी. इस सम्बन्ध में मंगलवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव के.सी. वेणुगोपाल ने समस्त राज्यों के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों और कांग्रेस विधायक दल के नेताओं की वी.सी. आयोजित की.

जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन का दूसरा दिन, कुल 11 फ्लाइट्स का हुआ संचालन, 20 में से 9 फ्लाइट रहीं रद्द

ऑनलाइन अभियान की तैयारियों पर विस्तृत चर्चा:
इसमें ऑनलाइन अभियान की तैयारियों पर विस्तृत चर्चा की गई. सचिन पायलट ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने समय-समय पर केन्द्र सरकार को प्रवासी श्रमिकों और मजदूरों की पीड़ा को कम करने हेतु अनेक उपयोगी सुझाव दिए , जिन्हें केन्द्र सरकार ने सिरे से नकार दिया और प्रवासी श्रमिकों, किसानों, दैनिक मजदूरों, एमएसएमई, लघु उद्यमियों और गैर-संगठित क्षेत्रों के कामगारों को किसी प्रकार का सहयोग करने की बजाय उन्हें अपने हाल पर छोड़ दिया है. इन वर्गों की आवाज को केन्द्र सरकार तक पहुँचाने के उद्देश्य से उक्त अभियान चलाया जायेगा.

10 हजार रुपये की मदद की जाये:
पायलट ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण वर्तमान परिस्थिति में ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध करवाकर आर्थिक सम्बल प्रदान करने में मनरेगा योजना मददगार साबित हुई है. उन्होंने बताया कि राजस्थान में मनरेगा के तहत श्रमिक नियोजन 40 लाख से अधिक हो गया है जो कि गत् 10 वर्षों में सर्वोच्च है. पायलट ने कहा कि कांग्रेस पार्टी मांग करेंगी कि लॉकडाउन के कारण अपना रोजगार खो चुके परिवार, जो आयकर के दायरे से बाहर हैं, उन्हें केन्द्र सरकार द्वारा तुरन्त प्रभाव से 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में की जाए. उन्होंने प्रदेश के सभी कांग्रेसजनों से आह्वान किया है कि इसके लिए फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम, यू-ट्यूब तथा अन्य सोश्यल मीडिया माध्यमों से इस देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में अनिवार्य रूप से प्रतिभागी बनकर अपने उत्तरदायित्व का निर्वाह करें.

जयपुरिया की तर्ज पर एक जून से SMS भी होगा कोरोना फ्री, OPD से IPD तक में चिकित्सा सेवाओं में दिखेगा बदलाव

राहुल गांधी ने बोला मोदी सरकार पर हमला, कहा- देश में लॉकडाउन पूरी तरह से फेल

राहुल गांधी ने बोला मोदी सरकार पर हमला, कहा- देश में लॉकडाउन पूरी तरह से फेल

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि लॉकडाउन के चारों चरण फेल रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने दो महीने पहले कहा था कि हम 21 दिन में कोरोना वायरस को हरा देंगे, लेकिन अब 60 दिन बाद हमारे देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ रहा है और लॉकडाउन को हटाया जा रहा है. ऐसे में लॉकडाउन का मकसद पूरी तरह से फैल हो गया है. 

उत्तर भारत के कई हिस्सों में गर्मी का सितम, 47 डिग्री तक पहुंचा तापमान, रेड अलर्ट जारी 

महामारी घटने के बजाय दिन पर दिन बढ़ती जा रही: 
उन्होंने कहा कि जो होना था वह नहीं हुआ. देश को मालूम होना चाहिए कि सरकार की क्या रणनीति है. लॉकडाउन को लागू हुए करीब 60 दिन पूरे हो चुके हैं. लेकिन ये महामारी घटने के बजाय दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूर परेशान हैं. सरकार उनकी परेशानियों और मुसीबतों को कैसे दूर करेगी?

पीएम को फिर फ्रंटफुट पर आना होगा:
राहुल ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी शुरुआती वक्त में फ्रंटफुट पर खेलते हुए दिखे, लेकिन अब वो बैकफुट पर हैं. लेकिन पीएम को फिर फ्रंटफुट पर आना होगा. राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी ने जो पैकेज में ऐलान किया है, उससे कुछ नहीं होने वाला है. सरकार में बैठे लोगों में डर है कि अगर गरीबों को ज्यादा पैसा दिया, तो बाहर के देशों में गलत संदेश जाएगा. राहुल ने कहा कि भारत की शक्ति ये गरीब हैं, ऐसे में बाहर की चिंता नहीं करनी चाहिए.

हमारा काम सरकार पर दबाव डालना: 
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार विपक्ष को गंभीरता से नहीं लेती? इस सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि हमारा काम सरकार पर दबाव डालना है. मैंने फरवरी में ही कह दिया था कि हालात और खतरनाक होंगे. रोजगार को लेकर राहुल ने कहा कि सरकार को आर्थिक मोर्चे पर बहुत काम करने की जरूरत है. सरकार को लोगों को कैश देना चाहिए. सरकार कम से कम 50 फीसदी गरीबों के खाते में 7500 रुपए महीना कैश ट्रांस्फर करे.

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले 

हमारे यहां केस बढ़ रहे हैं और लॉकडाउन हट रहा:
कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि पूरी दुनिया जब लॉकडाउन हटा रही है तो वहां केस कम हो रहे हैं, लेकिन हमारे यहां केस बढ़ रहे हैं और लॉकडाउन हट रहा है. राहुल ने सवाल किया कि पीएम मोदी गरीबों के लिए, किसानों के लिए क्या कर रहे हैं उसका जवाब दे दें.

Open Covid-19