Live News »

कल पौष पूर्णिमा के अवसर पर होगा कुंभ मेले का दूसरा मुख्‍य स्‍नान 

कल पौष पूर्णिमा के अवसर पर होगा कुंभ मेले का दूसरा मुख्‍य स्‍नान 

प्रयागराज। वैसे तो कुंभ मेले में स्नान का अपना महत्व है, लेकिन कुछ खास दिनों और तारीखों में स्नान बेहद शुभ माना जाता है। 21 जनवरी यानी सोमवार को महाकुंभ मेले का दूसरा प्रमुख स्नान है। पौष पूर्णिमा को शुभ माना जाता है और इसके साथ ही कुंभ मेले में एक माह तक चलने वाले कल्‍पवास की शुरूआत होती है। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में कल पौष पूर्णिमा के अवसर पर कुंभ मेले के दूसरे मुख्‍य स्‍नान की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। 

दरअसल कल्‍पवास की पूरी अवधि के दौरान लोग एक महीने तक संगम के निकट छोटे-छोटे टैंटों में रहते हैं और दिन में तीन बार स्‍नान करते हैं तथा दिन में केवल एक ही बार भोजन करते हैं। ऐसी मान्‍यता है कि पूरी श्रद्धा के साथ कल्‍पवास के नियम का पालन करने पर मस्तिष्‍क और आत्‍मा शुद्धि मिलती है। कुंभ में इस दिन लाखों श्रद्धालु स्नान, जप, तप और दान करेंगे। माना जाता है कि कुंभ में शुभ मुहूर्त के दौरान किया गया स्नान और दान अगले जन्म में सुख और संपन्नता प्रदान करता है।

बता दें कि मेला प्रशासन ने आज सुबह से यातायात मार्ग में परिवर्तन किए हैं और केवल आपात सेवाओं वाले वाहनों को ही मेला क्षेत्र में प्रवेश की अनुमति है। 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

Open Covid-19