असम और बिहार में बाढ़ की स्थिति गम्‍भीर, तटबंधों के टूटने से 133 गांवों में बाढ़

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/07/16 04:34

गुवाहाटी: असम में बिहार में मानसून की भारी बारिश के चलते बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है. भारतीय सेना ने नलबाड़ी जिले में कल रात एक ऑपरेशन के दौरान करीब 160 लोगों को बचाया. नलबाड़ी में पगलादिया नदी के तटबंधों के टूटने से 133 गांवों में बाढ़ आ गई और 1,50,000 आबादी प्रभावित हुई है. वहीं राज्‍य आपदा मोचन बल के अनुसार राज्‍य में करीब एक लाख लोग राहत शिविरों में शरण लिये हुए हैं. 

केन्‍द्रीय जल शक्ति मंत्री ने किया सर्वेक्षण:
तटबंधों के टूटने से नये इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है. केन्‍द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्‍द्र सिंह शेखावत ने ऊपरी असम के बाढ़ग्रस्‍त इलाकों का विमान से सर्वेक्षण किया. बाद में वे गुवाहाटी में समीक्षा बैठक करेंगे. पेयजल उपलब्‍ध कराने के लिए लोक स्‍वास्‍थ्‍य अभियांत्रिकी विभाग पानी के पैकेट बांटने के साथ ट्यूबवैल भी लगा रहा है. अस्‍थाई शौचालयों का निर्माण और क्‍लोरीन की दवा भी वितरित की जा रही है. बचाव कार्यों के लिए एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और सेना वाहिनियों के दल लगे हुए हैं.

बिहार के 12 जिलों में 25 लाख लोग प्रभावित:
बिहार में भी बाढ़ से स्थिति नाजुक है. बिहार के मुख्‍यमंत्री नितिश कुमार ने आज विधानसभा में बताया कि 12 जिलों में 25 लाख लोग बाढ़ की चपेट में हैं.  मुख्‍यमंत्री ने बाढ़ग्रस्‍त जिलों को हरसंभव सहायता का आश्‍वासन दिया. उन्होंने बताया कि कुल 199 राहत शिविर खोले गए हैं. इसके अलावा 676 सामुदायिक रसोईघरों की व्‍यवस्‍था की गई है. सरकार द्वारा आपदा प्रबंधन हेतु एक मानव संचालन प्रक्रिया बनाई गई है. इसलिए बाढ़ पूर्व तैयारियों से लेकर, बाढ़ के समय तथा बाढ़ समाप्ति के बाद किये गए कार्यों का स्‍पष्‍ट उल्‍लेख किया गया है. राहत कार्यों में कोई कठिनाई न हो इसके लिए वित्‍तीय नियमों को सरल बनाया गया है. प्रत्‍येक जिले में तथा मुख्‍यालय में ईओसी इमरजेंसी ऑपरेटिंग सेंटर की स्‍थापना की गई है. 

मुख्‍यमंत्री ने बताया कि उन्‍होंने बाढ़ग्रस्‍त इलाकों का विमान से सर्वेक्षण किया है और राज्‍य प्रशासन लोगों की सहायता के लिए 24 घंटे काम कर रहा है. उन्‍होंने बताया कि राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल के दल पहले से ही इन इलाकों में तैनात हैं. मुख्‍यमंत्री ने कहा कि प्रभावित लोगों को उचित मुआवजा दिया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि नेपाल में लगातार हो रही वर्षा के कारण बिहार की नदियां ऊफान पर हैं और इससे राज्‍य में बाढ़ आ रही है. 

बाढ़ से जनजीवन प्रभावित: 
सीतामढ़ी शहर के कई मोहल्‍लों में लखनदेही नदी के बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. इधर दरभंगा में बिशनपुर के पास राष्‍ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 57 का एक हिस्‍सा बाढ़ में बह गया है, जिससे दरभंगा और सीतामढ़ी जिले के बीच कई गांवों संपर्क कट गया है. समतौल और जोगियारा के बीच रेल पुल पर बाढ़ का पानी आ जाने के कारण समस्‍तीपुर मंडल के दरभंगा-सीतामढ़ी रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया है. बाढ़ के कारण राष्‍ट्रीय राजमार्गों और ग्रामीण सड़कों को बड़े पैमाने पर क्षति पहुंची है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in