बेंगलुरु कर्नाटक के कई हिस्सों में मूसलाधार बारिश जारी, जान-माल का नुकसान

कर्नाटक के कई हिस्सों में मूसलाधार बारिश जारी, जान-माल का नुकसान

कर्नाटक के कई हिस्सों में मूसलाधार बारिश जारी, जान-माल का नुकसान

बेंगलुरु: कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों और मलनाड में भारी बारिश से सामान्य जनजीवन लगातार प्रभावित है, जिससे प्रभावित क्षेत्रों में जान-माल का नुकसान हुआ है. लगातार बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं. कृषि क्षेत्र और निचले इलाके जलमग्न हो गये हैं. कोडागु और दक्षिण कन्नड़ जिलों के पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन की सूचना मिली है. दक्षिण कन्नड़ के बंतवाल तालुक के पंजीकल्लू गांव में बुधवार को चार मजदूर भूस्खलन से गिरे मलबे में फंस गए, जिनमें से तीन की मौत हो गई और एक व्यक्ति का स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है.

दक्षिण कन्नड़ और कोडागु जिलों में जारी बारिश और मौसम विभाग द्वारा आने वाले चार दिनों तक मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान की घोषणा के कारण जिला प्रशासन ने स्कूलों और कॉलेजों में अवकाश घोषित कर दिया है. कोडागु जिले में तैनात राजस्व मंत्री आर अशोक ने बृहस्पतिवार को चेम्बू गांव जैसे बारिश और भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और वहां राहत तथा बचाव कार्यों की निगरानी की. मंत्री के कार्यालय ने कहा कि उन्होंने प्रभावित लोगों को राहत चेक वितरित किए. शिवमोगा जैसे तटीय और मलनाड क्षेत्रों के करीब कई अन्य जिलों में भी बारिश के कारण सामान्य जनजीवन प्रभावित है. शिवमोगा में स्कूलों और कॉलेजों के लिए छुट्टी की घोषणा की गई है. जिले के दो जलाशयों में भारी जलभराव हो गया है. मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य सरकार मूसलाधार बारिश से प्रभावित लोगों को बचाने और राहत पहुंचाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है. उन्होंने कहा, 'हमारे राजस्व मंत्री पहले से ही कोडागु में हैं. मौसम विभाग के अनुसार, कोडागु, दक्षिण कन्नड़, उडुपी, उत्तर कन्नड़ जिलों में अगले तीन से चार दिनों तक बारिश जारी रहेगी. मैंने पहले ही जिला उपायुक्तों (डीसी) द्वारा उठाए जाने वाले एहतियाति कदमों के संबंध में उनसे चर्चा की है. उनके पास पर्याप्त धनराशि है और एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं.'

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मैसूर में तैनात राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) का एक दल कोडागु में तैनात किया जा रहा है. मंगलुरु में तैनात दल वहीं रहेगा और आसपास के क्षेत्रों में बचाव कार्यों का ध्यान रखेगा, जबकि राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) के दलों को कारवार और उडुपी में तैनात किया गया है. मौसम विभाग के अनुसार, तटीय कर्नाटक के सभी जिलों में गरज के साथ छीटें पड़ने, या अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है. इसके अलावा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के चिक्कमंगलुरु, कोडागु और शिवमोगा जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है. उत्तरी आंतरिक कर्नाटक के बेलगावी, धारवाड़, हावेरी, कलबुर्गी और रायचूर और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के हासन जिले में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें