जयपुर VIDEO: जयपुर के बड़ी चौपड़ पर निभाई गई परंपरा, कांग्रेस और बीजेपी ने मनाया गणतंत्र दिवस, देखिये ये खास रिपोर्ट

VIDEO: जयपुर के बड़ी चौपड़ पर निभाई गई परंपरा, कांग्रेस और बीजेपी ने मनाया गणतंत्र दिवस, देखिये ये खास रिपोर्ट

जयपुर: देश आज अखंड है,इंदिरा गांधी ने अखंडता के लिए शहादत दे दी, फिर भी हमे सुनना पड़ता है 70 सालों में क्या हुआ,यह बोलने वाले लोग फासिस्ट प्रवृत्ति के लोग है. ये कहना है राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का . गहलोत ने बड़ी चौपड़ से सियासी संदेश देते हुए प्रदेशवासियों को गणतंत्र दिवस पर शुभकामनाएं दी. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा आज देश नरेंद्र मोदी के कारण शक्तिसंपन्न है,पड़ोस के विरोधी देशों को वे भेंटी दे रहे,उनके नाम से थर्रा रहे. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी बड़ी चौपड़ से कहा कि हमें फक्र है कि हम राष्ट्रवादी पार्टी के कार्यकर्ता है. बड़ी चौपड़ पर सालों से चली आ रही गणतंत्र दिवस मनाने की परपंरा निभाई गई.

गणतंत्र के पावन अवसर पर बरसों से चली आ रही  परम्परा आज बड़ी चौपड़ पर दिखी. सत्ताधारी दल और विपक्षी दल ने बड़ी चौपड़ पर झंडारोहण कार्यक्रम आयोजित किया सत्ता पर काबिज कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तिरंगा फहराया साथ ही पार्टी की ओर से सियासी संदेश भी दिया, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा मौजूद रहे. BJP की ओर से झंडारोहण की परम्परा निभाई नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने,साथ मौजूद रहे बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया , सांसद रामचरण बोहरा , बीजेपी जयपुर शहर राघव शर्मा ,विधायक अशोक लाहोटी समेत प्रमुख नेता . सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि आज फासिस्ट वादियों की सरकार है,कांग्रेस के नेताओं ने देश की अखंडता को अक्षुण्ण रखा , फिर भी फासिस्ट सोच रखने वाले कहते है 70 सालों में क्या किया.

चाहे सुखाडिया का सियासी युग हो या फिर शेखावत का गणतंत्र दिवस और स्वाधीनता दिवस का अवसर राजधानी जयपुर के बड़ी चौपड़ के लिये विशेष होता है...परम्परा के अनुसार बड़ी चौपड़ पर तिरंगा फहराया जाता है. सत्तापक्ष और विपक्षी दल दोनों यह परम्परा निभाते है. पहले झंडारोहण सत्तापक्ष की ओर से होता है और ठीक उसके बाद विपक्षी दल के नेता राष्ट्रीय ध्वज फहराते है. सत्तापक्ष के मंच का मुंह पूर्व मुखी यूं कहें रामगंज चौपड़ की ओर देखता होता है . पूर्व की तरफ का कारण उदय होता सूर्य. वहीं विपक्षी पार्टी के मंच का मुंह सांगानेरी गेट की ओर देखता हुआ रहता है. दोनों ही दलों की शहर इकाई इन कार्यक्रमों को आयोजित करती है. उधर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और  बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने मोदी सरकार के कार्यों को सराहा और विपक्षी दल पर तंज कसे . 

अशोक गहलोत ने कहा कि हम सुशासन दे रहे है राजस्थान में . कोरोना के बेहतर मैनेजमेंट के लिए राजस्थान.को देश भर में जाना गया
बड़ी चौपड़ से कहे गये शब्दों का सियासी महत्व बरसों से राजस्थान की राजधानी के लोग समझ रहे है.

इसके बावजूद छोटी काशी के ह्र्दय में बसे बड़ी चौपड़ पर लहराता तिरंगा कौमी एकता का संदेश देता है ,यहीं आजादी की मूल भावना और जयपुर की गंगा जमुनी तहजीब को जीवंत करता है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट
 

और पढ़ें