Live News »

VIDEO: 5000 करोड़ के राजस्व लक्ष्य को हासिल करने से चूका परिवहन विभाग

VIDEO: 5000 करोड़ के राजस्व लक्ष्य को हासिल करने से चूका परिवहन विभाग

जयपुर। वित्त वर्ष 2018-19 समाप्त हो चुका है और राज्य सरकार के सबसे ज्यादा राजस्व जुटाने वाले विभागों के आंकड़े भी अब आ चुके हैं। परिवहन विभाग जो पिछले साल राजस्व लक्ष्य से आगे रहा था, इस बार पिछड़ गया है। राज्य सरकार ने परिवहन विभाग को 5000 करोड़ रुपए लाने का लक्ष्य दिया था और विभाग 4576 करोड़ रुपए ला सका है। ये रिपोर्ट देखिए और जानिए कि क्यों पिछड़ा परिवहन विभाग, ये भी समझिए कि राजस्व लाने के मामले में कौनसा आरटीओ है सबसे आगे। खास रिपोर्ट:

राज्य सरकार के लिए आय एकत्रित करने वाले विभागों में परिवहन विभाग का एक अपना महत्व है। पिछले वित्त वर्ष 2017-18 में परिवहन विभाग को 4300 करोड़ रुपए का राजस्व लक्ष्य दिया गया था और इसके विपरीत विभाग ने 4363 करोड़ रुपए अर्जित किए थे। यह लक्ष्य की तुलना में 101.44 फीसदी था। लेकिन इस बार परिवहन विभाग राजस्व लक्ष्य हासिल करने में पिछड़ गया है। राज्य सरकार की ओर से इस वित्त वर्ष के लिए परिवहन विभाग को 5000 करोड़ रुपए का राजस्व लक्ष्य दिया था। इसके विपरीत विभाग 4576.22 करोड़ रुपए जुटाने में कामयाब रहा है। यानी लक्ष्य का 91.52 फीसदी लक्ष्य विभाग ने हासिल किया है। पिछले साल जहां विभाग लक्ष्य से आगे निकल गया था, वहीं इस साल लक्ष्य से काफी पीछे रह गया है। हालांकि कुल राजस्व अर्जन की बात करें तो विभाग ने पिछले साल से 213 करोड़ रुपए ज्यादा अर्जित किए हैं। परिवहन विभाग की इस परफॉर्मेंस से राज्य सरकार नाखुश दिख रही है।

जानिए आरटीओ की रैंकिग:

रैंक             आरटीओ कार्यालय         लक्ष्य दिया                अर्जित राजस्व
1                 चित्तौड़गढ़                   358.48 करोड़              342.19 करोड़
2                 अलवर                        287.90 करोड़             269.21 करोड़
3                 सीकर                         370.85 करोड़             346.56 करोड़
4                 भरतपुर                      191.82 करोड़             177.20 करोड़
5                 बीकानेर                      385.44 करोड़             350.17 करोड़
6                 जोधपुर                       499.76 करोड़             449.37 करोड़
7                 उदयपुर                      471.65 करोड़             422.54 करोड़ 
8                 जयपुर                       1020.98 करोड़            905.85 करोड़
9                 दौसा                         154.14 करोड़              136.62 करोड़
10               कोटा                         324.20 करोड़              284.66 करोड़
11               अजमेर                      462.61 करोड़              399 करोड़ 
12               पाली                         272.17 करोड़              233.91 करोड़ 

पिछले वित्त वर्ष से तुलना करें तो सर्वाधिक राजस्व लक्ष्य कोटा आरटीओ ने हासिल किया था, जो कि इस बार पिछड़कर दसवें स्थान पर गिर गया है। इस वित्त वर्ष में चित्तौड़गढ़ आरटीओ सबसे आगे रहा है। वर्तमान में चित्तौड़गढ़ आरटीओ की कमान संभालने वाली प्रवीणा चारण पिछले साल पाली में थी और तब यह चौथे स्थान पर रही थीं। वास्तव में प्रवीणा चारण की परफॉर्मेंस हमेशा बेहतर रहती आई है। इस बार अलवर रीजन में 3 आरटीओ लगने के बावजूद यह दूसरे नंबर पर रहा है। सीकर रीजन की आर्थिक हालत सुधारने के पीछे 6 महीने रहे ज्ञानदेव विश्वकर्मा और भरतपुर रीजन के लिए सतीश कुमार चौधरी को माना जा रहा है। क्योंकि इससे पिछले सालों में दोनों रीजन की आर्थिक स्थिति बहुत खराब रही है।

क्यों पिछड़ा परिवहन विभाग ?
—परिवहन अधिकारी कह रहे हैं कि इस वर्ष वाहनों की बिक्री कम हुई
—इससे टैक्स कम मिला, विभाग का राजस्व भी इससे गिरा
—पिछले साल लाइसेंस, पंजीयन की फीस बढ़ी थी, इससे विभाग लक्ष्य से आगे गया
—लेकिन इस बार फीस स्थिर रही, इसलिए अपेक्षित बढ़ोतरी नहीं हुई
—पिछले साल परिवहन आयुक्त शैलेन्द्र अग्रवाल ने वाहवाही बटोरी थी
—लेकिन फीस बढ़ने की वजह से राजस्व खुद ही बढ़ गया था
—इस साल जनवरी तक यानी 10 माह के लिए परिवहन आयुक्त शैलेन्द्र अग्रवाल ही थे
—लेकिन राजस्व केवल 90 फीसदी ही था
—इस वर्ष अंतिम 2 माह में राजेश यादव परिवहन आयुक्त के रूप में लगे
—जनवरी तक के राजस्व की तुलना में 1.50 फीसदी राजस्व बढ़ाया
—यदि उन्हें पहले लगाया जाता तो राजस्व और ज्यादा अर्जित हो सकता था

हालांकि लक्ष्य में पिछड़ने को लेकर परिवहन विभाग के अधिकारी कुछ भी कहें, लेकिन राजस्व लीकेज की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता। वहीं उच्च स्तर पर अच्छे अधिकारी ही राजस्व में बढ़ोतरी कर सकते हैं, यह साबित कर दिखाया है नए परिवहन आयुक्त राजेश यादव ने। अब माना जा रहा है कि लक्ष्य में पिछड़ने वाले आरटीओ और डीटीओ अधिकारियों पर कार्रवाई होगी। इस बात के संकेत परिवहन आयुक्त ने जॉइनिंग के दौरान ली गई मीटिंग में ही दे दिए थे। ऐसे में आगामी दिनों में देखना होगा कि कौंनसे आरटीओ या डीटीओ अधिकारियों पर कार्रवाई की गाज गिरती है।

... संवाददाता काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

अब बंद होगा राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन, भारत सरकार से मिले हैं सभी राज्य सरकारों को निर्देश

जयपुर: पूरे देशभर में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन है, वहीं राज्य सरकार ने मजदूरों को अपने जिलों में पहुंचाने के लिए रोडवेज बसों का संचालन शुरू किया था. जिससे वो अपने घर तक पहुंच सकें. भारी तादात में लोग पैदल ही अपने-अपने जिलों की ओर जा रहे है. इस बीच एक बड़ी खबर मिली है कि अब राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन बंद होगा. यह निर्देश सभी राज्य सरकारों को भारत सरकार से मिले हैं. केन्द्र सरकार की ओर से मजदूरों का मूवमेंट रोकने के निर्देश दिए गए है. राजस्थान सरकार भारत सरकार के निर्देशों का पालन करेगा. कुछ ही देर में रोडवेज बसें बंद हो जाएगी. 

India Corona Updates: घरों में रहे, जानलेवा बना कोरोना, पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 1026 तो 27 लोगों की मौत

राजस्थान में बढ़ा कोरोना मरीजों का आंकड़ा, झुंझुनूं में मिला एक ओर पॉजिटिव, तो मरीजों की संख्या हुई 56

राजस्थान में बढ़ा कोरोना मरीजों का आंकड़ा, झुंझुनूं में मिला एक ओर पॉजिटिव, तो मरीजों की संख्या हुई 56

जयपुर: प्रदेशभर में कोराना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. लगातार इसका आंकडा बढता जा रहा है. राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 56 पहुंच गया है. प्रदेश के झुंझुनूं जिले में एक ओर पॉजिटिव मरीज आया सामने है. झुंझुनूं में 21 साल एक युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है. यह युवक 18 मार्च को फिलीपींस से राजस्थान लौटा था. 23 मार्च को क्वारेंटाइन में युवक को भेजा गया. कोरोना के लक्षण दिखने पर सैंपल SMS हॉस्पिटल भेजा गया, जिसके बाद मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. 

Lockdown: जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन जारी, रोडवेज बस स्टैंड पर लगी भीड़

भीलवाड़ा में 25 पॉजिटिव मरीज:
भीलवाड़ा में कोरोना वायरस के 25 सबसे पॉजिटिव मरीज है. 10 वें दिन भी कर्फ्यू जारी है. भीलवाड़ा से होकर जा रहे श्रमिकों का भी पलायन जारी है. रविवार को चित्‍तौडगढ से 629 किलोमीटर दुर गौरूखपुर जा रहे 40 श्रमिकों को समाजसेवी ने उन्‍हे बिस्किट के पैकेट वितरण किए. यह श्रमिक चित्‍तौडगढ जिले में इंटिरियर डेकोरेशन और पेन्टिंग का कार्य करते थे. पिछले नौ दिनों से काम नहीं होने और खाद्य सामग्री खत्‍म हो जाने के कारण यह अपने गांव लौटने को मजबूर हो गए. 

660 संदिग्‍ध मरीज भर्ती:
वहीं जिले में अब तक पॉजिटिव 25 मरीजों में से 2 की मौत हो चूकी है, 4 मरीज जयपुर में उपचाररत है और 5 मरीजों को अस्‍पताल के अधिक्षक डॉ.अरूण गौड की टीम के उपचार के बाद रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उन्‍हे आईसोलेशन से दुसरे वार्ड में स्फीट किया गया है, जिले के 11 क्‍वॉरेन्‍टाईन में अब तक 660 संदिग्‍ध मरीजों को भर्ती किया गया है, वहीं जिले की सीमा पर तैनात 15 चैकपॉस्‍ट पर अब तक 7 हजार से अधिक लोगों की स्क्रिनिंग की गई है.

Rajasthan Lockdown: राहत के मसीहा बने भामाशाह और समाजसेवी, प्रवासी यात्रियों को मिली राहत

खाने-पीने की समस्‍या:
चित्‍तौडगढ से गोरूखपुर के 629 किलोमीटर के लम्‍बे सफर पर रवाना होने वाले राम सिंह ने कहा कि हम चित्‍तौडगढ जिले में पिछले कई वर्षों से घरों में इंटिरियर डेकोरेशन और पेन्टिंग का कार्य करते थे. पिछले 9 दिनों ने हम घर पर बैठे थे, जिसके कारण हमें खाने-पीने की समस्‍या होने लग गई. इसके कारण परेशान होकर हमें अपने घरों के लिए लौटने को मजबूर हो गए. वहीं सीएमएचओ डॉ.मुस्‍ताक खान ने कहा कि रविवार को कोटडी कस्‍बे की एक महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है, जिसने बांगड अस्पताल में एन्जियोप्‍लास्‍टी करवाई थी और बाद में 19 मार्च को यहां दिखाने आई थी. उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे भी जिला अस्‍पताल के आईसोलेशन वार्ड मे भर्ती किया गया है.

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 55, भीलवाड़ा में एक नए पॉजिटिव केस की पुष्टि

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 55, भीलवाड़ा में एक नए पॉजिटिव केस की पुष्टि

जयपुर: प्रदेशभर में कोराना वायरस के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे है. राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 55 पहुंच गया है. पिछले 24 घंटे में भीलवाड़ा में एक नए पॉजिटिव केस की पुष्टि हो गई है. भीलवाड़ा के बांगड़ अस्पताल में पॉजिटिव महिला का उपचार जारी है. प्रदेश के भीलवाड़ा में सबसे ज्यादा हालत खराब है. भीलवाड़ा में अब तक सर्वाधिक 25 पॉजिटिव मरीज सामने आये है. चलिए बात करते है कोरोना वायरस से जुड़ी जिलेवार ताजा अपडेट पर.

पॉजिटिव मरीजों की संख्या:
प्रदेश के झुंझुनूं जिले में मरीजों की संख्या 6 हो गई है, जबकि जयपुर में 10 पॉजिटिव मरीज सामने आये है. वहीं पाली में एक तो प्रतापगढ़ में 2 मरीज सामने आये है.अगर बात करते सीकर जिले की तो यहां पर एक मरीज सामने आया है. जोधपुर में 6 पॉजिटिव केस सामने आये है. चूरू में एक मामला सामने आया है. डूंगरपुर में 2, अजमेर में 1 पॉजिटिव केस सामने आया है. प्रदेश में अब तक 3381 संदिग्ध मरीजों की जांच हुई है. इसमें से 3,150 की रिपोर्ट प्रशासन को नेगेटिव मिली है. 176 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट का अभी इंतजार है. 

दुष्कर्म पीड़िता ने हाईकोर्ट से लगायी गर्भपात की गुहार, हाईकोर्ट ने मेडीकल बोर्ड से पीड़िता की जांच कर रिपोर्ट की तलब

कोरोना वायरस से जुड़ी जिलेवार ताजा अपडेट
-राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 55
-पिछले 24 घंटे में भीलवाड़ा में एक नए पॉजिटिव केस की पुष्टि
-भीलवाड़ा के बांगड़ अस्पताल में लिया था पॉजिटिव महिला ने उपचार
-भीलवाड़ा में अब तक सर्वाधिक 25 पॉजिटिव मरीज चिन्हित
-झुंझुनूं में 6, जयपुर में 10, पाली में एक, प्रतापगढ़ में 2,
-सीकर में एक, जोधपुर में 6 पॉजिटिव,चूरू में एक
-डूंगरपुर में 2, अजमेर में 1 पॉजिटिव केस आया सामने
-प्रदेश में अब तक 3381 संदिग्ध मरीजों की हुई जांच
-इसमें से 3,150 की रिपोर्ट प्रशासन को मिली नेगेटिव
-176 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट का अभी इंतजार

किसी भी व्यक्ति को भीलवाड़ा से बाहर ना जाने दें:
प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में कोरोना वायरस के बढते पॉजिटिव मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है. सीएम गहलोत ने भीलवाड़ा जिला कलेक्टर को निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी व्यक्ति को भीलवाड़ा से बाहर ना जाने दें. भीलवाड़ा को कोरोना का एपिकसेंटर बनने से रोकें. भीलवाड़ा में मास लेवल पर स्क्रीनिंग की जाए, ताकि दूसरी जगह संक्रमण न फैल सके.

नवरात्रि पंचमी आज, स्कंदमाता की पूजा से मिलेंगे ये लाभ

7 थाना इलाकों में कर्फ्यू:
जयपुर के रामगंज इलाके में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद शुक्रवार को रामगंज समेत शहर के 7 थाना इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. इनमें रामगंज, सुभाष चौक, माणक चौक और कोतवाली के संपूर्ण क्षेत्र में तथा गलता गेट, ब्रह्मपुरी व नाहरगढ़ थाना इलाके के चादीवारी क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है. इसके बाद पुलिस और सतर्क हो गई है.

दुष्कर्म पीड़िता ने हाईकोर्ट से लगायी गर्भपात की गुहार, हाईकोर्ट ने मेडीकल बोर्ड से पीड़िता की जांच कर रिपोर्ट की तलब

दुष्कर्म पीड़िता ने हाईकोर्ट से लगायी गर्भपात की गुहार, हाईकोर्ट ने मेडीकल बोर्ड से पीड़िता की जांच कर रिपोर्ट की तलब

अलवर: प्रदेश के अलवर की एक नाबालिग बालिका का अपहरण कर दुष्कर्म करने के मामले में अब पीड़िता ने गर्भपात के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. पीड़िता की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने राजगढ़ थानाधिकारी को आदेश दिए हैं कि वह पीडिता को सीएमएचओ, अलवर के समक्ष पेश करें. वहीं सीएमएचओ को मेडिकल बोर्ड गठित कर गर्भपात के लिए पीडिता की जांच कराने के आदेश दिए है. हाईकोर्ट ने सीएमएचओं अलवर को 31 मार्च को मेडीकल रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए है.

Coronavirus Updates: देश में संक्रमितों की संख्या 1000 के पार, शनिवार को 30 फीसदी की बढ़ोतरी

गत दिनों कर लिया था अपहरण: 
जस्टिस इन्द्रजीत सिंह की एकलपीठ ने यह आदेश पीडिता की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए दिए. याचिका में कहा गया कि याचिकाकर्ता का अलवर के राजगढ़ थाना इलाके से कुछ लोगों ने गत दिनों अपहरण कर लिया था. घटना के पांच दिन बाद पीडिता हरियाणा में मिली. वहीं सोनोग्राफी में पीडिता के गर्भवती होने की जानकारी मिली. इस पर पीडिता की ओर से याचिका दायर कर गर्भपात की अनुमति मांगी गई. इसके साथ ही पीडिता की ओर से एक अन्य याचिका दायर कर प्रकरण की निष्पक्ष जांच की गुहार भी की गई है.

VIDEO: कोरोना के खिलाफ जंग में रक्त की आपूर्ति, अशोक गहलोत की प्रेरणा से मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु

नवरात्रि पंचमी आज, स्कंदमाता की पूजा से मिलेंगे ये लाभ

नवरात्रि पंचमी आज, स्कंदमाता की पूजा से मिलेंगे ये लाभ

जयपुर: नवदुर्गा के पांचवें स्वरूप को स्कंदमाता के नाम से जाना जाता है. स्कन्दमाता की उपासना से बालरूप स्कन्द भगवान् की उपासना स्वयमेव हो जाती है. कार्तिकेय (स्कन्द) की माता होने के कारण इनको स्कंदमाता कहा जाता है. कमल के आसन पर विराजमान होने के कारण से इन्हें पद्मासना देवी भी कहा जाता है.

Coronavirus Updates: देश में संक्रमितों की संख्या 1000 के पार, शनिवार को 30 फीसदी की बढ़ोतरी 

स्कन्दमाता पूजा मंत्र-
सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया।
शुभदास्तु सदा देवी स्कंदमाता सशस्विनी।।

स्कंदमाता की पूजा से मिलेंगे ये लाभ:
- स्कंदमाता की पूजा से संतान प्राप्ति में आसानी हो जाती है.
- इसके साथ ही अगर संतान की तरफ से कोई कष्ट हो तो वह भी समाप्त हो जाता है.
- पीले वस्त्र धारण कर पूजा करने से परिणाम अति शुभ मिलता है.
- संकदमाता की पूजा करने से शत्रु पराजित नहीं कर सकता.
- स्कंदमाता की कृपा से व्यक्ति जीवन मरण के चक्र से मुक्त होता है.
- साधना में लीन साधक सिद्धि प्राप्ति के लिए भी मां स्कंदमाता की उपासना करते हैं.

VIDEO: कोरोना के खिलाफ जंग में रक्त की आपूर्ति, अशोक गहलोत की प्रेरणा से मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु 

 

Coronavirus Update: राजस्थान में चार नए पॉजिटिव मामले आने से संख्या पहुंची 54, देशभर में 984 केस आए सामने

Coronavirus Update: राजस्थान में चार नए पॉजिटिव मामले आने से संख्या पहुंची 54, देशभर में 984 केस आए सामने

जयपुर: भीलवाड़ा में शनिवार को कोरोनावायरस के तीन नए पॉजिटिव रोगी जांच में सामने आए. उधर शनिवार दोपहर तक जयपुर से जांच रिपोर्ट टेस्टपोट में कोरोना वायरस पॉजिटिव रोगियों के इलाज में लगे चिकित्सकों में नए उत्साह का संचार किया. भीलवाड़ा में लगातार दूसरे दिन 2 पॉजिटिव रोगियों की जांच रिपोर्ट इलाज के बाद नेगेटिव आई है. ऐसे में पांच करुणा पॉजिटिव लोगी अब कोरोना के कठिन घेरे से बाहर आ गए. उधर भीलवाड़ा में तीन पॉजिटिव रोगी और मिलने के साथ ही अब कुल पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है. 

VIDEO: कोरोना के खिलाफ जंग में रक्त की आपूर्ति, अशोक गहलोत की प्रेरणा से मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु 

भीलवाड़ा में जल्द ही स्थापित होगी टेस्टिंग लैब:
भीलवाड़ा में कोरोनावायरस की जांच के लिए जल्द ही टेस्टिंग लैब स्थापित की जाएगी करीब दो करोड़ ₹64 लाख की राशि इस पर खर्च की जाएगी. उधर कोरोनावायरस की जंग जीतने के लिए जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस फाइटर्स हर गांव में नियुक्त करने की तैयारी शुरू कर दी है. भीलवाड़ा में दोस्तीय स्क्रीनिंग भी कराई जाएगी. भीलवाड़ा कलेक्‍टर राजेन्‍द्र भट्ट ने बताय कि यह फाईटर कोरोना व्‍यवस्‍था में 3 स्‍तरों ग्राम, पंचायत व ब्‍लॉक स्‍तर पर काम करेगें. वहीं आज अजमेर में भी एक 23 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है. अजमेर में अभी तक एक भी मरीजी पॉजिटिव नही था. लेकिन आज सुबह की जांच में एक मरीजी कि रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई. 

राजस्थान में 54 हुई मरीजों की संख्या:
जानकारी के अनुसार 23 वर्षीय युवक को कोरोना पॉजिटिव हुआ है. यह युवक पंजाब से 22 मार्च को अजमेर आया था. यह युवक सेल्समैन का काम करता है. हालांकि अधिकारियों ने युवक के बारे में किसी तरह की जानकारी साझा नही की है. ऐसे में अब प्रदेश में चार मरीजों को मिलाकर कुल मरीजों की संख्या 54 हो गई है. 

 22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी 

देशभर में 984 लोग आए वायरस की चपेट में:
वहीं देश में अबतक कुल 984 लोग जानलेवा कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. 24 घंटे में 149 नए केस सामने आए हैं. वहीं, 19 लोगों की अबतक मौत हुई है. हालांकि 84 लोग ठीक भी हुए हैं. संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा केरल में है. वहीं महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर है. भारत में कोरोना वायरस अभी दूसरी स्टेज पर है.
 

VIDEO: कोरोना के खिलाफ जंग में रक्त की आपूर्ति, अशोक गहलोत की प्रेरणा से मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जन्मदिन 3 मई को है. हर बार रक्तदान शिविर भी आयोजित होते है, लेकिन इस बार इन शिविरों को पहले ही आयोजित किया जा रहा है, कारण है कोरोना. समाजसेवी संगठनों को साथ मिलकर गहलोत के समर्थकों ने मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु कर दिये है जिससे अस्पतालों में आपात हालात के दौरान रक्त कि कमी आड़े नहीं आये. सी एम गहलोत की प्रेरणा से ही साथी सेवा संस्थान निभा रहा है सामाजिक सरोकार. 

22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी 

समर्थकों ने किया रक्तदान शिविर का आयोजन:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना के प्रकोप को थामने के लिये हर वो स्टेप उठाये है जो जरुरी थे यहीं कारण है कि वो देशभर में मिसाल बने. उन्हीं की प्रेरणा से उनके कट्टर समर्थकों ने रक्तदान शिविर के आयोजन शुरु कर दिये. जबकि यह होने थे 3 मई को अशोक गहलोत के जन्मदिन पर. अब जयपुर कि सड़कों पर चलती फिरती सैनिटाइज मोबाइल रक्त दान वैन देखी जा सकती है.

Coronavirus Updates: देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 930 हुई, अब तक 21 लोगों की मौत

लोगों की जीवटता देखने लायक:
कोरोना वायरस के कारण हर व्यक्ति को अप्रिय हालात से गुजरना पड़ रहा है. इसके बावजूद लोगों की जीवटता देखने लायक है, रक्तदान शिविर आयोजित किये जा रहे जिससे अस्पतालों को रक्त की कमी से नहीं जूझना ना पड़े , मौजूदा हालात में रक्त दाता अस्पताल तक नहीं पहुंच पा रहे,जितना रक्त एकत्रित होना चाहिये था उतना नहीं हो पी रहा. यहीं कारण है कि मोबाइल रक्तदान वैन उन तक पहुंच रही है, साथी सेवा संस्थान की यह पहल वाकई अहम है ऐसे वक्त में जब रक्त की आपूर्ति अस्पतालों में होती रहनी चाहिये.

...फर्स्ट इंडिया के लिये योगेश शर्मा की  रिपोर्ट

22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी

22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी

जयपुर: प्रदेश में कोरोना वायरस की रोकथाम के बड़े उपायों के तहत गहलोत सरकार ने 22 Ras तबादलों के जरिये जिले और उपखंड स्तर पर रिक्त पदों को भरा है. सीएम गहलोत ने कल की वीसी में जब कलेक्टरों के रिक्त पद भरने के लिए कहा तो उसकी कार्रवाई के तहत आज ये तबादले किए गए हैं. इसके जरिए उपखंड स्तर पर 11 एसडीओ को इधर-उधर किया गया है जबकि 2 अतिरिक्त कलेक्टरों 3 सहायक कलेक्टर दो जिला परिषद सीईओ और तीन अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को बदला है. कुल 22 में से 21 अधिकारियों को तबादले करके रिक्त स्थानों को भरा गया है.

Coronavirus Updates: देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 930 हुई, अब तक 21 लोगों की मौत

कल वीसी में दी थी कलेक्टरों ने सीएम गहलोत को जानकारी:
कोरोना की रोकथाम की दिशा में अहम कड़ी माने जा रहे एसडीओ जैसे पद भी अभी तक रिक्त थे. कल वीसी में जब यह बात सामने आई तो तुरंत मुख्यमंत्री गहलोत ने इन्हें भरने के निर्देश दिए. इसके तहत कार्मिक विभाग ने आज सुबह तक कलेक्टरों से रिक्त पदों की जानकारी मांगी और शाम तक इन पदों को भरने के लिए 22 आर ए एस की तबादला सूची जारी कर दी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में शुक्रवार को वीसी में कलक्टरों ने जिलों में पद रिक्त होने की जानकारी दी थी. सीएम की मंजूरी के बाद 24 घंटे में ही शनिवार को कार्मिक विभाग ने जिलों में रिक्त चल रहे उपखंड अधिकारी के 11, 2 अतिरिक्त कलेक्टरों 3 सहायक कलेक्टर्स दो जिला परिषद सीईओ और तीन जिला परिषद अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को इधर उधर कर दिया.

लॉक डाउन की अवधि के टिकट का मिलेगा पूरा रिफंड, रेलवे प्रशासन ने यात्रियों के लिए दी राहत

जयपुर में तैनात 10 अफसरों को जिलों में भेजा:
कार्मिक विभाग की ओर से जारी तबादला सूची में जयपुर में तैनात 10 अफसरों को जिलों में रिक्त चल रहे उपखंड पर भेज दिया गया है. वहीं जयपुर से बाहर भेजे गए करीब 12 अधिकारियों में 5 महिला RAS अधिकारी शामिल हैं.

Open Covid-19