Live News »

VIDEO: सरकार के पैमाने पर फेल परिवहन विभाग! एक भी आरटीओ राजस्व लक्ष्य पूरा करने में सफल नहीं

जयपुर: राज्य सरकार के कमाऊ विभागों में शामिल परिवहन विभाग इस वर्ष राज्य सरकार के मानकों पर विफल साबित हो रहा है. विभाग अभी तक राजस्व अर्जन के मामले में काफी पीछे है. खास बात यह भी है कि विभाग के 12 आरटीओ में एक भी आरटीओ ऐसा नहीं है, जो राजस्व लक्ष्य को पूरा कर रहा हो, जानिए, कौन आरटीओ है आगे और कौन पीछे, विशेष खबर-

पुलवामा आतंकी हमले को एक साल पूरा, राहुल गांधी ने पूछे तीन सवाल 

सरकार की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पा रहा परिवहन विभाग:
परिवहन विभाग राज्य सरकार के लिए राजस्व लाने वाले टॉप 5 विभागों में शामिल है. वाणिज्य कर विभाग, आबकारी और खान विभाग के बाद परिवहन विभाग चौथे नम्बर पर आता है, लेकिन इस वित्तीय वर्ष में अब तक परिवहन विभाग राज्य सरकार की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पा रहा है. परिवहन विभाग को राज्य सरकार ने जो राजस्व लक्ष्य दिया था, विभाग उसमें अभी 9 फीसदी पीछे चल रहा है. जनवरी माह तक के राजस्व अर्जन की समीक्षा में यह आश्चर्यजनक तथ्य आया है कि एक भी आरटीओ कार्यालय अपने लक्ष्य को पूरा करने में सफल नहीं रहा है. सीकर आरटीओ अब तक लक्ष्य हासिल करने में सबसे आगे है, लेकिन सीकर आरटीओ भी 100 फीसदी लक्ष्य अर्जित नहीं कर पाया है. रिवेन्यू के लिहाज से सबसे बड़ा रीजन जयपुर आरटीओ है, जो सभी 12 आरटीओ की रैंकिंग में छठे स्थान पर है. सबसे खराब हालात अजमेर, पाली और कोटा आरटीओ के हैं. राजस्व अर्जन को लेकर पिछले माह हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में विभाग के तत्कालीन आयुक्त राजेश यादव ने इन अफसरों को लताड़ भी लगाई थी. जनवरी माह तक विभाग को 4100 करोड़ रुपए का राजस्व अर्जित करना था, जिसमें से विभाग 3750 करोड़ रुपए अर्जित कर सका है. 

जानिए, जनवरी तक कौन आरटीओ आगे-कौन पीछे?

आरटीओ कार्यालय : रैंक : लक्ष्य था : अर्जित किया
सीकर :                  1 :   314 करोड़ : 312 करोड़
भरतपुर :                2 : 144 करोड़ : 140 करोड़
चित्तौड़गढ़ :           3 : 264 करोड़ : 252 करोड़
दौसा :                   4 : 126 करोड़ : 121 करोड़
अलवर :                5 : 233 करोड़ : 218 करोड़
जयपुर :                6 : 836 करोड़ : 770 करोड़
जोधपुर :               7 : 400 करोड़ : 370 करोड़
बीकानेर :              8 : 310 करोड़ : 280 करोड़
उदयपुर :              9 : 387 करोड़ : 346 करोड़
कोटा :                 10 : 274 करोड़ : 240 करोड़
पाली :                 11 : 229 करोड़ : 194 करोड़
अजमेर :              12 : 368 करोड़ : 309 करोड़

राज्य के सभी किसानों की गैर खातेदारी भूमि को खातेदारी में बदला जाएगा 

गौरतलब है कि परिवहन विभाग पिछले साल भी राजस्व लक्ष्य अर्जित करने में विफल साबित हुआ था. परिवहन विभाग को पिछले साल 5000 करोड़ रुपए का लक्ष्य अर्जित करना था, जिसमें विभाग 4576.22 करोड़ रुपए जुटाने में कामयाब रहा था. इस तरह विभाग पिछले साल भी 91.52 फीसदी पर अटक गया था. विभाग की मौजूदा प्रगति से यह समझा जा सकता है कि परिवहन विभाग इस वित्त वर्ष में भी राजस्व लक्ष्य पूरा करने में शायद ही सफल हो पाए. क्योंकि विभाग को मार्च तक 5650 करोड़ रुपए अर्जित करने हैं और विभाग जनवरी तक 4100 करोड़ के लक्ष्य में से 3750 करोड़ ही अर्जित कर सका है.

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 13 मौत, रिकॉर्ड 1278 नए केस, जोधपुर में मिले सर्वाधिक 202 पॉजिटिव मरीज 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 13 मौत, रिकॉर्ड 1278 नए केस, जोधपुर में मिले सर्वाधिक 202 पॉजिटिव मरीज 

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के मरीजों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 13 मरीजों की मौत हो गई. जबकि रिकॉर्ड 1278 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. अजमेर में एक, भरतपुर में तीन, बीकानेर में 2, पाली में 1, जयपुर में 3,जैसलमेर में 2 और राजसमंद में 1 मरीज की मौत हो गई. जोधपुर में सर्वाधिक 202 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले. अजमेर 119, अलवर 150, बांसवाड़ा 29, बारां 6, बाड़मेर 15, भरतपुर 22, बीकानेर 126, बूंदी 22, चित्तौड़गढ़ 28, दौसा 27, डूंगरपुर 29, श्रीगंगानगर 13, जयपुर 166, झुंझुनूं 14, जोधपुर 202, करौली 7, कोटा 61, नागौर 64, पाली 30, प्रतापगढ़ 10, सवाईमाधोपुर 4, सीकर 89, टोंक 19, उदयपुर में 43 पॉजिटिव मिले. 
प्रदेश में मौत का आंकड़ा 846 पहुंच गया. कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 58 हजार 692 पहुंच गई.

अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव, ट्वीट करके कहा-कुछ दिन घर पर होम क्वारंटीन रहूंगा

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए कुल 43 हजार 897 मरीज:
प्रदेश में कोरोना के इलाज के बाद कुल 43 हजार 897 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. वहीं इलाज के बाद अस्पताल से कुल 41 हजार 963 मरीज डिस्चार्ज किए गए. अस्पताल में कुल 13 हजार 949 एक्टिव मरीज उपचाररत है. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 8 हजार 888 पहुंच गई है.

जयपुर में बढ़ता कोरोना का खौफ: 
जयपुर में कोरोना वायरस का खौफ बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 3 मरीजों की मौत हो गई. जबकि रिकॉर्ड 166 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. आदर्श नगर- 4, अजमेर रोड- 2, अंबाबाड़ी- 2, आमेर- 1, बगरू- 1 पॉजिटिव, बनीपार्क- 2, ब्रह्मपुरी- 5, सेंट्रल जेल घाटगेट- 5, चांदपोल- 2 पॉजिटिव, सी-स्कीम- 1, स्वास्थ्य निदेशालय- 1, दूदू- 1, दुर्गापुरा- 2, ईदगाह- 6 पॉजिटिव, गलता गेट- 1, गांधी नगर- 4, गंगापोल- 1, गोपालपुरा- 2, गोविंदगढ़- 4 पॉजिटिव, हरमाड़ा- 4, हसनपुरा- 1, हाईकोर्ट -5, जगतपुरा- 8, जमवारामगढ़- 2 पॉजिटिव, जवाहर नगर- 5, झोटवाड़ा- 8, जौहरी बाजार- 2, ज्योति नगर- 2 पॉजिटिव, कोटपूतली- 4, लूणियावास- 1, मालवीय नगर- 8, मानसरोवर- 9 पॉजिटिव, प्रवासी- 1, मुरलीपुरा- 4, फागी- 2, रामगंज- 3, रेनवाल- 2, सांगानेर- 7 पॉजिटिव, सेठी कॉलोनी- 1, सीकर रोड- 2, सिरसी- 2, सीतापुरा- 1, SMS- 2 पॉजिटिव, सोडाला- 6, सुभाष चौक- 3, तिलक नगर- 3, टोंक फाटक- 1 पॉजिटिव, टोंक रोड- 5, ट्रांसपोर्ट नगर- 2, वैशाली नगर- 2, विद्याधर नगर- 8 पॉजिटिव मरीज मिले है. जयपुर में अब तक 226 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 7 हजार 144 पॉजिटिव मिले है.

देश के नाम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संबो​धन,कहा-गलवान घाटी के वीरों पर देश को गर्व

जयपुर में आफत की बारिश, कानोता बांध में बोलेरो बहने से 3 लोगों की मौत, बारिश ने पूरे शहर को किया जाम   

जयपुर में आफत की बारिश, कानोता बांध में बोलेरो बहने से 3 लोगों की मौत, बारिश ने पूरे शहर को किया जाम   

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर में जमकर मेघ बरसे. जिसकी वजह से सडकों पर पानी भर गया. कहीं पर बिजली के पोल गिरे तो कहीं पर पेड़ गिरने की खबर सामने आई है. खबर कानोता से सामने आई है, जहां पर बोलेरो बहने की वजह से 3 लोगों की मौत हो गई. बोलेरो में 6 लोग सवार बताए जा रहे थे. जिसमें तीन लोगों को बचा लिया गया, जबकि 3 लोगों की बहने की वजह से मौत हो गई. जयपुर के परकोटे में भादों ने तरबतर कर दिया, नीचले इलाकों में पानी भर गया.

जयपुर में आफत की बारिश:
गाड़ियां पानी में तरने लगी. आपको बता दें कि जयपुर में 10 घंटे में दोपहर एक बजे तक 10 घंटे में 10.7 इंच बारिश हुई. जिले के जमवारामगढ़ में सबसे ज्यादा 10 इंच बारिश हुई. शुक्रवार की सुबह राजधानी के लोगों के लिए बारिश आफत बनकर आई. बरसात में कई कच्चे मकान ढह गए. जयपुर में आसमान से आफत बनकर बरसी बारिश ने पूरे शहर को जाम कर दिया. शहर बारिश के पानी में जलमग्न हो गया. हर गली, हर सड़क, हर बाजार पानी से भरा दिखाई दिया. सबसे बुरे हालात परकोटे में देखने को मिले. 

राजस्थान: गहलोत सरकार ने हासिल किया विधानसभा में विश्वास मत, 21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित

बारिश से पहाड़ी का एक हिस्सा टूटा:
दिल्ली रोड स्थित संकटमोचक हनुमान मंदिर के पास बारिश से पहाड़ी का एक हिस्सा ढह  गया. बाढ़ के हालात को देखते हुए शहर में 4 स्थानों पर NDRF की टीम को तैनात किया गया. जल महल, घाटगेट, कमिश्नरेट और कलेक्ट्रेट में टीमें तैनात की गईँ. जयपुर शहर में परकोटे और सांगानेर में दुकानों-मकानों में पानी घुस गया. शहर के चारदीवारी में जौहरी बाजार चौड़ा रास्ता, रामगंज, सुभाष चौक, किशनपोल, एमआई रोड, आगरा तथा दिल्ली रोड, पांचबत्ती सहित मुख्य बाजारों में सड़कों पर 5 से 6 फीट तक पानी भर गया. जिसकी वजह से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया.

कोनोता बांध में बोलेरो बही:
परकोटे की सकरी गलियों में बारिश का पानी नदी जैसे उफान मारता निकला. जयपुर स्थित कानोता बांध में बोलेरो बह गई. गाड़ी में सवार 6 लोग सवार थे. इनमें से 3 लोगों की मौत हो गई जबकि 3 लोगों को बचा लिया गया. 

सरकार के विश्वास मत हासिल करने के बाद बोले सचिन पायलट, जो भी अटकलें लगाई जा रही थी उन पर आज लग गया विराम

सरकार के विश्वास मत हासिल करने के बाद बोले सचिन पायलट, जो भी अटकलें लगाई जा रही थी उन पर आज लग गया विराम

जयपुर: राजस्थान विधानसभा में गहलोत सरकार के विश्वास मत हासिल करने के बाद पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि आज सदन के अंदर सरकार ने विश्वास मत जीता, जो भी अटकले लगाई जा रही थी उन पर आज विराम लग गया. कांग्रेस के विधायकों ने एकजुटता का संदेश दिया. आने वाले समय में हम पूरी ताकत के साथ काम करेंगे. पर्दे के पीछे भाजपा में छुरियां चल रही है. भाजपा नेताओं को इस पर ध्यान देना चाहिए. ना कि हमारे बीच क्या चल रहा है इस पर. इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सचिन पायलट ने विश्वास मत जीतने पर बधाई दी. 

सरहद पर भेजा जाता है सबसे मजबूत योद्धा को: 
सदन में सचिन पायलट ने कहा आपने मेरी सीट में बदलाव किया और सीट को मैंने यहां पाया. पहले मैं वहां बैठता था तो सुरक्षित था, सरकार का हिस्सा था. फिर मैंने सोचा अध्यक्ष महोदय ने मेरी सीट यहां पर क्यों रखी है? 2 मिनट मैंने सोचा और देखा यह सरहद है, सरहद पर सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है. 

सदन में विपक्ष पर जमकर बरसे सीएम गहलोत, कहा-राजस्थान में किसी कीमत पर नहीं गिरने दूंगा सरकार

धरातल पर हमने लिया संकल्प:
हम लोगों ने अपने मर्जी को जिस डॉक्टर को बताना था बता दिया. इलाज कराने के बाद अब हम सदन में सब लोग आए हैं, तो कहने सुनने वाली बातों से परे हटकर आज वास्तविकता पर ध्यान देना पड़ेगा. धरातल पर हमने संकल्प लिया. बैठकर बातें करके सारी बातें खत्म करके प्रवेश किया है, तो इस सरहद पर कितनी भी गोलाबारी हो. हम सब लोग हमें कवच और ढाल बनकर सुरक्षित रखने का काम करेंगे.

21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित:
आपको बता दें कि पिछले एक माह से राजस्थान में सियासी संकट जारी था. इस बीच शुक्रवार को 15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र शुरू हुआ. जिसमें गहलोत सरकार ने विधानसभा में विश्वास मत हासिल किया. ध्वनि मत से सदन में विश्वास मत पारित हुआ. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सदन में विश्वास मत जीता. अब 21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित की गई. विश्वास मत हासिल करने पर सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री गहलोत को बधाई दी. 

राजस्थान: गहलोत सरकार ने हासिल किया विधानसभा में विश्वास मत, 21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित

राजस्थान: गहलोत सरकार ने हासिल किया विधानसभा में विश्वास मत, 21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित

राजस्थान: गहलोत सरकार ने हासिल किया विधानसभा में विश्वास मत, 21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित

जयपुर: पिछले एक माह से राजस्थान में सियासी संकट जारी था. इस बीच शुक्रवार को 15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र शुरू हुआ. जिसमें गहलोत सरकार ने विधानसभा में विश्वास मत हासिल किया. ध्वनि मत से सदन में विश्वास मत पारित हुआ. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सदन में विश्वास मत जीता. अब 21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित की गई. विश्वास मत हासिल करने पर सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री गहलोत को बधाई दी. 

सीएम गहलोत बीजेपी पर जमकर बरसे:
इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरकार के विश्वास मत पर सदन में संबो​धन दिया. इस दौरान सीएम गहलोत बीजेपी पर जमकर बरसे. सीएम गहलोत ने कहा कि आप में से कई लोग नहीं चाहते कि सरकार गिराई जाए. BJP के नेता छिपकर रात को दिल्ली गए. छिपकर तभी काम करते हैं जब षड्यंत्र होता है. बीजेपी के कुछ नेता मुख्यमंत्री बनने के ख्वाब देखने लगे. सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान सरकार किसी कीमत पर नहीं गिरने दूंगा. आप कौन होते हो हमारी पार्टी के बारे में बोलने वाले?

15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र, शांति धारीवाल बोले, प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण

आज नेता प्रतिपक्ष का नया रूप देखने को मिला:
सीएम गहलोत ने सदन में नेता प्रतिप​क्ष गुलाबचंद कटारिया के वक्तव्य पर पलटवार करते हुए कहा कि आज नेता प्रतिपक्ष का नया रूप देखने को मिला है. मैं उनके सभी आरोपों को अस्वीकार करता हूं. कोरोना प्रबंधन में तो पीएम और दुनिया ने तारीफ की. लेकिन आप ने उसकी भी तारीफ नहीं की. हमारी पार्टी में खूबसूरती के साथ एपिसोड का समापन हुआ. इसका धक्का अमित शाह को लगा है. इस षड्यंत्र में केंद्र के नेता शामिल थे.विधायकों की कोई फोन टेपिंग नहीं हुई. षड्यंत्र BJP और BJP आलाकमान का था.बीजेपी ने पूरे देश मे नंगा नाच किया. देश में डेमोक्रेसी खतरे में है.

वसुंधरा जी को उनके सलाहकारों ने किया गुमराह:
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि वसुंधरा जी को उनके सलाहकारों ने गुमराह किया. कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि हम जीवन व आजीविका बचाने का काम कर रहे हैं. और लोग सरकार गिराने में लगे हुए है. 14 विधायक तोड़ने के बावजूद अहमद पटेल को नहीं हरा सके. विधायकों के पास जनता का फोन आता है कि सरकार गिरनी नहीं चाहिए. राज्यपाल के पद की गरिमा होती है. सीएम गहलोत ने कहा कि राज्यपाल के पत्र का मैंने जवाब दे दिया था, लेकिन मैं उसका उल्लेख सदन में नहीं करना चाहता.

चुनी हुई सरकारों को गिराने का करते है काम: 
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि देश में 2 लोग राज कर रहे हैं. लेकिन राजस्थान में कुछ नहीं कर पाए. चुनी हुई सरकारों को गिराने का काम करते है. 100 चूहे खाकर बिल्ली  हज को निकली. 50 साल से मैं राजनीति कर रहा हूं,तीसरी बार मैं मुख्यमंत्री बना हूं.कैलाश मेघवाल के बयान की सब जगह तारीफ हुई. भैरोसिंह की सरकार गिराने का प्रयास हुआ,तब मैं उसके खिलाफ था.

15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र, सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर बहस, गुलाबचंद कटारिया के वक्तव्य पर हुआ हंगामा

सदन में विपक्ष पर जमकर बरसे सीएम गहलोत, कहा-राजस्थान में किसी कीमत पर नहीं गिरने दूंगा सरकार 

सदन में विपक्ष पर जमकर बरसे सीएम गहलोत, कहा-राजस्थान में किसी कीमत पर नहीं गिरने दूंगा सरकार 

जयपुर: 15वीं राजस्थान विधानसभा के पांचावे सत्र में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरकार के विश्वास मत पर सदन में संबो​धन दिया. इस दौरान सीएम गहलोत बीजेपी पर जमकर बरसे. सीएम गहलोत ने कहा कि आप में से कई लोग नहीं चाहते कि सरकार गिराई जाए. BJP के नेता छिपकर रात को दिल्ली गए. छिपकर तभी काम करते हैं जब षड्यंत्र होता है. बीजेपी के कुछ नेता मुख्यमंत्री बनने के ख्वाब देखने लगे. सीएम गहलोत ने कहा कि  राजस्थान सरकार किसी कीमत पर नहीं गिरने दूंगा. आप कौन होते हो हमारी पार्टी के बारे में बोलने वाले?

आज नेता प्रतिपक्ष का नया रूप देखने को मिला:
सीएम गहलोत ने सदन में नेता प्रतिप​क्ष गुलाबचंद कटारिया के वक्तव्य पर पलटवार करते हुए कहा कि आज नेता प्रतिपक्ष का नया रूप देखने को मिला है. मैं उनके सभी आरोपों को अस्वीकार करता हूं. कोरोना प्रबंधन में तो पीएम और दुनिया ने तारीफ की. लेकिन आप ने उसकी भी तारीफ नहीं की. हमारी पार्टी में खूबसूरती के साथ एपिसोड का समापन हुआ. इसका धक्का अमित शाह को लगा है. इस षड्यंत्र में केंद्र के नेता शामिल थे.विधायकों की कोई फोन टेपिंग नहीं हुई. षड्यंत्र BJP और BJP आलाकमान का था.बीजेपी ने पूरे देश मे नंगा नाच किया. देश में डेमोक्रेसी खतरे में है.

15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र, शांति धारीवाल बोले, प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण

वसुंधरा जी को उनके सलाहकारों ने किया गुमराह:
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि वसुंधरा जी को उनके सलाहकारों ने गुमराह किया. कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि हम जीवन व आजीविका बचाने का काम कर रहे हैं. और लोग सरकार गिराने में लगे हुए है. 14 विधायक तोड़ने के बावजूद अहमद पटेल को नहीं हरा सके. विधायकों के पास जनता का फोन आता है कि सरकार गिरनी नहीं चाहिए. राज्यपाल के पद की गरिमा होती है. सीएम गहलोत ने कहा कि राज्यपाल के पत्र का मैंने जवाब दे दिया था, लेकिन मैं उसका उल्लेख सदन में नहीं करना चाहता.

चुनी हुई सरकारों को गिराने का करते है काम: 
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि देश में 2 लोग राज कर रहे हैं. लेकिन राजस्थान में कुछ नहीं कर पाए. चुनी हुई सरकारों को गिराने का काम करते है. 100 चूहे खाकर बिल्ली  हज को निकली. 50 साल से मैं राजनीति कर रहा हूं,तीसरी बार मैं मुख्यमंत्री बना हूं.कैलाश मेघवाल के बयान की सब जगह तारीफ हुई. भैरोसिंह की सरकार गिराने का प्रयास हुआ,तब मैं उसके खिलाफ था.

15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र, सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर बहस, गुलाबचंद कटारिया के वक्तव्य पर हुआ हंगामा

15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र, सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर बहस, गुलाबचंद कटारिया के वक्तव्य पर हुआ हंगामा

15वीं राजस्थान विधानसभा का पांचवां सत्र, सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर बहस, गुलाबचंद कटारिया के वक्तव्य पर हुआ हंगामा

जयपुर: 15वीं राजस्थान विधानसभा के पंचम सत्र में सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर बहस हो रही है. इस पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया अपना वक्तव्य दे रहे है. गुलाबचंद कटारिया ने राज्यपाल को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत की टिप्पणी पर कहा आपके मन में जहर भर गया था और ध्यान भी नहीं रहा कि आप मुख्यमंत्री है. SOG ने मुख्यमंत्री और मंत्री पर भी धारा 124 लगा दी, फिर आपको ही FR लगानी पड़ी. गुरुग्राम में SOG टीम जिन विधायकों को तलाश रही थी, वह विधायक आपके घर पर आपके साथ चाय पी रहा था. विधानसभा में सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर बहस में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का वक्तव्य हुआ. इस दौरान सदन में जमकर हंगामा हुआ. स्पीकर ने हस्तक्षेप कर फिर हंगामे को शांत कराया. 

स्पीकर ने रखी बागी विधायकों के नोटिस पर बात:
विधानसभा में सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर बहस में संसदीय कार्यमंत्री के रवैये पर स्पीकर की तल्खी. स्पीकर ने व्यवस्था और नियमों का हवाला देते हुए धारीवाल को बार-बार बीच में बोलने पर पर स्पीकर ने टोका. स्पीकर ने नाराजगी जताते हुए कह दिया-'कुर्सी छोड़ दूंगा. स्पीकर ने नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री से भी हस्तक्षेप की मांग की. स्पीकर ने बागी विधायकों को नोटिस को लेकर भी बात रखी.

15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र, शांति धारीवाल बोले, प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण

सदन में विश्वास प्रस्ताव पर सतीश पूनियां का वक्तव्य:
सदन में विश्वास प्रस्ताव पर सतीश पूनियां ने अपना वक्तव्य देते हुए विश्वास प्रस्ताव पर विरोध दर्ज कराया है. पूनियां ने कहा कि अंताक्षरी क्रिकेट मैदान जैसी बातें थी.लेकिन चीख गैंगरेप और कोरोना की मौतों की भी थी. बात लोकतंत्र की कर रहे थे लेकिन सरकार बड़ेबंदी से चला रहे थे. लोकतंत्र की बात करते हैं तो क्यों भूल जाते हैं.आर्टिकल 356 का दुरुपयोग इन्होंने किया. आपातकाल का हिंदुस्तान की जनता हिसाब मांगेगी. राजस्थान का जुगाड़ मशहूर है जुगाड़ के लिए जादूगर भी मशहूर हैं. 2008 में और 2018 में एलीफेंट ट्रेडिंग के आविष्कारक आप हैं. जो पूरे के पूरे हाथी को निगलते हैं. राजस्थान का किसान आपसे जवाब मांगेगा. बेरोजगार आपकी सरकार से जवाब मांगता हैं आपके पास जवाब नहीं है.

सरहद पर सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है:
राजेंद्र राठौड़ के संबोधन के बीच में सचिन पायलट ने कहा आपने मेरी सीट में बदलाव किया और सीट को मैंने यहां पाया. पहले मैं वहां बैठता था तो सुरक्षित था, सरकार का हिस्सा था. फिर मैंने सोचा अध्यक्ष महोदय ने मेरी सीट यहां पर क्यों रखी है? 2 मिनट मैंने सोचा और देखा यह सरहद है, सरहद पर सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है. हम लोगों ने अपने मर्जी को जिस डॉक्टर को बताना था बता दिया. इलाज कराने के बाद अब हम सदन में सब लोग आए हैं, तो कहने सुनने वाली बातों से परे हटकर आज वास्तविकता पर ध्यान देना पड़ेगा. धरातल पर हमने संकल्प लिया. बैठकर बातें करें सारी बातें खत्म करके प्रवेश किया है, तो इस सरहद पर कितनी भी गोलाबारी हो. हम सब लोग हमें कवच और ढाल बनकर सुरक्षित रखने का काम करेंगे.

एक दूसरे के प्रति संदेह और घृणा:
भाजपा की ओर उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा, आज इस सदन के अंदर मेरे सामने बैठे लोगों में उत्तेजना देख रहा हूं. एक दूसरे के प्रति संदेह और घृणा देख रहा हूं. इस प्रकार का दृश्य कभी देखा नहीं. आखिर 34 दिन बाद पांच सितारा का बाड़ा तोड़कर सर्वोच्च सदन में आए बहुत बेचैनी भी थी. संगीनों के पहले जैमर लगे होटल. बातचीत इंटरनेट पर कर नहीं पा रहे थे. शांति धारीवाल ने अपने भाषण में न्यायालय को नहीं छोड़ा. महाभारत के प्रसंग बता दिया महामहिम राष्ट्रपति को नहीं छोड़ा. देश के गृहमंत्री और प्रधानमंत्री का नाम ले दिया.डेढ़ महीने से राजस्थान इस हाईप्रोफाइल ड्रामा को देख रहा है. इस ड्रामे के निर्देशक निर्माता नायक और खलनायक कौन है? कल कुछ टूटे दिल मिले, लेकिन परिवार के मुखिया के रूप में मुख्यमंत्री कामयाब नहीं हुए. राठौड़ ने कानून व्यवस्था के क्रमवार आंकड़े गिनाते हुए कहा कि कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही है. 

मूसलाधार बारिश से जयपुर की सड़कें हुई पानी से लबालब, गुलाबीनगर में पानी में डूबी गाड़ियां,  बिजली तंत्र को काफी नुकसान

मूसलाधार बारिश से जयपुर की सड़कें हुई पानी से लबालब, गुलाबीनगर में पानी में डूबी गाड़ियां,  बिजली तंत्र को काफी नुकसान

मूसलाधार बारिश से जयपुर की सड़कें हुई पानी से लबालब, गुलाबीनगर में पानी में डूबी गाड़ियां,  बिजली तंत्र को काफी नुकसान

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर में शुक्रवार सुबह भादों में इंद्रदेव मेहरबान हुए. जयपुर में मूसलाधार बारिश की वजह से कई इलाके जलमग्न हो गए. हालात बाढ़ जैसे हो गए. कई जगहों पर पेड टूट कर गिर गए, तो कहीं पर सडकों पर भारी पानी जमा होने की वजह से बस डिवाइडर पर चढ गई. वाहन चालकों को काफी समस्याओं का सामना करना  पडा. जोरदार बारिश से शहरभर की सड़कें पानी में डूब गई, कई कॉलोनियों व निचले इलाके जलमग्न हो गए हैं. जयपुर में बारिश इतनी तेजी से आई कि लोगों को संभलने का मौका ही नहीं मिला. लोगों ने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड यहां तक कि एटीएम में पनाह ली. 

परकोटा में भी सड़कों पर भरे पानी से जनजीवन को प्रभावित:
मानसून की सक्रियता कई जगह अब आफत बनती दिखाई दी. गुरुवार को सुबह से ही राजधानी में झमाझम बारिश का दौर जारी है. वहीं प्रदेश के कई जिलों में होने वाली बारिश ने जनजीवन अस्त - व्यस्त कर दिया है. जयपुर के कुछ इलाकों की रोड पर बारिश के पानी का तेज बहाव इतना दिखा कि लोग उसमें बहने लगे. जैसे तैसे लोगों ने अपने लोगों को बचाया. राजधानी जयपुर की सड़कों पर लबालब पानी भर गया है. तेज बारिश ने लोगों को जहां- के तहां ही स्थिर कर दिया है. राजस्थान विधानसभा से लेकर स्टेच्यु ले जाने वाली रोड पर भी भारी जल जमाव की स्थिति हो गई है. दिल्ली की ओर से जाने वाले जल महल क्षेत्र में भी बारिश का सबसे ज्यादा असर देखने को मिल रहे हैं. यहां कई इलाकों में पानी भर गया, जिससे दुपहिया और चौपहिया वाहन डूबते से नजर आए. परकोटा में भी सड़कों पर भरे पानी से जनजीवन को प्रभावित किया.

जोधपुर में जघन्य हत्याकांड का हुआ खुलासा, पुलिस ने पत्नी सीमा सहित 4 आरोपियों को किया गिरफ्तार

मौसम विभाग की चेतावनी:
मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश के कई जिलों में अगले कुछ दिनों में तेज बारिश का दौर जारी रहेगा. अजमेर, भीलवाड़ा और राजसमंद में रेड अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग ने शुक्रवार को प्रदेश के 3 जिलों में अत्यधिक भारी बरसात का रेड अलर्ट और 23 जिलों में भारी बरसात का ऑरेंज-यलो अलर्ट जारी किया है. पूर्वी राजस्थान में कई जगहों पर भारी से अत्यधिक भारी बरसात हो सकती है और विभाग ने इसे लेकर रेड अलर्ट भी जारी किया है. 14 से 17 अगस्त तक अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़ढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक, उदयपुर, चूरू, नागौर, पाली और जालौर में भारी से अति भारी बारिश हो सकती है.

मूसलाधार बरसात से बिजली तंत्र को काफी नुकसान:
जयपुर में  मूसलाधार बरसात से बिजली तंत्र को काफी नुकसान हुआ है. जामडोली पुराना घाट समेत आसपास के इलाकों में 37 बिजली के पोल गिरे. मालवीय नगर में दो ट्रांसफार्मर भी पानी भराव के चलते गिरे. इसके अलावा विभिन्न जगहों पर 14 बिजली के पोल-2 ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हुए. 5 जगहों पर RMU से सप्लाई बाधित हुई. सिटी सर्किल के अधीक्षण अभियंता एसके राजपूत स्थिति पर नजर बनाए हुए. इलाके बार बिजली आपूर्ति का पल पल का फीडबैक ले रहे है. फिलहाल एहतियातन शहर में 28 बिजली फीडरों पर सप्लाई बंद कर रखी है.

15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र, शांति धारीवाल बोले, प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण

15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र, शांति धारीवाल बोले, प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण

15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र, शांति धारीवाल बोले, प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण

जयपुर: 15वीं राजस्थान विधानसभा का पंचम सत्र चल रहा है. वंदे मातरम के साथ सदन की कार्यवाही शुरू हुई. दिवंगत प्रबुद्धजनों के लिए सदन में शोकाभिव्यक्ति की गई. मिजोरम,मणिपुर और झारखंड के पूर्व राज्यपाल वेद मारवाह, मध्य प्रदेश के पूर्व राज्यपाल लालजी टंडन, छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, महाराष्ट्र के पूर्व सीएम शिवाजीराव पाटील निलांगेकर, पूर्व विधायक भंवरलाल शर्मा, बजरंगलाल शर्मा, हनुमान सहाय व्यास, गलवान घाटी शहीद हुए सैनिकों को सदन में श्रद्धांजलि दी गई. सदन में दो मिनट का मौन रखकर दिवंगतों को श्रद्धांजलि दी गई. जयपुर में बारिश की वजह से कई विधायक देरी से सदन पहुंचे. 

शांति धारीवाल का संबोधन:
संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने सदन में अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश नहीं देश की जनता के लिए ऐतिहासिक क्षण है. हमारे लिए खासतौर से परीक्षा का समय है. राजनीतिक दलों के लिए परीक्षा का समय है. एक तरफ गांधीवादी चेहरा सबके सामने है और दूसरी तरफ अहंकार ही अहंकार है. गहलोत सरकार ने किसानों का कर्ज माफ किया है. कोरोना को नियंत्रित करने के लिए सरकार ने बेहतर प्रबंधन किया. पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने वादा किया कोई भूखा नहीं सोएगा और यह वादा आज भी निरंतर पूरा किया जा रहा है. 55 लाख लोगों को रोजगार दिया गया. OBC के लिए सिर्फ 8 लाख की शर्त की गई. लेकिन केंद्र सरकार ने बदलाव नहीं किया. धारीवाल बोल ने कहा कि केंद्र के इशारे पर एमपी,मणिपुर,गोवा में सरकार को गिराया गया. धन व सत्ता के बल पर गिराया गया.

अडाणी और अंबानी को लेकर लगाए आरोप:
इस बीच धारीवाल ने अडाणी और अंबानी को लेकर आरोप लगाए. कहा-बेशकीमती जमीनों को कोड़ियों में दिया गया. दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर BJP ने जो दफ्तर बनाया, वहां से 500 करोड़ किसके पास गया. राजस्थान में खरीद फरोख्त के लिए 500 करोड़ रुपये आये. उसका हिसाब जनता मांगेगी. राठौड़ व पूनियां साहब आपस में झगड़ा मत करना वरना भंडा फूट जाएगा. पैसा दिया है तो हिसाब तो मांगा जाएगा. अकबर व महाराणा प्रताप का किस्सा सुनाया. जब अकबर मेवाड़ पहुंचा तो महाराणा प्रताप ने नाको चने चबा दिए. अब BJP वाले राजस्थान पहुंचे, तो राजस्थान के रण बांकुरों ने उनको दिन में तारे दिखा दिए. 

धारीवाल ने यमुना जी के घाट पर कविता सुनाई:
अशोक गहलोत ने उनको छठी का दूध याद दिला दिया. ED,CBI या अन्य एजेंसी लेकर आये. चाहे जितनी एजेंसी ले आओ कुछ नहीं बिगाड़ सकते है. सिर्फ फौज ही नहीं लेकर आये, फौज भी लेकर आ जाते है. धारीवाल ने यमुना जी के घाट पर कविता सुनाई. छोटा भाई और मोटा भाई ने विधायकों के लिए MSP बढ़ा दी. विधायकों ने हाथ जोड़ लिए इतनी बड़ी रकम कहां रखेंगे. पत्नी ने कहा इतने पैसे आये तो बच्चे बिगड़ जाएंगे. मोड ऑफ ऑपरेंडी की जगह मोदीज ओपरेंडी शब्द आ गया.व्यक्ति की जैसी संगत होगी वैसी ही रंगत होगी. हमारे विधायकों की बाड़ेबंदी बताई गई. BJP ने क्या विधायकों को गुजरात रासलीला रचाने भेजे थे.

Open Covid-19