Live News »

कर्जे से परेशान होकर युवक ने मस्जिद में फांसी का फंदा लगाकर की खुदखुदी

कर्जे से परेशान होकर युवक ने मस्जिद में फांसी का फंदा लगाकर की खुदखुदी

अजमेर: धार्मिक नगरी अजमेर में आज कर्जे से परेशान होकर एक युवक ने मस्जिद में ही फांसी के फंदे पर लटक कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली. गंज थाना क्षेत्र के लोंगिया स्थित मस्जिद में लोंगिया निवासी मोहम्मद फरीद ने फांसी के फंदे पर लटक कर आत्महत्या कर ली.  

जयपुर के अजमेरी गेट में पटाखों की दुकान में लगी भीषण आग, बाजार में भगदड़ की स्थिति 

परिजनों ने पोस्टमार्टम करवाने के लिए मना किया:
मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर दरगाह सीओ रजत विश्नोई पहुंचे और उन्होंने मामले की पड़ताल शुरू की. वहीं परिजनों ने पोस्टमार्टम करवाने के लिए मना कर दिया.  बताया यह जा रहा है कि फरीद कर्जा होने से परेशान चल रहा था. वहीं पुलिस और परिजनों को फरीद के आसपास से किसी तरह का सुसाइड नोट नहीं मिला है. 

राजस्थान सरकार ने किए 12 RAS अधिकारियों के तबादले, यहां देखे पूरी लिस्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Update: प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 54, तो भीलवाड़ा से किसी भी व्यक्ति को बाहर ना जाने देने के निर्देश

Rajasthan Corona Update:  प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 54, तो भीलवाड़ा से किसी भी व्यक्ति को बाहर ना जाने देने के निर्देश

जयपुर: प्रदेशभर में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है. प्रदेश में पिछले 12 घंटे में 4 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 54 पहुंच गया है. भीलवाड़ा में 3 मामले सामने आये है, जबकि अजमेर जिले में एक मामला सामने आया है. प्रदेश के भीलवाड़ा में कोरोना वायरस की वजह से हालत खराब है. भीलवाड़ा में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 24 पहुंच गई है. भीलवाड़ा के बांगड़ हॉस्पिटल में कार्यरत टाइपिस्ट कोरोना कोरोना की चपेट में आ गया है, एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने जानकारी दी. 

सीएम गहलोत का बड़ा फैसला:
प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में कोरोना वायरस के बढते पॉजिटिव मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है. सीएम गहलोत ने भीलवाड़ा जिला कलेक्टर को निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी व्यक्ति को भीलवाड़ा से बाहर ना जाने दें. भीलवाड़ा को कोरोना का एपिकसेंटर बनने से रोकें. भीलवाड़ा में मास लेवल पर स्क्रीनिंग की जाए, ताकि दूसरी जगह संक्रमण न फैल सके.

Lockdown: पैदल यात्रा को मजबूर हुए लोग, भामाशाहों ने राहगीरों के लिए जुटाया भोजन-पानी

अजमेर के क्लॉक टावर थाना क्षेत्र में कर्फ्यू:
अजमेर में कोरोना वायरस एक पॉजिटिव मरीज मिलने से चिकित्सा विभाग में हड़कंप मच गया है. यह मरीज  अजमेर के डिग्गी बाजार का बताया जा रहा है. मोहम्मद को शुक्रवार को भर्ती किया गया था. शनिवार को उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है. अजमेर के क्लॉक टावर थाना क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है. यात्री और भिखारियों को रेलवे स्टेशन और आसपास के क्षेत्र में शिफ्ट किया गया है. करीब 200 से 300 लोगों को राइक्वे म्यूजियम में शिफ्ट किया गया है.

रामगंज में दहशत का माहौल:
जयपुर के रामगंज में दूसरा पॉजिटिव मरीज सामने आने से क्षेत्र में दहशत का माहौल है. ओमान से लौटे पॉजिटिव मरीज का दोस्त मोहम्मद हनीफ भी कोरोना की चपेट में आ गया है. ये पॉजिटिव मरीज भी खुद को पूरी तरह स्वस्थ्य बताकर अपने दोस्तों से मिलता रहा है. देखते ही देखते हनीफ भी कोरोना की चपेट में आ गया. जयपुर में इस तरह ट्रांसमिशन का यह पहला केस सामने आया है, जब बाहर से आए किसी पॉजिटिव ने स्थानीय को बीमारी की चपेट में ले लिया. ये प्रक्रिया ही कोरोना की थर्ड स्टेज कहलाती है. चिकित्सा विभाग के लिए रामगंज केस एक बड़ी चुनौती बन गया है. अब दोनों मरीजों के कांटेक्ट पर्सन को तलाशना बेहद मुश्किल काम है. हालांकि, CMHO प्रथम नरोत्तम शर्मा की टीम फील्ड में जुटी हुई है. 

Rajasthan Lockdown: मजदूरों के लिए सबसे बड़ी राहत भरी खबर, शुरू होगी राजस्थान रोडवेज बस सेवा

7 थाना इलाकों में कर्फ्यू:
जयपुर के रामगंज इलाके में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद शुक्रवार को रामगंज समेत शहर के 7 थाना इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. इनमें रामगंज, सुभाष चौक, माणक चौक और कोतवाली के संपूर्ण क्षेत्र में तथा गलता गेट, ब्रह्मपुरी व नाहरगढ़ थाना इलाके के चादीवारी क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है. इसके बाद पुलिस और सतर्क हो गई है.

अजमेर में भी मिला कोरोना पॉजिटिव मरीज, पंजाब से आया था 23 वर्षीय युवक

अजमेर में भी मिला कोरोना पॉजिटिव मरीज, पंजाब से आया था 23 वर्षीय युवक

अजमेर: जिले में भी अब कोरोना पॉजिटिव मरीजी मिलने से हाहाकार मच गया. अजमेर में अभी तक एक भी मरीजी पॉजिटिव नही था. लेकिन आज सुबह की जांच में एक मरीजी कि रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई. जानकारी के अनुसार 23 वर्षीय युवक को कोरोना पॉजिटिव हुआ है. यह युवक  पंजाब से 22 मार्च को अजमेर आया था. यह युवक सेल्समैन का काम करता है. हालांकि अधिकारियों ने युवक के बारे में किसी तरह की जानकारी साझा नही की है.

VIDEO: सीएम अशोक गहलोत ने लिखा कई राज्यों के CM को पत्र, राजस्थानियों की संभाल करने की मांग

प्रशासन ने पूरे क्षेत्र में अलर्ट घोषित किया:
वहीं बताया जा रहा है कि युवक डिग्गी चौक के आस पास के क्षेत्र में रह रहा था. प्रशासन ने पूरे क्षेत्र में अलर्ट घोषित कर दिया और आसपास के सभी लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है. वहीं प्रशासन और चिकत्सा महकमें में भी हड़कम्प मच गया हैं. वही अभी तक किसी ने भी इसकी आधिकारिक घोषणा नही की है. लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार युवक 22 मार्च से अजमेर में ही घूम रहा था और कल रात्रि में ही युवक को पकड़ कर सैंपल किये गए है जिसके बाद सुबह रिपोर्ट में युवक पॉजिटिव पाया गया.

कोरोना महामारी की आपदा को लेकर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, मिल गई खात्मे की डेट 

प्रशासन कर रहा संपर्क में आए लोगों की सूची तैयार:
वही पुलिस ने आसपास के सभी क्षेत्र में सख्ती के साथ दुकानें और सभी तरह की रोक लगा कर बन्द करवा दिया हैं. वहीं प्रशासन और पुलिस युवक के संपर्क में आये लोगों की सूची तैयार कर रही है जिससे जल्द से जल्द उन सभी लोगों का पता लगाया जा सके और स्तिथि को काबू में लिया जा सके.

Rajasthan Corona Update: पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 52, भीलवाड़ा और अजमेर में आया 1-1 पॉजिटिव केस सामने

Rajasthan Corona Update: पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 52, भीलवाड़ा और अजमेर में आया 1-1 पॉजिटिव केस सामने

जयपुर: प्रदेशभर में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है. प्रदेश में पिछले 12 घंटे में 2 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 52 पहुंच गया है. भीलवाड़ा और अजमेर में 1-1 पॉजिटिव केस सामने आया है. प्रदेश के भीलवाड़ा में कोरोना वायरस की वजह से हालत खराब है. यहां पर पॉजिटिव मरीजों की संख्या ज्यादा है. भीलवाड़ा के बांगड़ हॉस्पिटल में कार्यरत टाइपिस्ट कोरोना कोरोना की चपेट में आ गया है, जबकि अजमेर में पंजाब से लौटा सेल्समैन पॉजिटिव पाया गया.

Coronavirus Updates: पूरी दुनिया में कोरोना का कहर, विश्वभर में संक्रमितों की संख्या पहुंची 6 लाख

रामगंज में दहशत का माहौल 
जयपुर के रामगंज में दूसरा पॉजिटिव मरीज सामने आने से क्षेत्र में दहशत का माहौल है. ओमान से लौटे पॉजिटिव मरीज का दोस्त मोहम्मद हनीफ भी कोरोना की चपेट में आ गया है. ये पॉजिटिव मरीज भी खुद को पूरी तरह स्वस्थ्य बताकर अपने दोस्तों से मिलता रहा है. देखते ही देखते हनीफ भी कोरोना की चपेट में आ गया. जयपुर में इस तरह ट्रांसमिशन का यह पहला केस सामने आया है, जब बाहर से आए किसी पॉजिटिव ने स्थानीय को बीमारी की चपेट में ले लिया. ये प्रक्रिया ही कोरोना की थर्ड स्टेज कहलाती है. चिकित्सा विभाग के लिए रामगंज केस एक बड़ी चुनौती बन गया है. अब दोनों मरीजों के कांटेक्ट पर्सन को तलाशना बेहद मुश्किल काम है. हालांकि, CMHO प्रथम नरोत्तम शर्मा की टीम फील्ड में जुटी हुई है. 

VIDEO: सीएम अशोक गहलोत ने लिखा कई राज्यों के CM को पत्र, राजस्थानियों की संभाल करने की मांग

7 थाना इलाकों में कर्फ्यू:
जयपुर के रामगंज इलाके में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद शुक्रवार को रामगंज समेत शहर के 7 थाना इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. इनमें रामगंज, सुभाष चौक, माणक चौक और कोतवाली के संपूर्ण क्षेत्र में तथा गलता गेट, ब्रह्मपुरी व नाहरगढ़ थाना इलाके के चादीवारी क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है. इसके बाद पुलिस और सतर्क हो गई है.

कोरोना वायरस के चलते घरों में हो रहे हवन, लॉकडाउन के चलते बाजारों में सन्नाटा

कोरोना वायरस के चलते घरों में हो रहे हवन, लॉकडाउन के चलते बाजारों में सन्नाटा

अजमेर: कोरोना वायरस ने अब भारत में भी अपने पैर पसार दिए है जिसे लेकर अब राज्य सरकार ने 31 मार्च तक लॉकडाउन के आदेश दे दिए है. वहीं कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर देश में जनता कर्फ्यू भी लगाया गया था. वही आज लॉकडाउन को लेकर बाजरों में सन्नाटा दिखाई दिया. वहीं कुछ घरों में लोग इससे बचने के लिए भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं. अजमेर के फॉयसागर चौराहे स्तिथ मकानों में लोग हवन ओर यज्ञ कर रहे हैं. वही कोरोना वायरस से बचने के लिए मंत्रों के साथ आहुति दे रहे हैं.

लॉकडाउन में जरुरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध करवाने के लिए कई संगठन आए आगे 

शुद्ध आहुति से पूरे क्षेत्र में धुंआ किया गया: 
वही भगवान से प्रार्थना भी की जा रही है कि जल्द से जल्द इस महामारी को खत्म किया जाए और जो लोग इसकी चपेट में है वह सभी जल्द स्वस्थ हो जाये. साथ ही परिवार के मुखिया यत्येन्द्र शास्त्री ने जानकारी देते हुए बताया कि हम इस यज्ञ से उन लोगों के लिए भी थे दिल से आभार दे रहे हैं जो इस लड़ाई में हम सभी के लिए बाजरों में निकल कर इस वायरस से लड़ रहे हैं अपनी सेवाएं दे रहे हैं. वही शुद्ध आहुति से पूरे क्षेत्र में धुंआ किया गया जिससे सभी तरह के क्षेत्र में फैले वायरस समाप्त हो साथ ही लोगों को इसका सामना करने की हिम्मत मिल सकें.

Coronavirus Updates: लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर होगा एक्शन, पीएम मोदी ने भी किया ट्वीट 

न्याय की गुहार! दुष्कर्म के आरोपियों की गिरफ्तार की मांग, जिला पुलिस अधीक्षक से मिली पीड़िता

न्याय की गुहार! दुष्कर्म के आरोपियों की गिरफ्तार की मांग, जिला पुलिस अधीक्षक से मिली पीड़िता

अजमेर: भले ही निर्भया के दोषियों को शुक्रवार को फांसी की सजा मिल चुकी है और निर्भया को इंसाफ जरूर मिला है पर देश मे आज भी ऐसे कई मामले है जहाँ आज भी इंसाफ के लिए पीड़िताएं दर दर की ठोकरे खा रही है. ऐसा ही एक मामला केकड़ी से जुड़ा जिला पुलिस कप्तान के पास पहुंचा न्याय की गुहार करने के लिए. पीड़िता ने बताया कि 21 जनवरी को जब वह अपने पिता की दुकान से घर की तरफ जा रही थी तो चार लोगों ने उसका मुंह पकड़ कर कार में अपहरण करके ले गए, जिसके बाद है उसे अलग-अलग जगहों पर ले जाकर चित्तौड़ ले गए उसी दौरान कार के अंदर उन सभी ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और चित्तौड़ में करीब 1 महीने तक बंदी बनाकर रखा.

अपनी जिम्मेदारी समझे, राजस्थान में तत्काल लागू करें जनता कर्फ्यू! अगले 72 घंटे काफी क्रिटिकल

परिजनों ने करवाई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट:
इसी बीच पीड़िता के परिवार ने केकड़ी थाने में गुमशुदगी भी दर्ज करवा दी थी लेकिन 1 महीने के बाद पुलिस को भी सफलता हाथ लगी और पीड़िता का चित्तौड़ में सुराग हाथ लगा और वहां से उसको सही सलामत लेकर अजमेर पहुंचे. अजमेर पहुंचने पर पीड़िता ने परिवार वालों को पुलिस को आपबीती सुनाई और केकड़ी के ही रहने वाले प्रकाश साहू ,मोहन मीणा, रौनक साहू ,ओर भीलवाड़ा के सुरेंद्र पंडित पर उसके साथ अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप लगाया.

प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का बढ़ता जा रहा दायरा, पिछले 12 घंटे में 6 नए पॉजिटिव केस

पुलिस प्रशासन की होगी जिम्मेदारी:
वहीं पीड़िता ने बताया कि कुछ पुलिस वाले उस पर समझौता करने का भी दबाव बना रहे हैं लेकिन पीड़िता ने साफ मना कर दिया और न्याय की गुहार लगाने के लिए जिला पुलिस कप्तान कुंवर राष्ट्रदीप के पास पहुंची. जिला पुलिस कप्तान से न्याय की गुहार लगाते हुए पीड़िता ने कहा कि उसके गुनहगारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए नहीं तो वह कोई गलत कदम उठा लेगी जिसकी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी.

दरगाह प्रमुख ने की देशवासियों से की अपील, कहा- धरने-प्रदर्शन कुछ समय के लिए किए जाए स्थगित

दरगाह प्रमुख ने की देशवासियों से की अपील, कहा- धरने-प्रदर्शन कुछ समय के लिए किए जाए स्थगित

अजमेर: ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह प्रमुख सैय्यद जैनुअल आबेदीन अली खान ने भी मुल्क के लोगों से गुज़ारिश की है कि वो इस बीमारी की रोकथाम में उठाए जाने वाले केंद्र सरकार, राज्य सरकार और जिला प्रशासन का साथ दें. इसके अलावा दरगाह दीवान ने मुल्क में जहां भी धरने प्रदर्शन पर जो लोग बैठे है उनसे भी कहा है कि वो कुछ वक्त के लिए अपने धरने प्रदर्शन को खत्म कर इस महामारी से निपटने के लिए सरकार का साथ दें. 

रामदेवरा में बाबा रामदेव मन्दिर हुआ बंद, जनता कर्फ्यू से पहले पसरा सन्नाटा 

सभी को एक साथ खड़े होना होगा: 
दरगाह प्रमुख आबेदीन ने कहा कि पूरे देश को इस महामारी से निपटने के लिए सभी को एक साथ खड़े होना होगा और कंधे से कंधा मिलाकर एक साथ काम करना होगा राजस्थान सरकार व केंद्र सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी करने के बाद में उन्होंने सभी देशवासियों से आग्रह किया कि लोग अपने घरों से बाहर ना निकले और दरगाह शरीफ पर ना आए उन्होंने कहा कि गत 31 मार्च तक के लिए दरगाह शरीफ को जायरीनों के लिए बंद कर दिया गया है. जब तक देश इस महामारी से बाहर नहीं निकल पाता तब तक सभी लोग अपने घरों पर रहे और किसी भी जगह की यात्रा ना करें.

कोरोना वायरस: देश में बढ़ रहे संक्रमित मरीज, 250 पहुंची संख्या 

लोग घरों में बैठकर दुआएं करें:
आबेदीन ने ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह से इस पैगाम को देशवासियों के लिए जारी किया है. जहां राजस्थान में धारा 144 को भी लागू कर दिया गया है. किसी भी तरह के सामूहिक सम्मेलन धार्मिक सम्मेलन या समूह पर पाबंदी लगा दी गई है. उस को ध्यान में रखते हुए सभी होने वाले धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजनों को स्थगित कर दिया जाए जो देश के हित में है. उन्होंने सभी से यह भी कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए लोग घरों में बैठकर दुआएं करें.
 

ख्वाजा साहब की दरगाह 31 मार्च तक बन्द, पुष्कर के घाट पर भी जाने की लगाई पाबंदी

ख्वाजा साहब की दरगाह 31 मार्च तक बन्द, पुष्कर के घाट पर भी जाने की लगाई पाबंदी

अजमेर: अजमेर संभाग के भीलवाड़ा में कोरोना का एक मरीज पॉजिटिव मिलने के बाद अजमेर प्रशासन आज फिर हरकत में आया और दरगाह से जुड़े पदाधिकारियों को बुलाकर एक आपात बैठक की गई. बैठक में जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा, जिला पुलिस कप्तान कुंवर राष्ट्रदीप समेत कई बड़े अधिकारी भी मौजूद रहे और साथ ही ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह कमेटी के पदाधिकारी भी मौजूद रहे.

कनिका कपूर की पार्टी में शामिल हुई थीं राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे, कराया खुद को आइसोलेट 

बंद करने का ऐलान:
बैठक में दरगाह के पदाधिकारियों को समझाइश के बाद दरगाह बंद करने का फैसला लिया गया अजमेर जिले में बीते 2 दिन पूर्व ही सभी धार्मिक संस्थानों को ओर मंदिर आदि सभी बंद करने के आदेश दे दिए थे, जिसके बाद आज ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह को भी बंद करने का ऐलान कर दिया गया. जिला कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना के प्रकोप को देखते हुए यह फैसला लिया गया है और 31 मार्च तक दरगाह को बंद रखा जाएगा.

कोरोना वायरस को लेकर चिकित्सा अधिकारी सतर्क, आमजन को किया जा रहा है जागरूक 

20 नामों की सूची दी जाएगी:
लेकिन दरगाह में रोज होने वाली रस्मों के लिए दरगाह कमेटी द्वारा 20 नामों की सूची दी जाएगी, जिनके द्वारा रस्मे अदा करवाई जाएगी. बाकी जिला कलेक्टर ने बाहर से आ रहे सभी जालिमा से अपील करी है कि वह अजमेर के लिए 31 तारीख के बाद ही प्रस्थान करें. साथ ही पुष्कर में भी सावित्री माता मंदिर को बंद करने के लिए भी आदेश दिया गया है और पुष्कर के घाट पर भी जाने की पाबंदी लगाई गई है

जेल में भी कोरोना का प्रकोप, अजमेर जेल से 140 बंदी किये गए स्थानांतरित

जेल में भी कोरोना का प्रकोप, अजमेर जेल से 140 बंदी किये गए स्थानांतरित

अजमेर: केंद्रीय कारागृह से आज करीब 140 बंदी दूसरी जेलों में भेजे गए है. यहां उतने ही बंदी रखे जाएंगे जितनी जेल की क्षमता है. वहीं कोटा जेल से सभी महिला बंदियों को भी अजमेर केंद्रीय कारागृह में लाया गया. साथ ही आए दिन विभिन्न अपराधों के कारण आने वाले नए बंदियों के लिए जेल में अलग वार्ड बना दिया गया है. जेल अधीक्षक नरेंद्र सिंह चौधरी ने बताया कि केंद्रीय कारागृह से आज 100 बंदी टोंक की जेल में वह 40 बंदी हाई सिक्योरिटी जेल में स्थानांतरित किये गए है. जबकि कोटा जेल से सभी महिला बंदियों को अजमेर की महिला जेल में लाया जा रहा है.

VIDEO: राजस्थान के पहले कोरोना पॉजिटिव मिले इटली के यात्री की हार्टअटैक से मौत, उपचार के दौरान तोड़ा दम 

केंद्रीय काराग्रह  में 960 बंदियों को रखने की क्षमता: 
यह कार्रवाई उच्च न्यायालय के आदर्शों पर की गयी है. कोरोना संक्रमण की आशंका में बंदियों की सुरक्षा के मद्देनजर उच्च न्यायालय ने आदेश जारी किए हैं कि प्रदेशभर की जेलों में उतने ही बंदियों को रखा जाए जितनी बंदी रखने की क्षमता है. अजमेर के केंद्रीय काराग्रह  में 960 बंदियों को रखने की क्षमता स्वीकृत है. जबकि अभी यहां करीब 11 सौ बंदी है. महिला जेल में कोटा से भेजी जाने वाली महिला बंदियों के लिए पर्याप्त स्थान है. बंदियों को अन्य जेलों से स्थानांतरित करने के लिए पुलिस को सुरक्षा का बंदोबस्त किया गया. स्थानांतरित सिर्फ विचाराधीन बंदियों को ही किया गया है. इनको ही किया जाएगा.

सरकार ने वर्क फ्रॉम होम सिस्टम किया लागू, इन 17 विभागों को छोड़कर सब जगह 50% कर्मचारी देंगे उपस्थित देंगे 

रोजाना के अपराधों में आने वाले नए बंदियों के लिए अलग से वार्ड बना:
चौधरी ने बताया कि रोजाना के अपराधों में आने वाले नए बंदियों के लिए अलग से वार्ड बना दिया गया है. जेल में आने के तुरंत बाद जेल अस्पताल के चिकित्सक उनकी पूरी जांच कर रहे हैं कम से कम 3 दिन उन्हें अलग बनाए गए नए वार्ड में रखने के बाद जब पुख्ता हो जाता है कि वह स्वस्थ है तो उन्हें अन्य वार्डों में भेजा जा रहा है. 

Open Covid-19