Live News »

जयपुर दिल्ली हाईवे पर ट्रक में अचानक लगी आग, ड्राइवर की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा

जयपुर दिल्ली हाईवे पर ट्रक में अचानक लगी आग, ड्राइवर की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा

जयपुर: जयपुर दिल्ली हाईवे पर मानपुरा माचेड़ी के पास ट्रक में अचानक आग लग गई. मौके पर पहुंची दमकल ने आग पर काबू पाया, वरना बड़ा हादसा हो सकता था. ड्राइवर की सूझबूझ के चलते बड़ा हादसा टल गया. 

टला बड़ा हादसा:
दरअसल कपड़ों से भरा ट्रक सूरत से दिल्ली जा रहा था. रास्ते में अचानक शॉर्ट सर्किट से ट्रक में आग लग गई. धुआं उठता देख कर ड्राइवर ने सूझबूझ से ट्रक को एक तरफ खड़ा किया. इसके बाद ट्रक में भरे कपड़ों को अलग किया और पुलिस को सूचना दी. सूचना मिलने के बाद दमकल की दो गाड़ियां मौके पर पहुंची और उन्होंने आग पर काबू पाया. समय रहते आग पर काबू पाने से बड़ा हादसा टल गया. अगर आग बढ़ जाती है तो आसपास के वाहनों को भी चपेट में ले सकती थी.

... संवाददाता सत्यनारायण शर्मा की रिपोर्ट 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

विधानसभा स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने 19 विधायकों को जारी किए नोटिस, 3 दिन में मांगा जवाब

विधानसभा स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने 19 विधायकों को जारी किए नोटिस, 3 दिन में मांगा जवाब

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम पर एक के बाद एक नया अपडेट आ रहा है. अब विधानसभा स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने कांग्रेस के 19 बागी विधायकों को नोटिस जारी किया है. नोटिस में विधायकों से 3 दिन में जवाब मांगा है. जवाब नहीं देने पर स्पीकर विधायकों को अयोग्य घोषित कर सकते हैं. स्पीकर 3 माह तक समय ले सकते हैं. हालांकि मौजूदा परिस्थितियों के तहत लगता यही है कि स्पीकर जल्द ही निर्णय लेंगे. 

गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार पर गंभीर संशय, विस्तार से पहले सरकार को हासिल करना होगा विश्वासमत! 

महेश जोशी ने विधानसभा अध्यक्ष को इसकी सूचना दी:
इससे पहले मुख्य सचेतक महेश जोशी ने विधानसभा अध्यक्ष को इसकी सूचना दी है. अब विधायकों को व्यक्तिगत रूप से सफाई देनी होगी. संतोषजनक उत्तर ना देने पर विधायकों की सदस्यता रद्द हो सकती है. इसके साथ ही ऐसे विधायकों के निर्वाचन क्षेत्र में उपचुनाव के लिए उपयुक्त उम्मीदवार की खोज शुरू होगी. 

मंत्रिमंडल विस्तार पर अभी गंभीर संशय बरकरार: 
दूसरी ओर राजस्थान में लगातार चल रहे सियासी उठापटक के बीच गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार पर अभी गंभीर संशय बरकरार है. जानकार सूत्रों ने इसको लेकर संकेत दिए हैं. मंत्रिमंडल विस्तार से पहले सरकार को विश्वासमत हासिल करना होगा. इसके लिए विधानसभा में अपना बहुमत सिद्ध करना होगा. ऐसे में अब संभवत: इसके बाद ही मंत्रिमंडल में फेरबदल हो सकता है. 

गवर्नर के औपचारिक फैसले का इंतजार: 
इसके लिए मंगलवार को गुलाबचंद कटारिया-सतीश पूनिया-राजेंद्र राठौड़ और हनुमान बेनीवाल ने एक स्वर में मांग की थी. गहलोत सरकार को पहले ही बहुमत साबित करना चाहिए और इसके बाद ही मंत्रिमंडल फेरबदल-विस्तार करें. कल पायलट समर्थक विधायकों ने भी ऐसी ही मांग की थी. अब हर किसी को गवर्नर कलराज मिश्र के औपचारिक फैसले का इंतजार है. 

प्रदेश में जल्द होगा मंत्रिमंडल फेरबदल-विस्तार ! दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा 

गहलोत नाराज विधायकों को साधने में जुट गए: 
दूसरी ओर सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री पद से बर्खास्त करने के बाद अब अशोक गहलोत नाराज विधायकों को साधने में जुट गए हैं. सूत्रों के अनुसार, नए घटनाक्रम में अशोक गहलोत अब 16 जुलाई को मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं. इसमें उन विधायकों को जगह मिल सकती है, जो नाराज हैं. 
 

गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार पर गंभीर संशय, विस्तार से पहले सरकार को हासिल करना होगा विश्वासमत!

जयपुर: राजस्थान में लगातार चल रहे सियासी उठापटक के बीच गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार पर अभी गंभीर संशय बरकरार है. जानकार सूत्रों ने इसको लेकर संकेत दिए हैं. मंत्रिमंडल विस्तार से पहले सरकार को विश्वासमत हासिल करना होगा. इसके लिए विधानसभा में अपना बहुमत सिद्ध करना होगा. ऐसे में अब संभवत: इसके बाद ही मंत्रिमंडल में फेरबदल हो सकता है. 

कांग्रेस के बगावती विधायकों को सदस्यता खत्म करने का नोटिस जारी, 17 जुलाई तक जवाब प्रस्तुत करने की कही बात 

गवर्नर के औपचारिक फैसले का इंतजार: 
इसके लिए मंगलवार को गुलाबचंद कटारिया-सतीश पूनिया-राजेंद्र राठौड़ और हनुमान बेनीवाल ने एक स्वर में मांग की थी. गहलोत सरकार को पहले ही बहुमत साबित करना चाहिए और इसके बाद ही मंत्रिमंडल फेरबदल-विस्तार करें. कल पायलट समर्थक विधायकों ने भी ऐसी ही मांग की थी. अब हर किसी को गवर्नर कलराज मिश्र के औपचारिक फैसले का इंतजार है. 

गहलोत नाराज विधायकों को साधने में जुट गए: 
दूसरी ओर सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री पद से बर्खास्त करने के बाद अब अशोक गहलोत नाराज विधायकों को साधने में जुट गए हैं. सूत्रों के अनुसार, नए घटनाक्रम में अशोक गहलोत अब 16 जुलाई को मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं. इसमें उन विधायकों को जगह मिल सकती है, जो नाराज हैं. 

प्रदेश में जल्द होगा मंत्रिमंडल फेरबदल-विस्तार ! दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा 

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि मैंने सभी के काम किए:  
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि मैंने सभी के काम किए है, जो मांगा सभी को देने की कोशिश की है. उसके बाद भी बीजेपी के साथ हॉर्स ट्रेडिंग की बात आई. पार्टी तोड़ने के लिए दो तिहाई बहुमत की जरूरत होती है. जो गए हैं, उन पर बहुत बड़ा प्रेशर है, जो फैसला जनता द्वारा दिया गया है, वह हमारे लिए शिरोधार्य है. 


 

कांग्रेस के बगावती विधायकों को सदस्यता खत्म करने का नोटिस जारी, 17 जुलाई तक जवाब प्रस्तुत करने की कही बात

कांग्रेस के बगावती विधायकों को सदस्यता खत्म करने का नोटिस जारी, 17 जुलाई तक जवाब प्रस्तुत करने की कही बात

जयपुर: राजस्थान में लगातार सियासी उठापटक जारी है. सचिन पायलट सहित दो मंत्रियों की बर्खास्तगी के बाद अब कांग्रेस पार्टी ने बगावती विधायकों को नोटिस जारी करना शुरू कर दिया है. मुख्य सचेतक महेश जोशी ने विधानसभा अध्यक्ष को इसकी सूचना दी है. अब विधायकों को व्यक्तिगत रूप से सफाई देनी होगी. संतोषजनक उत्तर ना देने पर विधायकों की सदस्यता रद्द हो सकती है. इसके साथ ही ऐसे विधायकों के निर्वाचन क्षेत्र में उपचुनाव के लिए उपयुक्त उम्मीदवार की खोज शुरू होगी. 

प्रदेश में जल्द होगा मंत्रिमंडल फेरबदल-विस्तार ! दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा 

गजेंद्र सिंह शक्तावत के निवास पर नोटिस चस्पा: 
अब तक मिली जानकारी के अनुसार वल्लभनगर विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत के निवास पर नोटिस चस्पा किया है. यह नोटिस विधानसभा की सदस्यता खत्म करने का है. देर रात एसडीएम संजय शर्मा ने घर के बाहर नोटिस चस्पा किया. नोटिस में 17 जुलाई तक जवाब प्रस्तुत करने की बात कही गई है. वहीं बाकी अन्य विधायकों को नोटिस जारी करना शुरू हो गया है. अब एक के बाद एक बागी विधायकों को नोटिस जारी किया जाएगा. 

जल्द ही मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार होगा:
सचिन पायलट की बगावत के बाद अब प्रदेश में जल्द ही मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार होगा. इसी के चलते मुख्यमंत्री गहलोत ने कल रात मंत्रिमंडल और मंत्रिपरिषद की बैठक बुलाई. इसके बाद गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाएं तेज हो गई है. वहीं प्रदेश में अब दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की भी चर्चा चल रही है. इसके अलावा सात नए चेहरों को मंत्री बनने का मौका मिल सकता है. इसके साथ ही 10 से 15 संसदीय सचिव भी बनाए जा सकते हैं. हालांकि पायलट की आज पीसी के बाद तस्वी साफ हो सकेगी. इसके बाद आगे के फैसले लिए जाएंगे. 

पीसीसी चीफ बनाए जाने पर बोले डोटासरा, पार्टी ने जो मुझे इज्जत बख्शी है,मैं बहुत आभार व्यक्त करता हूं

बीजेपी के मंसूबे पूरे नहीं हुए:
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा कि राजस्थान में बीजेपी के मंसूबे पूरे नहीं हुए है. उन्होंने कर्नाटक, मध्यप्रदेश में धन-बल के आधार पर जो कुछ भी खेल खेला था. राजस्थान में भी वो लोग वही करना चाहते थे. खुला खेल था....और मैं समझता हूँ कि खुले खेल में वो लोग मात खा गए.
 


 

प्रदेश में जल्द होगा मंत्रिमंडल फेरबदल-विस्तार ! दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा

प्रदेश में जल्द होगा मंत्रिमंडल फेरबदल-विस्तार ! दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा

जयपुर: राजस्थान की सियासत में सचिन पायलट की बगावत के बाद अब प्रदेश में जल्द ही मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार होगा. इसी के चलते मुख्यमंत्री गहलोत ने कल रात मंत्रिमंडल और मंत्रिपरिषद की बैठक बुलाई. इसके बाद गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाएं तेज हो गई है. वहीं प्रदेश में अब दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की भी चर्चा चल रही है. इसके अलावा सात नए चेहरों को मंत्री बनने का मौका मिल सकता है. इसके साथ ही 10 से 15 संसदीय सचिव भी बनाए जा सकते हैं. हालांकि पायलट की आज पीसी के बाद तस्वी साफ हो सकेगी. इसके बाद आगे के फैसले लिए जाएंगे. 

पीसीसी चीफ बनाए जाने पर बोले डोटासरा, पार्टी ने जो मुझे इज्जत बख्शी है,मैं बहुत आभार व्यक्त करता हूं

सूत्रों के मुताबिक राजस्थान में मंत्रिपरिषद के नए गठन की तैयारियां शुरू हो गई है. अगले 10-12 दिन में मंत्रिपरिषद का विस्तार की बात सामने आ रही है. सीएम गहलोत मंत्रिपरिषद के नए गठन को अंतिम रूम दे रहे है. वहीं सूत्रों की माने तो मंत्रिपरिषद में शामिल होने वाले नाम तय हो गए है. 

बीजेपी के मंसूबे पूरे नहीं हुए:
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा कि राजस्थान में बीजेपी के मंसूबे पूरे नहीं हुए है. उन्होंने कर्नाटक, मध्यप्रदेश में धन-बल के आधार पर जो कुछ भी खेल खेला था. राजस्थान में भी वो लोग वही करना चाहते थे. खुला खेल था....और मैं समझता हूँ कि खुले खेल में वो लोग मात खा गए.

कांग्रेस सेवादल के नए अध्यक्ष हेम सिंह शेखावत पहुंचे PCC, कहा-हम बहुत अच्छा काम करेंगे, संगठन को और मजबूत बनाएंगे

राज्यपाल ने की सीएम गहलोत से मुलाकात:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलने पहुंचे. यहां पर गहलोत मंत्रिमंडल में बदलाव की जानकारी दी. साथ ही विधायकों के समर्थन का पत्र भेजेंगे. खबर यह भी है कि बुधवार को मंत्रिमंडल फेरबदल किया जाएगा. सीएम गहलोत ने राज्यपाल कलराज मिश्र को प्रस्ताव दिया. उन्होंने सचिन पायलट,विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को बर्खास्त किए जाने का प्रस्ताव दिया. राज्यपाल कलराज मिश्र ने सीएम के प्रस्ताव को तत्काल प्रभाव से स्वीकृति प्रदान की.


 

मंत्रिपरिषद के नए गठन की तैयारी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तय किए ये नाम! 

मंत्रिपरिषद के नए गठन की तैयारी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तय किए ये नाम! 

जयपुर: राजस्थान में सियासी संकट के बीच सीएमआर में कैबिनेट की मीटिंग हुई है. जिसके तुरंत बाद ही मंत्रिपरिषद की बैठक हुई. जिसमें अहम फैसले लिए गए है. सूत्रों के मुताबिक राजस्थान में मंत्रिपरिषद के नए गठन की तैयारियां शुरू हो गई है. अगले 10-12 दिन में मंत्रिपरिषद का विस्तार की बात सामने आ रही है. सीएम गहलोत मंत्रिपरिषद के नए गठन को अंतिम रूम दे रहे है. वहीं सूत्रों की माने तो मंत्रिपरिषद में शामिल होने वाले नाम तय हो गए है. 

बीजेपी के मंसूबे पूरे नहीं हुए:
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा कि राजस्थान में बीजेपी के मंसूबे पूरे नहीं हुए है. उन्होंने कर्नाटक, मध्यप्रदेश में धन-बल के आधार पर जो कुछ भी खेल खेला था. राजस्थान में भी वो लोग वही करना चाहते थे. खुला खेल था....और मैं समझता हूँ कि खुले खेल में वो लोग मात खा गए.

जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ रहा चार्टर विमानों का आवागमन, डेढ माह में हुआ 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट

राज्यपाल ने की सीएम गहलोत से मुलाकात:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलने पहुंचे. यहां पर गहलोत मंत्रिमंडल में बदलाव की जानकारी दी. साथ ही विधायकों के समर्थन का पत्र भेजेंगे. खबर यह भी है कि बुधवार को मंत्रिमंडल फेरबदल किया जाएगा. सीएम गहलोत ने राज्यपाल कलराज मिश्र को प्रस्ताव दिया. उन्होंने सचिन पायलट,विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को बर्खास्त किए जाने का प्रस्ताव दिया. राज्यपाल कलराज मिश्र ने सीएम के प्रस्ताव को तत्काल प्रभाव से स्वीकृति प्रदान की.

प्रदेश में 3 बड़े समूहों पर आयकर छापेमारी, जब्त दस्तावेजों से खुलासा कर सकता है आयकर विभाग!

प्रदेश में 3 बड़े समूहों पर आयकर छापेमारी, जब्त दस्तावेजों से खुलासा कर सकता है आयकर विभाग!

प्रदेश में 3 बड़े समूहों पर आयकर छापेमारी, जब्त दस्तावेजों से खुलासा कर सकता है आयकर विभाग!

जयपुर: प्रदेश में बड़ी राजनैतिक उठापटक के बीच आयकर विभाग की छापेमारी जारी है. कल से आयकर विभाग के अफसर प्रदेश के 3 बड़े समूहों पर जांच कार्रवाई कर रहे हैं. आयकर विभाग की टीमों ने आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राजीव अरोड़ा के आम्रपाली ज्वैलरी समूह में निदेशक केसी अजमेरा के आवास पर भी छापा मारा.

पीसीसी चीफ बनाए जाने पर बोले डोटासरा, पार्टी ने जो मुझे इज्जत बख्शी है,मैं बहुत आभार व्यक्त करता हूं

होटल फेयरमोंट ग्रुप से जुड़े ठिकानों पर कार्रवाई:
आयकर विभाग की टीमों के करीब 250 लोग इसमें जुटे हुए हैं. जयपुर में 20, कोटा में 6, दिल्ली में 8 और मुम्बई में 9 जगह छापेमारी चल रही है. इनमें ओम कोठारी ग्रुप, राजीव अरोड़ा ग्रुप और होटल फेयरमोंट ग्रुप से जुड़े ठिकानों पर कार्रवाई चल रही है.

कई अन्य गड़बड़ियां सामने आई:  
आयकर विभाग ने जांच में अवैध राशि को प्रोपार्टी माकेट में निवेश करने, ज्वैलरी और एंटीक उत्पादों से अवैध धन कमाकर बुलियन ट्रेडिंग और कई अन्य गड़बड़ियां सामने लाने की बात कही है. सिविल लाइंस के शिवाजी नगर में आयकर कार्रवाई चल रही. 

जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ रहा चार्टर विमानों का आवागमन, डेढ माह में हुआ 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट

जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ रहा चार्टर विमानों का आवागमन, डेढ माह में हुआ 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट

 जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ रहा चार्टर विमानों का आवागमन, डेढ माह में हुआ 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट

जयपुर: कोरोना काल में 2 माह तक फ्लाइट्स का संचालन बंद रहा. 25 मई से फिर से फ्लाइट संचालन चल रहा है, लेकिन अभी भी फ्लाइट्स में यात्रियों की संख्या बहुत ज्यादा नहीं देखी जा रही है. इसके अलावा फ्लाइट्स की संख्या में भी बहुत ज्यादा बढ़ोतरी नहीं हो रही है. दरअसल 25 मई से फ्लाइट्स का संचालन शुरू हाेने पर एयर इंडिया, इंडिगो, एयर एशिया और स्पाइसजेट ने 20 फ्लाइट शुरू करने का शेड्यूल दिया था. डेढ माह से ज्यादा समय बीतने पर भी अभी शेड्यूल में 24 फ्लाइट दर्शाई जा रही हैं. लेकिन इनमें से रोजाना औसतन 15 से 16 फ्लाइट ही संचालित हो रही हैं.

एक शातिर वाहन चोर चढ़ा पुलिस के हत्थे, चोरी की दो बाइकें बरामद, पूछताछ में अन्य खुलासा होने की संभावना

डेढ माह की अवधि में 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट:
रोजाना 8 से 9 फ्लाइट रद्द चल रही हैं. इस बीच जयपुर एयरपोर्ट पर चार्टर फ्लाइट का प्रचलन बढ़ा है. मंत्री, सांसद या फिर उद्योगपति समूहों से जुड़े लोग सामान्य फ्लाइट से यात्रा करने के बजाय अलग विमान में यानी चार्टर फ्लाइट में सफर करने को तरजीह दे रहे हैं. 25 मई से 10 जुलाई तक की डेढ माह की अवधि में 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट हुआ है. दरअसल कोरोना के डर से अधिकांश वीआईपी लोग या तो सड़क मार्ग से यात्रा कर रहे हैं, या फिर चार्टर फ्लाइट से यात्रा कर रहे हैं. राजनैतिक दलों से जुड़े नेताओं के अलावा औद्योगिक घरानों से जुड़े लोग भी चार्टर फ्लाइट से यात्रा कर रहे हैं.

पीसीसी चीफ बनाए जाने पर बोले डोटासरा, पार्टी ने जो मुझे इज्जत बख्शी है,मैं बहुत आभार व्यक्त करता हूं

कोरोना काल में चार्टर फ्लाइट से आवागमन
- जयपुर एयरपोर्ट पर गर्मियों में बढ़ा चार्टर फ्लाइट का मूवमेंट
- आमतौर पर जून-जुलाई में नहीं होता चार्टर प्लेन का आवागमन
- रोज बमुश्किल एक चार्टर फ्लाइट का मूवमेंट होता है गर्मियों के दौरान
- लेकिन कोरोनाकाल में इन दिनों बढ़ा चार्टर फ्लाइट का मूवमेंट
- पिछले डेढ माह में 78 चार्टर फ्लाइट का हुआ आवागमन
- कांग्रेस के राजनैतिक घटनाक्रम में नेताओं का चार्टर विमानों से हुआ मूवमेंट
- श्री सीमेंट, बिड़ला, रिलायंस और कई अन्य ग्रुप के लोगों का हुआ मूवमेंट
- चार्टर विमान कम्पनियां हर घंटे का औसतन ढाई से 3 लाख रुपए लेती किराया
- सामान्य फ्लाइट में ज्यादा यात्री होने पर रहता है संक्रमण का खतरा
- चार्टर फ्लाइट में केवल 2-5 लोग होने पर सुरक्षित माना जाता सफर

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपौर्ट

कांग्रेस सेवादल के नए अध्यक्ष हेम सिंह शेखावत पहुंचे PCC, कहा-हम बहुत अच्छा काम करेंगे,संगठन को और मजबूत बनाएंगे

कांग्रेस सेवादल के नए अध्यक्ष हेम सिंह शेखावत पहुंचे PCC, कहा-हम बहुत अच्छा काम करेंगे,संगठन को और मजबूत बनाएंगे

जयपुर: कांग्रेस सेवादल के नए अध्यक्ष हेम सिंह शेखावत राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे. जहां पर उन्होंने पूर्व PM राजीव गांधी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी. हेम सिंह ने कहा कि मैं कांग्रेस का निष्ठावान कार्यकर्ता हूं. सोनिया गांधी जी ने मुझ पर भरोसा किया है. उनका मैं आभार व्यक्त करता हूं. मैं आज से संगठन में कार्य काम करना शुरू कर रहा हूं. कांग्रेस ने हमेशा जनहित के लिए काम किया है. सेवादल के सभी कार्यकर्ता निष्ठावान हैं. हम बहुत अच्छा काम करेंगे, संगठन को और मजबूत बनाएंगे.

गोविंद सिंह डोटासरा बने कांग्रेस के नए पीसीसी चीफ, सचिन पायलट बर्खास्त

तीन मंत्रियों को किया बर्खास्त:
इससे पहले राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम के चलते कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद केसी वेणुगोपाल, अविनाश पांडे, रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने तीन मंत्रियों को बर्खास्त किया है. इसमे सचिन पायलट, विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा शामिल है.

पीसीसी चीफ के पद से हटाए गए पायलट:
वहीं सचिन पायलट को पीसीस चीफ पदे से भी हटाया गया है. उनके स्थान पर  गोविंद सिंह डोटासरा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बने हैं. वहीं मुकेश भाकर को यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष पद से बर्खास्त कर उनके स्थान पर गणेश घूघरा को यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया है. वहीं हेमसिंह शेखावत सेवादल प्रदेशाध्यक्ष होंगे. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुलाई बैठक, शाम 7.30 बजे होगी CMR में कैबिनेट मीटिंग

Open Covid-19