राजगढ़ विधायक जौहरी लाल मीणा और विद्युत विभाग के जेईएन में झगड़ा, एक-दूसरे के खिलाफ दर्ज करवाया मामला

राजगढ़ विधायक जौहरी लाल मीणा और विद्युत विभाग के जेईएन में झगड़ा, एक-दूसरे के खिलाफ दर्ज करवाया मामला

राजगढ़ विधायक जौहरी लाल मीणा और विद्युत विभाग के जेईएन में झगड़ा, एक-दूसरे के खिलाफ दर्ज करवाया मामला

अलवर: राजगढ़ विधायक जौहरी लाल मीणा लगातार विवादों में चल रहे हैं. पहले एक बेटे का सरकारी कर्मचारी को धमकाने का ऑडियो वायरल हुआ और अब बिजली विभाग के जेईएन को धमकाने का दूसरे बेटे का ऑडियो वायरल हुआ है. साथ ही जेईएन और विधायक में झगड़ा भी हो गया है. 

विधायक समर्थकों और सरकारी कर्मचारियों के बीच मारपीट: 
कल देर रात विधायक जौहरीलाल मीणा ने बिजली विभाग के जेईएन मूलचंद मीणा को फोन किया और वीसीआर के नाम पर ₹100000 लेने का आरोप लगाया इस पर जेईएन ने मना करते हुए नाम पूछा तो विधायक ने उसे आमने सामने कराने की बात कही और अपने घर बुला लिया. जेईएन बिजली विभाग के दूसरे कर्मचारियों के साथ विधायक के घर पहुंचे जहां विधायक समर्थकों और सरकारी कर्मचारियों के बीच मारपीट हो गई. सोमवार को दिनभर रैणी थाने पर बिजली विभाग के कर्मचारियों और अन्य लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया. जिसके बाद राजगढ़ थाने में बिजली विभाग के जेईएन की ओर से विधायक और उनके समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया. जिसमें विधायक के बेटे पर कर्मचारियों की गाड़ी का शीशा तोड़ने का भी आरोप है. 

राजगढ़ थाने में एफ आई आर दर्ज:
उधर, विधायक जौहरीलाल मीणा ने भी और दूसरे कर्मचारियों के खिलाफ शराब पीकर घर में मारपीट करने तोड़फोड़ करने का आरोप लगाकर राजगढ़ थाने में एफ आई आर दर्ज कराई है. बिजली विभाग के कर्मचारियों ने पुलिस द्वारा f.i.r. में देरी करने के विरोध में रैणी थाने पर प्रदर्शन किया और इलाके के करीब 40 गांव की बिजली काट दी. जो देर रात एसडीएम की समझाइस के बाद शुरू हो पाई. राजगढ़ थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कॉपी एईएन को दे दी है. 

दीपू मीणा और जेईएन के बीच हुई बातचीत का ऑडियो वायरल:
बिजली विभाग के कर्मचारियों का आरोप है कि विधायक अवैध रूप से चलाए जा रहे ट्रांसफार्मर को वापस देने की बात कह रहे थे. विधायक के बेटे दीपू मीणा और जेईएन के बीच हुई बातचीत का ऑडियो वायरल हो रहा है जिसमें विधायक के पेट्रोल पंप पर ₹351000 बिजली विभाग के बकाया है जिसे लेकर विधायक पुत्र जेईएन को धमका रहे हैं. हालांकि फर्स्ट इंडिया इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता लेकिन इलाके में चर्चा का विषय है. पूरे घटनाक्रम के बाद बिजली विभाग ने जेईएन को निलंबित कर दिया है और बिजली विभाग के दूसरे कर्मचारी इस बात का विरोध भी कर रहे हैं. 

और पढ़ें