मुंबई: महाराष्ट्र में धनशोधन मामला: अनिल देशमुख के दो सहयोगियों को एक जुलाई तक ED की हिरासत में भेजा गया

महाराष्ट्र में धनशोधन मामला: अनिल देशमुख के दो सहयोगियों को एक जुलाई तक ED की हिरासत में भेजा गया

महाराष्ट्र में धनशोधन मामला: अनिल देशमुख के दो सहयोगियों को एक जुलाई तक ED की हिरासत में भेजा गया

मुंबई: मुंबई की एक अदालत ने शनिवार को महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Former Home Minister Anil Deshmukh) के खिलाफ दर्ज धनशोधन से जुड़े एक मामले के संबंध में उनके दो सहयोगियों को एक जुलाई तक प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) की हिरासत में भेज दिया.

दोनो सहयोगियों से हुई नौ घंटे पूछताछ:
एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि धनशोधन रोकथाम अधिनियम (Prevention of Money Laundering Act) के तहत हुई करीब नौ घंटे की पूछताछ के बाद देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को गिरफ्तार किया गया. उन्होंने बताया कि दोनों को यहां एक अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां से उन्हें ईडी की हिरासत में भेजा गया.

100 करोड़ मंथली वसूली करने का है आरोप:
उल्लेखनीय है कि IPS अधिकारी परमबीर सिंह (IPS officer Parambir Singh) ने मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटाए जाने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि तत्कालीन गृह मंत्री देशमुख ने बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वाजे (Sacked Police Officer Sachin Waje) को मुंबई के बार एवं रेस्त्रां से हर महीने 100 करोड़ रुपये से अधिक की उगाही के निर्देश दिए थे.

बंबई उच्च न्यायालय के आदेश पर सीबीआई द्वारा मुकदमा दर्ज किया गया था और फिर शुरुआती जांच के बाद ईडी ने देशमुख एवं अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

और पढ़ें