अगवा कर दुष्कर्म करने व फिरौती की मांग करने वाले मुख्य आरोपी के 2 सहयोगी गिरफ्तार, घटना में प्रयुक्त टवेरा गाङी जब्त 

अगवा कर दुष्कर्म करने व फिरौती की मांग करने वाले मुख्य आरोपी के 2 सहयोगी गिरफ्तार, घटना में प्रयुक्त टवेरा गाङी जब्त 

अगवा कर दुष्कर्म करने व फिरौती की मांग करने वाले मुख्य आरोपी के 2 सहयोगी गिरफ्तार, घटना में प्रयुक्त टवेरा गाङी जब्त 

जयपुर/बारां: जिले की महिला अपराध अनुसंधान सैल ने साईबर सैल के सहयोग से महिला को अगवा कर चलती गाड़ी व जोधपुर के एक होटल में दुष्कर्म करने वाले आरोपी के दो सहयोगियों को घटना में प्रयुक्त टवेरा गाड़ी समेत गिरफ्तार कर लिया है. मुख्य आरोपी फिलहाल फरार चल रहा है जिसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है.
       
बारां एसपी विनीत कुमार बंसल ने बताया कि 25 अगस्त को पुलिस थाना कोतवाली बारां पर एक परिवाद प्राप्त हुआ. जिसके अनुसार 18 अगस्त की सुबह 10 बजे कलमण्डा गांव में किराने की दुकान से शैम्पू लेकर पीड़िता घर लौट रही थी. रास्ते मे एक टवेरा गाड़ी में आये त्रिलोक नागर व उसके दो साथियों ने पीड़िता का मुंह साफी से बांध कर उसे गाड़ी में पटक लिया. चाकू दिखाकर डरा धमका कर त्रिलोक ने रास्ते में जबरन दुष्कर्म किया. उसके बाद जोधपुर ले गये और होटल में कमरा लेकर बलात्कार किया. उसके बाद पीड़िता के घरवालों को कॉल कर सही सलामत वापस घर छोङने के लिये 20 हजार रूपये की फिरौती की मांग की. अन्य दो लड़कों ने अगवा करने में मुलजिम का सहयोग किया.  इत्यादि परिवाद पर थाना कोतवाली बारां में फिरौती व दुष्कर्म की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया.
      

मामले की गंभीरता को देखते हुए SP विनीत कुमार बंसल ने ASP विजय स्वर्णकार के निर्देशन तथा DSP महिला अपराध अनुसंधान सैल राकेश शर्मा के सुपरवीजन एवं प्रभारी साईबर सैल सत्येन्द्र सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया. गठित टीम ने आधुनिक तकनीक, मुखबिर व आसूचना तंत्र के आधार पर अपह्त पीड़िता के साथ बलात्कार वाले मुख्य आरोपी त्रिलोक नागर के 02 सहयोगी गांव छजावा थाना अटरू निवासी दिलीप गुर्जर पुत्र भोजराज (27) एवं थाना कोतवाली बारां निवासी मुकेश नागर पुत्र रमेश चन्द्र (33) को गिरफ्तार किया गया है. 

और पढ़ें