अलवर दर्दनाक: अलवर में तीन माह के अंतराल में ही दो भाइयों ने की आत्महत्या

दर्दनाक: अलवर में तीन माह के अंतराल में ही दो भाइयों ने की आत्महत्या

दर्दनाक: अलवर में तीन माह के अंतराल में ही दो भाइयों ने की आत्महत्या

अलवर: जिले में तीन माह के अंतराल में ही दो भाइयों ने आत्महत्या कर जान दे दी है. अलवर के कोतवाली थाना अंतर्गत स्कीम नंबर दस में अज्ञात कारणों के चलते एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इस मामले की सूचना मिलते ही कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को राजीव गांधी सामान्य अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया. शव का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया गया.

मृतक के पिता घनश्याम शर्मा ने बताया कि बेटा यशवंत शर्मा अलवर के स्कीम न दस में अकेला रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था. मृतक का पूरा परिवार बालेटा में रहता था और यशवंत स्कीम नंबर 10 बी में चाचा के मकान पर अकेला रहता था. सबकुछ ठीक चल रहा था. रोजाना सामान्य बात होती थी. कल गांव में अलवर से फोन आया कि जल्दी आ जाओ यशवंत ने फांसी लगा ली है. यहां आने पर पूरी घटना के बारे में जानकारी ली और जिसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी गई.

मृतक यशवंत शर्मा बालेटा का निवासी था व अविवाहित था. मृतक यशवंत पांच बहन भाई थे जिसमे यशवंत के बड़े भाई ने भी तीन महीने पहले ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. वहीं एएसआई इशराक खान ने बताया कि थाने पर सूचना मिली की स्कीम नंबर 10 में एक मकान के अंदर एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को उनके से नीचे उतारा और राजीव गांधी सामान्य अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया. 

पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया: 
वहीं परिजनों को सूचना दी गई और आज परिजनों के आने के बाद में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है. उन्होंने बताया कि अज्ञात कारणों के चलते युवक यशवंत ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है और वह प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था और अपने चाचा के मकान में अकेला रहता था. 

और पढ़ें