VIDEO: राजस्थान के दो उप चुनाव, खींवसर और मंडावा के परिणाम बदलेंगे फिजा ! 

VIDEO: राजस्थान के दो उप चुनाव, खींवसर और मंडावा के परिणाम बदलेंगे फिजा ! 

VIDEO: राजस्थान के दो उप चुनाव, खींवसर और मंडावा के परिणाम बदलेंगे फिजा ! 

जयपुर: खींवसर और मंडावा के उपचुनावों के परिणाम राजस्थान में नई सियासी कहानी लिखेंगे !... सट्टा बाजार को सच मानें तो खींवसर और मंडावा में सत्ताधारी दल कांग्रेस आगे है. अगर परिणाम पूरी तरह कांग्रेस राज के अनुकूल रहे तो यह एक बार फिर अशोक गहलोत की सियासी जादूगरी का कमाल होगा. देश भर में उनकी तूती बोलती नजर आएगी और राजस्थान की सियासत करवट लेगी, मंत्रीपरिषद फेरबदल-विस्तार समेत कई फैसले हो सकते हैं. परिणाम डिफरेंट आये तो बीजेपी और बेनीवाल की ताकत बढ़ेगी. देखते हैं खास रिपोर्ट:

परिणाम पर टिकीं राजनीतिक विश्लेषकों की निगाहें:
महाराष्ट्र और हरियाणा के चुनावी परिणामों के बारे में ओपिनियन पोल कह चुके हैं कि यहां मौजूदा सरकारों की वापसी होगी. इन अहम चुनावों के साथ ही राजस्थान में हो रहे दो विधानसभा उपचुनावों पर भी राजनीतिक विश्लेषकों की निगाहें टिकी हैं. खींवसर और मंडावा के विधानसभा उपचुनावों के परिणाम ना केवल राजस्थान बल्कि देश की सियासत पर भी असर डालेंगे. जहां एक ओर महाराष्ट्र और हरियाणा के नतीजे जैसा कि ओपिनियन पोल कह रहें हैं उसके मुताबिक आ गये तो यह कांग्रेस के लिये घोर निराशाजनक होंगे. वहीं मंडावा और खींवसर में अगर कांग्रेस को जीत मिलती है तो यह परिणाम कुछ राहत पहुंचाएगे. 

खींवसर-मंडावा उपचुनाव परिणाम और सियासत:
—दोनों उपचुनावों परिणाम कांग्रेस के अनुकूल रहे तो देश की सियासत में छा जाएंगे अशोक गहलोत
—अगर कांग्रेस जीती तो गहलोत अपनी सियासी जादूगरी का फिर लोहा मनवायेंगे
—विधानसभा में कांग्रेस सदस्यों की संख्या बढ़कर हो जाएगी 108
—बसपा विधायकों के साथ आने पर सदस्य बढ़ कर हो गये थे 106
—रामगढ़ उपचुनाव के बाद यह जीत सत्ताधारी दल में निकाय चुनावों से पहले जोश भर देगी
—गहलोत सत्ता में मजबूती के साथ आगे बढ़ेंगे और मंत्रीपरिषद फेरबदल और विस्तार को अमली जामा पहना सकते है 
—ऐसे में बढ़ सकते है डिप्टी सीएम के पद
—पीसीसी चीफ को लेकर भी नई कवायद सामने आ सकती हैं 
—अंदरुनी रिफ्ट का पटाक्षेप हो सकता है! 
—निकाय चुनावों से जुड़े फैसलों पर मुहर लग सकती है 
—अगर बीजेपी-आरएलपी जीते तो सतीश पूनिया और हनुमान बेनीवाल का कद बढ़ेगा
—राजेन्द्र राठौड़ - दीया कुमारी की स्थिति मजबूत होगी 
—राजे विरोधियों के हौंसले मजबूत होंगे! 

परिणामों से सियासत अपना आकार बदलेगी. गहलोत के करिश्माई व्यक्तित्व की आभा बढ़ेगी और राजस्थान में कांग्रेस की स्थिति बेहद मजबूत हो जाएगी. लहर से परे जाकर राजस्थान के उपचुनाव में परिणाम लाना सोनिया गांधी के लिये एक अच्छा संदेश होगा. 

... संवाददाता योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें