Live News »

पुलिस की अनदेखी के चलते दबंगों ने दो सगी बहनों को बनाया हवस का शिकार

पुलिस की अनदेखी के चलते दबंगों ने दो सगी बहनों को बनाया हवस का शिकार

कानपूर देहात। दिल दहला देने वाली दहशत की दास्तान कानपुर देहात से आई है, जहां दबंगों ने कक्षा 7 में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा को अपनी हवस का शिकार बनाया। जब पीड़ित परिवार शिकायत लेकर थाने पहुंचा तो पुलिस ने थाने से बैरंग लौटा दिया। लिहाजा दबंगों के हौसले बुलंद हो गए और उन्होंने रेप पीड़िता की बड़ी बहन की पहले अस्मत लूटी, फिर उसे जमकर मारा पीटा। दरिंदे यहीं नहीं रुके, दबंगों ने रेप पीड़िता को अपना पेशाब पिलाया। 

रेप पीड़िता अस्पताल में ज़िन्दगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है और कानपुर देहात पुलिस कार्यवाही करने की बजाए तमाशाबीन बनी हुई है। दरअसल मामला कानपुर देहात के अमरौधा ब्लाक के ट्यूंगा गांव का है। गांव के वहशी युवक दीपू ने अपने परिवार के दो सदस्यों के साथ मिलकर इस घिनौनी हरकत को अंजाम दिया। पीड़िता का बाप नहीं है, घर में दो बहने रहती थी। रेप के बाद पीड़िता बदहवास हालत में थाने पहुंची और अपने साथ हुई दरिन्दगी की दास्तान सट्टी थाने के इंस्पेक्टर दिग्विजय सिंह को बताई। इंस्पेक्टर दिग्विजय सिंह ने दोनों बहनों के साथ हुई दरिंदगी के बाद भी उनकी एक नहीं सुनी और थाने से बैरंग लौटा दिया। पीड़ित की हालत बिगड़ती देख उसके परिजनों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहा उसकी हालत नाज़ुक बनी हुयो है। 

मामला जब मीडिया के संज्ञान में आया तो इंस्पेक्टर सट्टी दिग्विजय सिंह आफ द रिकार्ड सफाई देने में जुट गए और खुद को बेदाग बता डाला और महज़ मामूली विवाद बता कर पल्ला झाड़ लिया। दिखाने लगे की देखो मैंने दोनों की एफआईआर दर्ज कर दी है और मेडिकल के लिए भी भेज दिया है, लेकिन ये नहीं बताया कि ये सब कार्यवाही 5 दिन बाद की है, जब मीडिया के संज्ञान मामला आया है। 

मामला सत्तारूढ़ पार्टी का था, लिहाज़ा विपक्ष का सवाल उठाना लाज़मी था। कांग्रेस ज़िला अध्यक्ष फौरन बोले ये प्रशासन की नाकामी है। क़ानून व्यवस्था नाम की कोई चीज सूबे में नहीं रह गई है। सूबे में जंगल राज कायम है, तभी दो सगी बहनों के साथ रेप होता है और पुलिस तमाशबीन बनकर बैठी है। इस घटना ने कानपुर देहात पुलिस प्रशासन पर सवालिया निशान लगा दिया है। सवाल ये उठता है कि आखिर पुलिस ने रेप पीड़िता के परिवार की फ़रियाद क्यों नहीं सुनी? आखिर पुलिस ने पीड़ित परिवार की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर मेडिकल क्यों नहीं कराया? अगर मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि हो जाती तो पुलिस मुकदमा दर्ज करती, वरना पुलिस मुकदमा स्पंज कर सकती थी जो पुलिस ने नहीं किया। 

... कानपूर देहात से संवाददाता विवेक कुमार त्रिवेदी की रिपोर्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

विकास दुबे ने की थी पुलिसकर्मी की पिस्‍टल छीनने की कोशिश, पुलिस वैन पलटी और फिर खेल खत्म

विकास दुबे ने की थी पुलिसकर्मी की पिस्‍टल छीनने की कोशिश, पुलिस वैन पलटी और फिर खेल खत्म

कानपुर: आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मास्टरमाइंड विकास दुबे का एनकाउंटर में अंत हो गया है. विकास को कमर में गोली लगी है जिसके बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया था. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. एनकाउंटर में STF के दो जवान भी घायल हुए हैं. दरअसल, कानपुर आते ही पुलिस के गाड़ी रास्ते में पलट गई. इसी दौरान विकास दुबे ने पुलिस के एक जवान से हथियार छीनकर भागने की कोशिश की और पुलिस की जवाबी कार्रवाई में उसे 3 गोलियां लगीं. 

RPSC ने जारी किया RAS मेन-2018 का परिणाम, 1051 पदों के लिए जारी हुआ परिणाम

एसटीएफ ने विकास से हथियार रखकर सरेंडर करने को कहा: 
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, बर्रा के पास अचानक रास्‍ते में गाड़ी पलट गई. इस हादसे में विकास दुबे और एक सिपाही को भी चोटें आईं. इसके बावजूद भी विकास ने भागने का प्रयास किया. साथ ही इस दौरान उसने मौका देखकर एसटीएफ के एक अधिकारी की पिस्टल छीनकर का भी प्रयास किया. इस के बाद मुठभेड़ शुरू हो गई.  एसटीएफ ने विकास से हथियार रखकर सरेंडर करने को कहा. वह इसके बावजूद नहीं माना तो पुलिस को मजबूरन एनकाउंटर करना पड़ा. 

गाड़ी पलटते वक्त कानपुर में तेज बारिश हो रही थी:
बता दें कि जिस वक्त ये गाड़ी पलटी थी, उस वक्त कानपुर में तेज बारिश हो रही थी. एसटीएफ की गाड़ी काफी तेज रफ्तार से दौड़ रही थी, क्योंकि पीछे लगातार मीडिया की गाड़ी थी. इसी तेज रफ्तार के दौरान गाड़ी पलट गई.

VIDEO: अजमेर में सोनोग्राफी करवाने गई युवती के साथ छेड़छाड़, युवक की लात-घूंसों और चप्पलों से की पिटाई

उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से किया था गिरफ्तार:
इससे पहले आठ पुलिस वालों की हत्या करने वाले पांच लाख के इनामी और यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे को बृहस्पतिवार सुबह बेहद नाटकीय तरीके से उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया. वारदात के बाद से फरार विकास यूपी, दिल्ली, हरियाणा और मध्य प्रदेश पुलिस को चकमा देकर दर्शन करने मंदिर पहुंचा था. गिरफ्तारी के बाद विकास से पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में दो घंटे से ज्यादा पूछताछ की गई. 
 

एनकाउंटर में मारा गया विकास दुबे, गाड़ी पलटने के बाद गंभीर रूप से हो गया था घायल

एनकाउंटर में मारा गया विकास दुबे, गाड़ी पलटने के बाद गंभीर रूप से हो गया था घायल

कानपुर: कानपुर के बिकरू गांव में डीएसपी सहित आठ पुलिस वालों की हत्या के मास्टरमाइंड विकास दुबे के एनकाउंटर में मारा जा चुका है. एसटीएफ मध्य प्रदेश के उज्जैन से उसे आज सुबह ही कानपुर लेकर आई थी. कानपुर आते ही पुलिस की गाड़ी रास्ते में पलट गई. 

RPSC ने जारी किया RAS मेन-2018 का परिणाम, 1051 पदों के लिए जारी हुआ परिणाम

पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर विकास दुबे ने भागने की कोशिश की: 
पता चला है कि गाड़ी पलटने के बाद घायल एसटीएफ के पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर विकास दुबे ने भागने की कोशिश की. इस दौरान साथ में वाहन चल रहे थे, उसमें पुलिस टीम ने विकास दुबे पर जवाबी फायरिंग की. इस दौरान विकास दुबे गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

विकास दुबे और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई: 
बताया जा रहा है कि जब गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हुई, उस समय विकास दुबे भाग निकला. घटनास्थल से सात से आठ किलोमीटर की दूरी पर विकास दुबे और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई है. इस मुठभेड़ के दौरान विकास दुबे मारा गया. 

VIDEO: अजमेर में सोनोग्राफी करवाने गई युवती के साथ छेड़छाड़, युवक की लात-घूंसों और चप्पलों से की पिटाई

उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से किया था गिरफ्तार:
इससे पहले आठ पुलिस वालों की हत्या करने वाले पांच लाख के इनामी और यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे को बृहस्पतिवार सुबह बेहद नाटकीय तरीके से उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया. वारदात के बाद से फरार विकास यूपी, दिल्ली, हरियाणा और मध्य प्रदेश पुलिस को चकमा देकर दर्शन करने मंदिर पहुंचा था. गिरफ्तारी के बाद विकास से पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में दो घंटे से ज्यादा पूछताछ की गई. 

विकास दुबे के दो और साथियों का एनकाउंटर, कानपुर में प्रभात तो इटावा में रणबीर ढेर

विकास दुबे के दो और साथियों का एनकाउंटर, कानपुर में प्रभात तो इटावा में रणबीर ढेर

कानपुर: फरीदाबाद में विकास दुबे की मदद करने वाले अपराधी प्रभात मिश्रा और रणबीर शुक्ला को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है. इससे पहले पुलिस ने प्रभात मिश्रा को फरीदाबाद के एक होटल से गिरफ्तार किया था. बताया जा रहा है कि प्रभात मिश्रा पुलिस कस्टडी से भागने का प्रयास कर रहा था. ऐसे में प्रभात को एनकाउंटर को मार दिया. 

VIDEO- राजस्थान: यातायात नियमों को तोड़ने पर अब लगेगा भारी भरकम जुर्माना, यहां देखें पूरी लिस्ट 

रणबीर शुक्ला को मार गिराया:  
वहीं विकास दुबे के एक दूसरे करीबी रणबीर शुक्ला को मार गिराया गया है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रणबीर शुक्ला ने देर रात महेवा के पास हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था. उसके बाद पुलिस को जैसे ही लूट की जानकारी मिली तो उसे सिविल लाइन थाने के काचुरा रोड पर घेर लिया. 

तीन साथी भागने में कामयाब रहे:
इस दौरान रणबीर शुक्ला और पुलिस के बीच फायरिंग शुरू हो गई. इस फायरिंग में पुलिस ने रणबीर शुक्ला को ढेर कर दिया. हालांकि इस दौरान उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे. पुलिस ने रणबीर शुक्ला पर 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था. वह भी कानपुर शूटआउट का एक आरोपी था. 

राजीव गांधी फाउंडेशन मामले में बोले राहुल, कहा- सच्चाई के लिए लड़ने वालों की कोई कीमत नहीं होती

प्रभात ने पुलिस का हथियार छीनकर भागने का प्रयास किया:
वहीं प्रभात मिश्रा एनकाउंटर के बारे में पुलिस के एक अधिकारी ने बताते हुए कहा कि पुलिस की टीम प्रभात को लेकर फरीदाबाद से आ रही थी. रास्ते में गाड़ी पंचर हो गई, और इस दौरान प्रभात ने पुलिस का हथियार छीनकर भागने का प्रयास किया. इसके बाद हुए एनकाउंटर में प्रभात मारा गया है. कुछ सिपाही भी घायल हुए हैं. इससे पहले पुलिस ने विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे को एनकाउंटर में ढेर कर दिया था. उस पर भी 50 हजार रुपये का इनाम था. वहीं पुलिस लगातार विकास दुबे की तलाश कर रही है. 
 

विकास दुबे पर अब पांच लाख का इनाम, तलाश में छापेमारी जारी

विकास दुबे पर अब पांच लाख का इनाम, तलाश में छापेमारी जारी

कानपुर: कानपुर शूटआउट कांड में फरार मुख्य कुख्यात आरोपी विकास दुबे पर एक बार फिर इनाम की राशि बढ़ाई गई है. अब विकास दुबे के बारे में जानकारी देने वाले को 5 लाख रुपए का इनाम मिलेगा. चौबेपुर में हुई आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में लगातार विकास और उसके साथियों की धर पकड़ जारी है. 

Rajasthan Corona Updates: अस्पताल की दूसरी मंजिल से छलांग लगाने पर कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत, लगातार बढ़ रही संक्रमितों की संख्या 

दोनों को सिर पर 25 हजार का इनाम था: 
इससे पहले बुधवार को हमीर पुर में विकास के करीबी अमर को मुठभेड़ में मारने के बाद विकास के एक और साथी श्यामू बाजपेयी को कानपुर में पुलिस ने दबोचा है. इन दोनों को सिर पर 25 हजार का इनाम था. अमर बदमाशों द्वारा घात लगाकर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में शामिल था. 

केंद्रीय गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, राजीव गांधी फाउंडेशन के लेनदेन की होगी जांच 

विकास की तलाश में पुलिस की अनेक टीमें लगी हुई: 
गौरतलब है कि 2 जुलाई की रात को बिकारू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की निर्मम हत्या के बाद से ही गैंगस्टर विकास दुबे फरार है. उसकी तलाश में छापेमारी जारी है. फरीदाबाद एक होटल में विकास दुबे के छिपे होने की खबर मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी की. यहां विकास दुबे नहीं मिला, लेकिन उसका गुर्गा प्रभात मिला. विकास की तलाश में पुलिस की अनेक टीमें लगी हुई हैं. विकास दुबे के रिश्तेदार प्रभात समेत तीन लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है.


 

कानपुर: विकास दुबे पर 50 हजार का इनाम, UP पुलिस की 100 टीमें कर रही तलाश

कानपुर: विकास दुबे पर 50 हजार का इनाम, UP पुलिस की 100 टीमें कर रही तलाश

कानपुरः कानपुर मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों की जान लेने वाले हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की जानकारी देने पर पुलिस ने 50 हजार रुपये का इनाम रखा है. घटना के बाद अभी तक पुलिस को उसके बारे में कोई सुराग नहीं लग पाया है. उसकी तलाशी के लिए बनाई गई स्पेशल टास्क फोर्स कई जगहों पर छापेमारी कर रही है. 

गहलोत की युवा टीम, IAS तबादला सूची से सामने आई यूथ टीम, 12 से अधिक युवा कलेक्टर्स लगाए गए

विकास दुबे का ठिकाना बताने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा: 
शुक्रवार को कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने इस इनाम की घोषणा करते हुए कहा कि विकास दुबे का ठिकाना बताने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा. फिलहाल, बदमाश विकास दुबे के बारे में जानकारी लगाने के लिए कई लोगों से गहन पूछताछ की जा रही है. हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने थाना क्षेत्र में 8 पुलिस कर्मियों की हत्या को अंजाम दिया है, उसी थाने में उसके के खिलाफ 60 केस दर्ज हैं. ऐसे में विकास दुबे अब यूपी पुलिस का मोस्ट वॉन्टेड बन गया है. 

मां ने की सरेंडर करने की सलाह:
हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की मां सरला देवी ने अपने बेटे को सलाह दी कि वो सरेंडर कर दे वरना पुलिस उसे मार देगी. उन्होंने कहा कि मैं कहती हूं कि अगर पुलिस उसे पकड़ लेती है तो उसे मार भी दे क्योंकि उसने बहुत गलत काम किया है. विकास के खिलाफ दर्जनों संगीन मामले चल रहे हैं. हत्या और हत्या की कोशिश के कई केस भी इसमें शामिल हैं.

यूपी पुलिस की करीब 100 टीमों ने तलाशी अभियान चलाया: 
मिली जानकारी के अनुसार  विकास की तलाशी के लिए पूरे राज्य में एसटीएफ समेत यूपी पुलिस की करीब 100 टीमों ने तलाशी अभियान चलाया है, लेकिन अभी तक इस गैंगस्टर का कुछ पता नहीं चल पाया है. पुलिस ने उसके गांव वाले घर में भी छापा मारा और मोबाइल फोन बरामद किए, जिनकी जांच की जा रही है.

राजस्थान के पुलिस बेडे़ में बड़ा फेरबदल, 66 IPS अफसरों के तबादले, कार्मिक विभाग ने जारी किए आदेश  

8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए:
बता दें कि कानपुर के चौबेपुर थाना इलाके में पुलिस ने बिकरू गांव में दबिश दी थी. पुलिस यहां हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई थी. दबिश के दौरान बदमाशों ने पुलिस को घेरकर फायरिंग कर दी जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए.
 

कानपुर में बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग, आठ पुलिसकर्मी शहीद

कानपुर में बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग, आठ पुलिसकर्मी शहीद

कानपुर: देर रात कानपुर में एक हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. इसमें एक सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए. हमले में सात पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. घायल पुलिसकर्मियों में से एक की हालत बेदह गंभीर बनी हुई है, उनके पेट में गोली लगी है. ये मुठभेड़ कानपुर के शिवराजपुर इलाके में रात 1 बजे हुई. कानपुर के चौबेपुर थाना इलाके में पुलिस ने बिकरू गांव में दबिश दी थी.पुलिस यहां हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई थी.

देर रात गहलोत सरकार ने जारी की 103 IAS अधिकारियों की तबादला सूची, डीबी गुप्ता को हटाकर राजीव स्वरूप को बनाया मुख्य सचिव 

पुलिस ने तीन अपराधियों को मार गिराया: 
जानकारी के अनुसार कानपुर में एनकाउंटर वाली जगह से कुछ दूर एक और एनकाउंटर हुआ है जहां पुलिस ने तीन अपराधियों को मार गिराया है. पुलिस सूत्रों का कहना है कि ये तीनों वही अपराधी हैं जो विकास दुबे के साथ थे. जबकि विकास अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है.

घर के अंदर और छतों से गोलियां चलाई गईं:
बता दें कि गुरुवार रात करीब साढ़े 12 बजे बिठूर और चौबेपुर पुलिस ने मिलकर विकास दुबे के गांव बिकरू में उसके घर पर दबिश दी. इस पर विकास और उसके 8-10 साथियों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. घर के अंदर और छतों से गोलियां चलाई गईं. इसमें आठ पुलिसवाले शहीद हो गए. उनमें सीओ देवेंद्र कुमार मिश्रा, एसओ महेश यादव, चौकी इंचार्ज अनूप कुमार, सब-इंस्पेक्टर नेबुलाल, कांस्टेबल सुल्तान सिंह, राहुल, जितेंद्र और बबलू शामिल हैं. 

संतोष शुक्ला की थाने में घुसकर हत्या की थी:
विकास दुबे वही अपराधी है, जिसने 2001 में राजनाथ सिंह सरकार में मंत्री का दर्जा पाए संतोष शुक्ला की थाने में घुसकर हत्या की थी. 25000 के इनामी विकास दुबे पूर्व प्रधान व जिला पंचायत सदस्य भी रह चुका है. इसके खिलाफ 60 में से करीब 53 हत्या के प्रयास के मुकदमे चल रहे हैं. हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का जघन्य आपराधिक इतिहास रहा है.

योगी ने घटना की रिपोर्ट तलब की: 
मुख्यमंत्री योगी ने कानपुर की इस घटना में मारे गए पुलिसकर्मियों के प्रति शोक और उनके परिजनों से संवेदना प्रकट की है. योगी ने घटना की रिपोर्ट तलब की है और साथ ही डीजीपी एचसी अवस्थी से अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है. 

शहीद दीपचंद को दी गई अंतिम विदाई, पैतृक गांव में राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार 

60 में से करीब 53 हत्या के प्रयास के मुकदमे:
25000 के इनामी विकास दुबे पूर्व प्रधान व जिला पंचायत सदस्य भी रह चुका है. इसके खिलाफ 60 में से करीब 53 हत्या के प्रयास के मुकदमे चल रहे हैं. हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का जघन्य आपराधिक इतिहास रहा है.

कानपुर: कमिश्नर आवास के पास बंगले में युवती से गैंगरेप, आरोपी फरार

कानपुर: कमिश्नर आवास के पास बंगले में युवती से गैंगरेप, आरोपी फरार

कानपुर: जिले के ग्वालटोली थाना इलाके में कमिश्नर आवास के पास एक बंगले में असम की युवती के साथ चार युवकों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है. किसी तरह दरिदों के चंगुल से छुटकर युवती ने राहगीरों की मदद से पुलिस को सूचना दी है. उसके बाद पुलिस के मौके पर पहुंचने पर आरोपी मौके से फरार होने में कामयाब हो गए. 

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा MP का सियासी मामला, बहुमत परीक्षण पर BJP ने दी याचिका 

युवती शोर मचाते हुए बंगले से बाहर आई:
पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपियों की कार कब्जे में ली है. वहीं युवकी को महिला थाने में भेजा गया. जानकारी के अनुसार कमिश्नर आवास के पास रात करीब पौने ग्यारह बजे सड़क पर एक युवती शोर मचाते हुए बंगले से बाहर आई. उसके कपड़े अस्त-व्यस्थ थे. यह देख स्थानीय लोगों ने उनसे बात करने का प्रयास किया. इस पर जानकारी मिली की युवती असम की रहने वाली है और वह हिंदी में बात नहीं कर पा रही. इस पर लोगों ने पुलिस को सूचना दी. इस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती को महिला थाने भेजा. 

VIDEO: वेणुगोपाल के खिलाफ कोई मामला लंबित नहीं- अविनाश पांडे 

पुलिस आरोपियों की जानकारी जुटा रही:  
वहीं पुलिस जब्त कार के नंबर के आधार पर आरोपियों की जानकारी जुटा रही है. युवती की तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. लेकिन इस मामले में सबसे बड़ी हैरानी वाली बात तो यह है कि थानेदार ने आलाधिकारियों तक इस घटना के बारे में जानकारी नहीं दी. 

डबल मर्डर: बिस्तर पर देवर के साथ पत्नी को देख पति ने काट डाला दोनों को

डबल मर्डर: बिस्तर पर देवर के साथ पत्नी को देख पति ने काट डाला दोनों को

उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद के नर्वल थाना क्षेत्र में शुक्रवार सुबह डबल मर्डर का सनसनीखेज मामला सामने आया है.कानपुर के नर्वल थाना क्षेत्र के नरौरा गांव में शुक्रवार तड़के पति ने अवैध संबंधों में पत्नी और उसके प्रेमी की गला रेतकर हत्या कर दी. वारदात के बाद हत्यारोपित पति ने खुद ही पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है. घटना की जानकारी पर एसएसपी भी मौके पर पहुंचे.नरौरा गांव निवासी राजेश कुमार कुरील मजदूरी करता है. उसके तीन बच्चे हैं। पुलिस के अनुसार राजेश के घर रिश्तेदार (फूफा का बेटा) फतेहपुर निवासी मनीष का आना जाना था. 

पत्नी सुनीता के अवैध संबंध थे.गुरुवार देर शाम मनीष राजेश के घर पहुंचा था. राजेश ने मनीष और सुनीता को एक साथ देखा तो अपना आपा खो दिया और धारदार हथियार से दोनों की गला रेतकर हत्या कर दी..राजेश की सूचना पर पुलिस फोर्स पहुंची औऱ उसे गिरफ्तार कर लिया.इसके साथ ही दोनों मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा.गांव में सूचना फैलने पर सनसनी फैल गयी. ग्रामीणों की घटना स्थल पर भीड़ जमा हो गयी.घटना की जानकारी पाकर शुक्रवार सुबह एसएसपी अनंत देव भी मौके पर पहुंचे.एसएसपी ने बताया कि अवैध संबंधों के चलते पति ने हत्या की है. 

क्या थी पूरी घटना

नर्वल थाना इलाके में स्थित नरौरा ग्राम में निवासी राजेश कुरील (40) परिवार के साथ रहते हैं.इनकी पत्नी सुनीता (35) के प्रेम संबंध दूर के रिश्तेदार फतेहपुर जनपद के ओंग थाना के ग्राम कौडिया गलाथा निवासी मनीष (25) पुत्र कल्लू से थे. कई बार पति-पत्नी के बीच कहासुनी हुई, लेकिन पत्नी सुनीता ने प्रेमी मनीष से मिलना जुलना बंद नहीं किया और प्रेम सम्बंध अवैध संबंध तक जा पहुंचे. इसको लेकर पति पत्नी के बीच काफी समय से विवाद चला आ रहा था. इस बात को लेकर गुरुवार की देर रात पति राजेश और पत्नी सुनीता के बीच झगड़ा हुआ.इसकी पत्नी सुनीता ने फोन कर अपने आशिक को घर बुला लिया. जानकारी के मुताबिक यहां पहुंचने पर आशिक मनीष सुनीता से चुपचाप मिला. इस बीच पति को भनक लग गई और उसने घर के अंदर जाकर देखा तो दोनों आपत्तिजनक हालत में थे। यह देख आग बबूला पति ने दोनों पर चाकू से हमला कर गले पर कई वार कर दोनों को मौत के घाट उतार दिया

आरोपी को गिरफ्तार कर कार्रवाई की जा रही है.डबल मर्डर की सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अंनत देव, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण प्रदुमन सिंह कई थानों के पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचे. पुलिस ने आरोपी पति को वारदात में प्रयुक्त चाकू बरामद करते हुए गिरफ्तार कर लिया.पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पंचनामा भरते हुए पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया.

 

Open Covid-19