प्रदेश के पश्चिमी चार जिलों को यूनेस्को लाएगा विश्व पर्यटन मानचित्र पर

Nirmal Tiwari Published Date 2019/09/05 02:46

जयपुर: प्रदेश के पश्चिमी चार जिलों को अब विश्व पर्यटन मानचित्र पर लाने की जिम्मेदारी यूनेस्को निभाएगा. आज पर्यटन भवन में पर्यटन व देवस्थान मंत्री विश्वेंद्र सिंह की मौजूदगी में प्रमुख सचिव श्रेया गुहा और यूनेस्को के कंट्री डायरेक्टर एरिक फॉल्ट ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए. एमओयू के मुताबिक, अब यूनेस्को 42 महीने तक जोधपुर, बीकानेर, बाड़मेर और जैसलमेर में एक विशेष पर्यटन सर्किट तैयार करेगा. इसके तहत इन जिलों के हस्तशिल्प, लोक नृत्य व संगीत सहित अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा. 

चार जिलों के दस नए पर्यटनस्थलों का किया जाएगा विकास: 
इन चार जिलों के दस नए पर्यटनस्थलों का विकास किया जाएगा. जोधपुर के 450 लोक कलाकार, बाड़मेर के 550 और जैसलमेर व बीकानेर के 250-250 कलाकारों का चयन किया जाएगा. जो अपने आने क्षेत्र की हस्तशिल्प और नृत्य संगीत की विधाओं को विश्व पर्यटन पटल पर रख सकेंगे. पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने यूनेसको से इस बात का आग्रह किया है कि अगले चरण वे पूर्वी राजस्थान को भी इस प्रोजेक्ट में शामिल करेंगे ताकि ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा मिले और पूर्वी राजस्थान के पर्यटन उत्पादों को मुख्यधारा में लाया जा सके. प्रमुख सचिव श्रेया गुहा ने बताया कि इस एमओयू के बाद इन चारों जिलों की सांस्कृतिक धरोहर देश दुनिया तक पहुंचेगी. इससे स्थानीय पर्यटन उत्पाद एक ब्रांड के तौर पर तब्दील होंगे और ट्रेवल ट्रेड को नए डेस्टीनेशंस मिलेंगे. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in