लखनऊ UP: IAS डॉक्टर अजय शंकर पांडेय कमिश्नर झांसी बनेंगे आयोग के चेयरमैन

UP: IAS डॉक्टर अजय शंकर पांडेय कमिश्नर झांसी बनेंगे आयोग के चेयरमैन

UP: IAS डॉक्टर अजय शंकर पांडेय कमिश्नर झांसी बनेंगे आयोग के चेयरमैन

लखनऊ(अहतेशाम सिद्दीकी): उत्तर प्रदेश की ब्यूरोक्रेसी में अचानक एक सीनियर IAS अफसर डॉक्टर अजय शंकर पांडेय (IAS Dr Ajay Shankar Pandey) कमिश्नर झांसी (Jhansi Commissioner) का नाम आयोग के चेयरमैन (Commission Chairman) बनने की रेस में आ गया है.  2005 बैच के PCS कैडर के IAS अजय शंकर पांडेय 4 जून 2021 को झांसी मण्डल के कमिश्नर बने थे. जिनका रिटायरमेंट 31 जुलाई 2022 को होना है.

IAS अजय शंकर पांडेय अखिलेश सरकार में इंटर स्टेट डेपूटेशन पर 10 फरवरी 2015 को राजस्थान गये थे. लेकिन वह 2 साल बाद ही 15 फ़रवरी 2019 को UP लौट आये. राजस्थान से UP लौटने ही उन्होंने ब्यूरोक्रेसी में अपनी धमक दिखाते हुए पहली पोस्टिंग मुजफ्फरनगर जैसे बडे ज़िले के जिलाधिकारी बने. मुजफ्फरनगर के DM बनने के बाद उन्होंने ने गाजियाबाद कलेक्टर की कमान 12 जुलाई 2019 से 4 जून 2021 तक 2 साल संभाली.

कलेक्टर से प्रमोशन पाकर वर्ष जनवरी 2021 कमीश्नर बनने वाले IAS अजय शकर पाण्डेय ने कमीश्नर बनने के बाद भी 6 महीने अतिरिक्त गाजियाबाद के DM बने रहे....और वहीं से अपनी पोस्टिंग सीधे झांसी कमीश्नर के रूप में करवाने में कामयाब हुए. चुकी इनको DOPT से एक्सटेंशन नही मिल सकता है. लिहाज़ा यह UP के किसी आयोग में चेयरमैन बनने की तैयारी में जुट गये है !

10 जून को नियुक्त विभाग को पत्र भेजकर एक NOC की: 
इलाहाबाद के रहने वाले IAS डॉक्टर अजय शकर पाण्डेय ने 10 जून को नियुक्त विभाग को पत्र भेजकर एक NOC की डिमांड की है. जिसमें इन्होंने NOC का इस्तेमाल अधीनस्त सेवा चयन आयोग, UP राज्य  लोक सेवा आयोग अभिकरण जैसी जगहों और मेम्बर बनने के लिए इतेमाल करने का जिक्र है ! ब्यूरोकेसी के पॉवरफूल IAS अफ़सर की फाइल शासन में राकेट की तरह दौड़ने लगी है...और 13 दिनों के अंदर सारी औपचारिकता पूरी करते हुए इन्हें NOC प्रदान कर दी गयीं है !

और पढ़ें