UP Vidhan Sabha Election 2022: बिगुल बजने में कुछ माह बाकी, जानिए कौन होगा उत्तर प्रदेश का बाहुबली?

UP Vidhan Sabha Election 2022: बिगुल बजने में कुछ माह बाकी, जानिए कौन होगा उत्तर प्रदेश का बाहुबली?

UP Vidhan Sabha Election 2022: बिगुल बजने में कुछ माह बाकी, जानिए कौन होगा उत्तर प्रदेश का बाहुबली?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के आगामी विधान सभा चुनाव का बिगुल बजने में मात्रा कुछ ही माह बाकी है, लेकिन इसकी गर्मी अभी से महसूस की जा रही है. साल 2017 में अप्रत्याशित जीत दर्ज करने वाली बीजेपी इस बार फिर से सरकार बनाने का दवा कर रही है तो दूसरी तरफ सपा भी अपने जीत का दम्भ भर रही है, वही कांग्रेस, बसपा और अन्य दल भी अपनी अपनी जोर आजमाइश की जुगत में लगे हुए है. 

इस बार चुनाव होगा बहुत ही रोचक: 

उत्तर प्रदेश का चुनाव मेरी नजर से देखें तो इस बार बहुत ही रोचक होने जा रहा है, क्यूंकि इस बार चुनाव त्रिकोणीय होने की संभावना दिख रही है, कांग्रेस जो 2017 के चुनाव में दहाई का आकड़ा भी नहीं छू पाई थी इस बार किसान आंदोलन को भीतर से समर्थन और सहयोग देकर पश्चिमी यूपी में अपनी खोयी हुई साख तलाश रही है, इसके अलावा भीम आर्मी के चंद्र शेखर का भी साथ मिल जाने से कांग्रेस कुछ बजबूत दिखने लगी है, लेकिन कांग्रेस की सबसे बड़ी समस्या उनके नेताओ का दल बदल और वर्चस्व की लड़ाई है. अगर प्रियंका गांधी की अगुवाई वाली यूपी कांग्रेस अपने इन दो समस्याओं का समाधान खोज ले तो कांग्रेस की मजबूती और बढ़ जाएगी. 

सपा जिला पंचायत के परिणामों से उत्साहित:

वहीं सपा जिला पंचायत के परिणामों से उत्साहित है और अगर ये परिणाम विधान सभा पे दोहरा दे तो बहुमत तक भी पहुंच सकती है, अभी तक सपा में सब कुछ ठीक ठाक ही दिख रहा है, वाराणसी से शिक्षक और स्नातक एमएलसी का चुनाव जीतने के बाद पूर्वांचल में सपा ने अपना दम भी दिखा दिया तो वही लोकदल के गठबंधन से पश्चिमी यूपी में भी मजबूत स्थिति में सपा दिख रही है, मेरा मानना है सपा इस बार गैर यादवों पे दांव खेलेगी जिससे Y + M के आलावा उसे अन्य जातियों का भी समर्थन मिल सके.

योगी के नेतृत्व में ही यूपी का चुनाव लड़ेगी भाजपा:

अगर मीडिया रिपोर्टस की माने तो सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में ही यूपी का चुनाव लड़ेगी भाजपा. यूपी में भाजपा ने 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर सूत्रों से बड़ा खुलासा हुआ है. वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए विधायकों का रिपोर्टकार्ड भी तैयार किया जा रहा है. पिछली बार के विधायकों को परफॉर्मेंस के आधार पर इस बार दिया जाएगा टिकट. यूपी में टिकट बंटवारे पर संगठन की सहमति के साथ-साथ सीएम योगी की अंतिम मुहर लगेगी इसका मतलब साल 2022 में विधानसभा चुनाव के लिए सीएम योगी की सहमति पर ही मिलेगा विधायकों को टिकट.

यूपी में आज भी सबसे मजबूत पार्टी बीजेपी ही:

देखा जाये तो यूपी में आज भी सबसे मजबूत पार्टी बीजेपी ही है और अगर बीजेपी के सभी तंत्र पूर्ण रूप से बीजेपी के पक्ष में प्रचार अभियान संभल ले तो आज भी बीजेपी को हारने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है, जो मुझे अभी नहीं दिख रहा है. खैर सपा और कांग्रेस को खोने के लिए कुछ नहीं है उन्हें सही रणनीति के तहत अपना प्रचार सुरु करना होगा जितना हो सके उतना लोकल मुद्दा उठाएं और जनता का विश्वास हासिल करें.
 
...प्रितेश आनंद रघुवंशी चुनाव रणनीतिकार  

और पढ़ें