फतेहपुर: जेल प्रशासन की अनूठी पहल, अब अनपढ़ कैदियों को साक्षर बनाएंगे कैदी शिक्षक

फतेहपुर: जेल प्रशासन की अनूठी पहल, अब अनपढ़ कैदियों को साक्षर बनाएंगे कैदी शिक्षक

फतेहपुरः उत्तरप्रदेश के फतेहपुर जिले की जेल में बंद विचाराधीन अनपढ़ कैदियों को साक्षर बनाने के लिए जेल प्रशासन ने अनूठी पहल की है, जिसके तहत 250 अनपढ़ कैदियों को पढ़ाने के लिए 11 कैदी शिक्षक नियुक्त किए गए हैं. फतेहपुर जिला जेल के अधीक्षक मोहम्मद अकरम खान ने पीटीआई-भाषा से कहा है जेल में कुल 1,400 विचाराधीन कैदी हैं, इनमें से 250 अनपढ़ कैदियों को छांटा गया है.

बैरक बनेंगे क्लास रुम

ये सभी कैदी निरक्षर हैं, इन्हें साक्षर बनाने के लिए 11 शिक्षित कैदी शिक्षक नियुक्त किए गए हैं. उन्होंने कहा है कि बैरक के बरामदे को कक्षा (क्लास रूम) बनाया गया है और यहीं पर ब्लैक बोर्ड लगाकर कैदियों को साक्षर बनाने के लिए प्रतिदिन दोपहर 12 बजे से दो बजे तक कक्षाएं लगाई जाएंगी. 

जेल कर्मी भी करेंगे सहयोग

खान ने बताया कि निरक्षर कैदियों की पढ़ाई-लिखाई में इस्तेमाल होने वाली सामग्री की आपूर्ति के लिए फतेहपुर शहर की सामाजिक संस्था ट्रुथ मिशन स्कूल ने हामी भरी है. इसके लिए जेल कर्मियों से भी सहयोग लिया जाएगा.

शिक्षा के अभाव में करता है व्यक्ति अपराध

खान ने कहा है कि शिक्षा के अभाव में व्यक्ति अपराध करता है. हमारी कोशिश होगी कि साक्षर होकर जेल से रिहा होने वाला कैदी समाज की मुख्य धारा से जुड़े और अपने जीवनयापन के लिए कोई रोजगार कर सकें. (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें