लखनऊ UP : छोटे शहरों को भी मिलेगा भरपूर ऑक्सीजन, जानिये कैसी है CM योगी की प्लानिंग

UP : छोटे शहरों को भी मिलेगा भरपूर ऑक्सीजन, जानिये कैसी है CM योगी की प्लानिंग

UP : छोटे शहरों को भी मिलेगा भरपूर ऑक्सीजन, जानिये कैसी है CM योगी की प्लानिंग

लखनऊ : देश में कोरोना ने जमकर कोहराम मचा रखा है. देशभर में ऑक्सीजन की कमी के कारण कई लोगों की जान जका चुकी है. ऐसे में उत्तरप्रदेश सरकार प्रदेशवासियों को कॉरोनकाल में किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करने का विश्वाश दिला रहे है. ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्य (CM Yogi Aditya Nath) नाथ ने बड़े शहरों के साथ छोटे शहरों को भी भरपूर ऑक्सीजन (Rich oxygen) देने की प्लानिंग बनाई है. 

भारतीय रेल की विशेष ऑक्सीजन रेल उत्तर प्रदेश पहुंच चुकी: योगी 
सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित कराई (Ensured smooth availability) जा रही है. बोकारो से भारतीय रेल की विशेष ऑक्सीजन रेल (Oxygen Rail) उत्तर प्रदेश पहुंच चुकी है. मोदीनगर, काशीपुर, पानीपत और रुड़की प्लांट से भी प्रदेश को ऑक्सीजन आपूर्ति हो रही है. इस ऑक्सीजन का पारदर्शिता के साथ सुचारु वितरण कराया जाए.

टैंकरों की जीपीएस मॉनिटरिंग और पर्याप्त सुरक्षा बल मुहैया कराया जाए 
योगी ने प्रशासन से कहा है कि बहराइच, फिरोजाबाद आदि छोटे जिलों को उनके मंडल मुख्यालयों से ऑक्सीजन आवंटित कराया जाए. गोरखपुर, बरेली सहित विभिन्न जिलों में टैंकरों से ऑक्सीजन भेजा जा रहा है. इन टैंकरों की GPS (Global Positioning System) मॉनिटरिंग और पर्याप्त सुरक्षा बल मुहैया कराया जाए. प्रदेश में किसी भी मरीज को ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी.  समस्त जनपदों के सभी छोटे-बड़े अस्पतालों पर शासन स्तर से सीधी नजर रखी जाए.

मांग और आपूर्ति की स्थिति की 24×7 मॉनिटरिंग की जाए:
CM योगी ने कहा कि ऑक्सीजन उत्पादन अथवा रिफिल करने वाली प्रदेश की MSME (Micro, Small and Medium Enterprises) इकाइयों को सीधे अस्पतालों से जोड़कर ऑक्सीजन आपूर्ति व्यवस्था को और मजबूत किया गया है. भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) भी विविध केंद्रों से ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित कराने में सहयोग कर रही है.  मांग और आपूर्ति की स्थिति की 24×7 मॉनिटरिंग की जाए. वितरण व्यवस्था पारदर्शी हो, यह सुनिश्चित करें। 

सीएम योगी ने कहा कि ऑक्सीजन की मांग और आपूर्ति में संतुलन बनाने की आवश्यकता है. ऐसे में, ऑक्सीजन ऑडिट (Oxygen Audit) कराया जाए. जो लोग होम आइसोलेशन (Home Isolation) में इलाज करा रहे हैं, उन्हें आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन जरूर उपलब्ध कराया जाए. प्रदेश में कहीं भी ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी।

और पढ़ें