US ने Trump प्रशासन के दौरान सीमा पर पेरेंट्स से अलग हुए 3,900 बच्चों की पहचान की

US ने Trump प्रशासन के दौरान सीमा पर पेरेंट्स से अलग हुए 3,900 बच्चों की पहचान की

US ने Trump प्रशासन के दौरान सीमा पर पेरेंट्स से अलग हुए 3,900 बच्चों की पहचान की

सैन डिएगो : अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) के प्रशासन ने मंगलवार को कहा कि उसने पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Former President Donald Trump) की अवैध रूप से सीमा पार करने की कतई बर्दाश्त न करने की नीति (Zero Tolerance Policy) के तहत अमेरिका-मेक्सिको (America-Mexico) सीमा पर अपने माता-पिता से जुदा किए गए 3,900 से अधिक बच्चों की पहचान की है. बाइडन प्रशासन की ओर से दी गई यह जानकारी अमेरिकी आव्रजन इतिहास के उस अध्याय का विस्तार से एक और ब्योरा देता है जिसकी चौतरफा निंदा की गई थी.

जीरो टॉलरेंस नीति के तहत माता-पिता से बिछुड़े सभी बच्चों की पहचान कर ली गई:
बाइडन प्रशासन के परिवार पुनर्मिलन कार्यबल (Reunification Workforce) द्वारा एक जुलाई, 2017 से लेकर ट्रंप के राष्ट्रपति कार्यकाल के समाप्त होने तक माता-पिता से जुदा हुए 3,913 बच्चों की गिनती सरकारी सूचना के आधार पर अदालती दाखिलों में अमेरिकन सिविल लिबर्टीज यूनियन (American Civil Liberties Union) की तरफ से पहचाने गए 5,500 बच्चों की संख्या से काफी कम है. कार्य बल ने कहा कि उसने ‘‘जीरो टॉलरेंस” नीति के तहत माता-पिता से बिछुड़े “लगभग” सभी बच्चों की पहचान कर ली है लेकिन वह जुलाई से अन्य 1,723 मामलों की समीक्षा करेगा जो कुल मामलों की संख्या 5,636 हो जाएगी जो ACLU के आंकड़ों के करीब पहुंच जाएगा.

अभी और बढ़ सकती है अंतिम संख्या:  
यह विसंगति मुख्य रूप से सैन डिएगो (San Diego) की संघीय अदालत (Federal Court) के फैसले के कारण है जिसमें 1,723 बच्चे जो ट्रंप की कतई बर्दाश्त न करने की नीति के बजाय दूसरे कारणों के चलते जुदा हुए थे, उन्हें बाहर रखा गया था. कार्यबल यह भी निर्धारित करने की कोशिश करेगा कि ये बच्चे जनवरी 2017 से शुरू करते हुए ट्रंप के कार्यकाल के शुरुआती छह महीनों में अलग हुए थे जो समय सीमा ACLU के वाद की सीमा से बाहर थी. इससे अंतिम संख्या और बढ़ सकती है.

अधिकत्तर बच्चों को उनके माता-पिता को सौंपा गया:
इन 3,913 बच्चों में से 1,786 को अपने माता-पिता से मिला दिया गया जिनमें से अधिकतर ट्रंप के कार्यकाल के दौरान ही मिले जबकि 1,695 के माता-पिता से संपर्क किया गया और 391 का अता-पता नहीं चल पाया. जिन माता-पिता से संपर्क किया गया उनमें से अधिकतर के बच्चों को परिवार के अन्य सदस्यों को सौंपा गया.

 

और पढ़ें