वाशिंगटन USA: राष्ट्रपति जो बाइडन बोले- तानाशाही और लोकतंत्र के बीच जंग चल रही आज की दुनिया में

USA: राष्ट्रपति जो बाइडन बोले- तानाशाही और लोकतंत्र के बीच जंग चल रही आज की दुनिया में

USA: राष्ट्रपति जो बाइडन बोले- तानाशाही और लोकतंत्र के बीच जंग चल रही आज की दुनिया में

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि दुनिया में तानाशाही और लोकतंत्र के बीच जंग चल रही है और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग का मानना है कि 21वीं सदी में लोकतंत्र को बनाए नहीं रखा जा सकता.

बाइडन ने अलबामा के ‘लॉकहीड मार्टिन पाइक काउंटी ऑपरेशन’ में मंगलवार को कहा कि हम इतिहास में बदलाव के मोड़ पर हैं, यकीनन. यह प्रत्येक छठवीं या आठवीं पीढ़ी में होता है, जहां चीजें बहुत तेजी से बदलती हैं, लेकिन हमें नियंत्रण में रहना होता है. उन्होंने कहा कि मित्रों दुनिया में तानाशाही और लोकतंत्र के बीच जंग चल रही है. चीन के नेता शी चिनफिंग, जिनके साथ मेरी बात हुई और उनके साथ मैंने दुनिया के किसी अन्य नेता की तुलना में अधिक वक्त बिताया है. उनके साथ व्यक्तिगत तौर पर और फोन पर करीब 78 घंटे बिताए हैं और उनका कहना है कि 21वीं सदी में लोकतंत्र को बनाए नहीं रखा जा सकता.

अमेरिका को युद्ध में शामिल होने का खतरा नहीं उठाना पड़े:

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि यह मजाक नहीं है. इसे इसलिए नहीं बनाए रखा जा सकता, क्योंकि चीजें तेजी से बदल रही हैं. लोकतंत्र सहमति से बनता है और सहमति बनना मुश्किल है लेकिन केवल इसलिए तानाशाही नहीं ला सकते. ऐसा नहीं होने वाला. अगर ऐसा होता है तो पूरी दुनिया बदल जाएगी. बाइडन ने लोगों से कहा कि वह इस बात को संभव बना रहे हैं कि यूक्रेन के लोग अपनी रक्षा खुद कर सकें अमेरिका को युद्ध में शामिल होने का खतरा नहीं उठाना पड़े. उन्होंने लॉकहीड के कर्मचारियों को बताया कि अमेरिका ने यूक्रेन को 5500 से अधिक जैवलिन टैंक रोधी मिसाइलें देने का वादा किया है. लॉकहीड कंपनी इन्हीं मिसाइलों का निर्माण करती है. सोर्स-भाषा   

और पढ़ें