वेस्ट पाम बीच USA: पायलट की तबीयत अचानक खराब होने पर एक यात्री ने विमान को सुरक्षित उतारा

USA: पायलट की तबीयत अचानक खराब होने पर एक यात्री ने विमान को सुरक्षित उतारा

USA: पायलट की तबीयत अचानक खराब होने पर एक यात्री ने विमान को सुरक्षित उतारा

वेस्ट पाम बीच: अमेरिका में फ्लोरिडा के अटलांटिक तट से दूर एक छोटे विमान में पायलट की तबीयत अचानक खराब होने के बाद एक यात्री ने ‘कॉकपिट रेडियो’ के जरिए मदद की गुहार लगाई और हवाई नियंत्रकों के निर्देशों का पालन करते हुए विमान को सुरक्षित उतारा.

यात्री ने मंगलवार को बताया कि  स्थिति काफी गंभीर थी. पायलट को तबीयत खराब होने की वजह से कुछ समझ नहीं आ रहा था. मुझे विमान उड़ाने का कोई अनुभव नहीं था. ‘कॉकपिट रेडियो’ के जरिए मदद की गुहार लगाने के बाद फोर्ट पियर्स में एक हवाई यातायात नियंत्रक ने जवाब दिया और यात्री से पूछा कि क्या वह सिंगल-इंजन सेसना 280 के बारे में कुछ भी जानते हैं. यात्री ने कहा कि मुझे कोई अंदाजा नहीं था. मुझे मेरे सामने फ्लोरिडा का तट नजर आ रहा था और मुझे कुछ नहीं पता था.

हवाई यातायात नियंत्रक रॉबर्ट मॉर्गन ने इसके बाद व्यवस्था अपने हाथ में ली और विमान को सुरक्षित तरीके से उतरवाया :

इसके बाद, नियंत्रक ने बेहद शांत रहते हुए उनसे बात की और उन्हें विमान के पंखों को संतुलित रखने और तट की ओर बढ़ने को कहा. इसके कुछ मिनट बाद ही नियंत्रकों ने विमान के स्थान का पता लगा लिया और उन्हें पता चला कि विमान बोका रैटोन के ऊपर उत्तर की ओर बढ़ रहा है. यात्री की आवाज धीमी होने पर नियंत्रक ने उनसे उनका फोन नंबर मांगा, ताकि पाम बीच अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर नियंत्रकों के साथ वह आराम से बात कर पाएं. हवाई यातायात नियंत्रक रॉबर्ट मॉर्गन ने इसके बाद व्यवस्था अपने हाथ में ली और विमान को सुरक्षित तरीके से उतरवाया.

इस संबंध में तत्काल कोई जानकारी नहीं दी गई है और अधिकारियों ने उसकी पहचान भी उजागर नहीं की: 

यात्री के विमान को सुरक्षित ‘टरमैक’ पर उतारने पर एक अन्य नियंत्रक ने कहा कि नए पायलट को बधाई. मॉर्गन ने कहा कि ऐसा लगता है कि वह यात्री सही समय पर, सही जगह पर था. ‘फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन’ के प्रवक्ता रिक ब्रेटेनफेल्ड ने पुष्टि की है कि विमान में केवल पायलट और एक यात्री ही सवार था. एजेंसी मामले की जांच कर रही है. पायलट की हालत अब कैसी है, इस संबंध में तत्काल कोई जानकारी नहीं दी गई है और अधिकारियों ने उसकी पहचान भी उजागर नहीं की है. सोर्स-भाषा  

और पढ़ें