उदयपुर उदयपुर: कन्हैयालाल के हत्यारों की न्यायालय में पेशी, आरोपियों को 13 जुलाई तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजा

उदयपुर: कन्हैयालाल के हत्यारों की न्यायालय में पेशी, आरोपियों को 13 जुलाई तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजा

उदयपुर: राजस्थान में उदयपुर के दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के दो आरोपियों को बृहस्पतिवार शाम को कड़ी सुरक्षा के बीच एक स्थानीय अदालत में पेश किया गया. सरकारी वकील कपिल टोडावत ने जानकारी देते हुए कहा कि आरोपियों को 13 जुलाई तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजा है. इससे पहले उदयपुर जिला एवं सेशन न्यायालय परिसर में गहमागहमी बढ़ गई थी. एक अधिकारी ने बताया कि दोनों आरोपी रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद को एक पुलिस वैन में अदालत लाया गया. उन्होंने बताया कि दोनों अपराधियों के चेहरे ढके हुए थे और उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया गया.

अधिकारी के अनुसार, कई अधिवक्ताओं ने अदालत परिसर में नारेबाजी की. गौरतलब है कि रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद ने मंगलवार को उदयपुर में कथित तौर पर दर्जी कन्हैयालाल को उसकी दुकान में चाकू से वार कर हत्या कर दी थी और बाद में ऑनलाइन वीडियो पोस्ट करके उन्होंने कहा था कि वे इस्लाम के अपमान का बदला ले रहे हैं. आरोपियों को अदालत में पेश करने के समय शाम को बड़ी संख्या में वकील अदालत परिसर में जमा हो गये और आरोपियों को फांसी की सजा की मांग को लेकर नारेबाजी करने लगे.  आपको बता दें कि मंगलवार को उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद जिले में तनाव फैल गया था.​  जिले के कई इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया था. पुलिस ने हत्या के 2 मुख्य आरोपी गिरफ्तार किए थे. इसके अलावा चार संदिग्ध भी पुलिस हिरासत में बताए जा रहे है. मामले की जांच NIA और SIT कर रही हैं.  

आपको बता दें कि राजस्थान के उदयपुर में हिंदू दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के बाद अब पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां लगातार हत्यारों के कनेक्शन खोजे जा रही हैं. इसी क्रम में  सुरक्षा एजेंसियों ने गुरुवार को उदयपुर के सपेटिया इलाके में एक लोहे के कारखाने में छापेमारी की है. दर्जी कन्हैयालाल हत्याकांड के आरोपी रियाज और गौस ने यहीं बैठकर हत्या के बाद वाला वीडियो बनाया था. तो वहीं इस कारखाने के इंजीनियर्स के मालिक का नाम शोएब बताया गया है.जिसकी जानकारी एक स्थानीय व्यक्ति ने  दी. 

कारखाने के बाहर मौजूद एक स्थानीय व्यक्ति ने पत्रकारों को कहा कि पुलिस दल दो लोगों के साथ आए और इस कारखाने में छापेमारी की. दोनों लोगों के चेहरे ढके हुए थे. उन्होंने कारखाने के कार्यालय को भी सील कर दिया है. उन्होंने बताया कि कारखाने के अंदर मौजूद एक मजदूर ने दावा किया कि दल ने कारखाने से कुछ बरामद भी किया है.

और पढ़ें