केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की आहार क्रांति की शुरुआत, पोषण के बारे में जागरूक करेगी ये पहल

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की आहार क्रांति की शुरुआत, पोषण के बारे में जागरूक करेगी ये पहल

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की आहार क्रांति की शुरुआत, पोषण के बारे में जागरूक करेगी ये पहल

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पोषण और स्थानीय स्तर पर उपलब्ध पौष्टिक खाद्य पदार्थों, फलों तथा सब्जियों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए ‘आहार क्रांति’ की शुरूआत की है. बुधवार को जारी एक बयान में इस बारे में बताया गया है.

एक संतुलित आहार इस महामारी के प्रभाव को कम करता है:
हर्षवर्धन ने मंगलवार को इस पहल की शुरूआत करते हुए कहा कि आज जब देश कोविड-19 जैसी महामारी का सामना कर रहा है. ऐसे में एक संतुलित आहार इस महामारी के प्रभाव को कम करने में एक विशेष उपाय के रूप में कार्य करता है. ऐसे समय में संतुलित आहार के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है. इस पहल का सूत्र वाक्य उत्तम आहार-उत्तम विचार है.

भारत उपभोग कैलोरी का दोगुनी ऊर्जा का उत्पादन भी करता:
बयान में कहा गया है कि आहार क्रांति की शुरूआत भारत और दुनिया के समक्ष भूख तथा बीमारियों की गंभीर समस्याओं का समाधान करने के लिए की गई है. इसमें कहा गया है कि अध्ययन से पता चला है कि भारत जितनी कैलोरी (भोजन में उपलब्ध ऊर्जा की मात्रा) का उपभोग करता है. उससे दोगुनी ऊर्जा का उत्पादन भी करता है. हालांकि, अभी भी कई लोग कुपोषित हैं. इस अजीबो-गरीब हालात का मुख्य कारण पोषण संबंधी जागरूकता का अभाव है.

संतुलित आहार को परिपूर्ण बनाने पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा:
बयान के अनुसार इस आंदोलन में भारत के परम्परागत आहार के महत्व और पौष्टिकता के बारे में लोगों को जागरूक कर इस समस्या का समाधान करने का प्रस्ताव किया गया है. ताकि स्थानीय फलों और सब्जियों के फायदों और संतुलित आहार के चमत्कारों का लाभ उठाया जा सके. बयान में कहा गया है कि आहार क्रांति में स्थानीय फलों और सब्जियों में पोषक रूप से संतुलित आहार को परिपूर्ण बनाने पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा.

विजनाना भारती (विभा), ग्लोबल इंडियन साइंटिस्ट्स एंड टेक्नोक्रेट्स फोरम (GIST), विज्ञान प्रसार और प्रवासी भारतीय अकादमिक एवं वैज्ञानिक सम्पर्क (प्रभास) आहार क्रांति की शुरूआत करने के लिए मंच पर आए.
 

और पढ़ें