अनुच्छेद-370 के मसले पर Digvijay के बयान पर बोले Ravishankar Prasad, कहा- अपना रुख साफ करे Congress

अनुच्छेद-370 के मसले पर Digvijay के बयान पर बोले Ravishankar Prasad, कहा- अपना रुख साफ करे Congress

अनुच्छेद-370 के मसले पर Digvijay के बयान पर बोले Ravishankar Prasad, कहा- अपना रुख साफ करे Congress

नई दिल्‍ली: वरिष्ठ भाजपा नेता एवं केंद्रीय मंत्री (Senior BJP leader and Union Minister) रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के उस बयान पर कांग्रेस से अपना रुख साफ करने का कहा है जिसमें उन्होंने कथित तौर पर यह कहा था कि मोदी सरकार के सत्ता से बाहर होने पर कांग्रेस अनुच्छेद-370 को खत्‍म करने के फैसले पर पुनर्विचार करेगी. वहीं कांग्रेस नेता तारिक अनवर (Congress leader Tariq Anwar) ने कहा कि अनुच्छेद-370 के मुद्दे पर दिग्विजय की टिप्पणी कांग्रेस के रुख के अनुरूप है.

अनुच्छेद-370 को रद्द करना बहुत ही दुखी करने वाला फैसला है:
उल्‍लेखनीय है कि सोशल मीडिया (Social Media) पर आए ऑडियो टेप के मुताबिक दिग्विजय सिंह (Digvijay SIngh) ने कहा था कि अनुच्छेद-370 को रद्द करना और जम्मू-कश्मीर (jammu And Kashmeer) का राज्य का दर्जा खत्म करना बहुत ही दुखी करने वाला फैसला है. उम्‍मीद है कि कांग्रेस (Congress) इस मसले को दोबारा देखेगी. इस बयान पर निशाना साधते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा- कांग्रेस नेतृत्व (Congress Leadership) अनुच्छेद-370 के मसले पर चुप्पी साधे हुए है. क्या कांग्रेस अनुच्छेद-370 को बहाल करना चाहती है। चुप रहने का समय नहीं है. कांग्रेस को दिग्विजय सिंह के बयान पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में सुशासन बहाल करने का बीजेपी ने यिका था वादा:
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक अन्य ट्वीट में कहा है कि अनुच्छेद-370 निरस्त करते समय जम्मू-कश्मीर और लद्दाख (Ladakh) में सुशासन बहाल करने का BJP ने वादा किया था. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के दूर-दराज क्षेत्रों में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण (Vaccination) जिस तेजी के साथ चल रहा है वह सुशासन (Good Governance) का ही संकेत है. वहीं कांग्रेस नेता तारिक अनवर ने कहा है कि अनुच्छेद-370 को निरस्त करने से पाकिस्तान (Pakistan) को अंतरराष्ट्रीय मंचों (International Forums) पर कश्मीर के मसले को उठाने का मौका मिला. 

इसके चलते भारत की काफी आलोचना हुई. इस मसले पर दिग्विजय सिंह की टिप्पणी कांग्रेस के रुख के अनुरूप है.

और पढ़ें