28 मार्च को जयपुर आएंगे संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत, राष्ट्रीय सेवा संगम 2020 कार्यक्रम में रहेंगे मौजूद

28 मार्च को जयपुर आएंगे संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत, राष्ट्रीय सेवा संगम 2020 कार्यक्रम में रहेंगे मौजूद

28 मार्च को जयपुर आएंगे  संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत, राष्ट्रीय सेवा संगम 2020 कार्यक्रम में रहेंगे मौजूद

जयपुर: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ मोहन राव भागवत 28 मार्च को जयपुर के जामडोली में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय सेवा संगम 2020 में मौजूद रहेंगे.  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का राष्ट्रीय सेवा संगम इस बार जयपुर में हो रहा है. सरसंघचालक डॉ भागवत समेत आरएसएस के कई प्रचारक व पदाधिकारी जयपुर आएंगे.

यूथ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष चुनाव के लिए चल रहा मतदान, 4 लाख से अधिक यूथ कार्यकर्ता डालेंगे वोट

इस आयोजन से अब तक 1200 से ज्यादा संस्था जुड़ चुकी: 
राष्ट्रीय सेवा भारती अध्यक्ष पन्नालाल भंसाली उपाध्यक्ष ऋषिपाल डिडवाल का कहना है कि इस आयोजन से अब तक 1200 से ज्यादा संस्था जुड़ चुकी है. करीब 5000 डेलिगेशन 26 मार्च से लेकर 29 मार्च तक जयपुर में होंगे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की सेवा भारती की ओर से देश भर में लगभग डेढ़ लाख सेवा कार्य चल रहे हैं. जिनमें खासतौर पर शिक्षा स्वास्थ्य स्वावलंबन और अन्य सामाजिक कार्य है. सेवा संगम के तहत 26 मार्च को एक प्रदर्शनी की शुरुआत होगी. जिसका उद्घाटन सुधांशु महाराज करेंगे और साथ में प्रमोद राघव भी मौजूद रहेंगे. राष्ट्रीय सेवा भारती द्वारा आयोजित देश भर के शिक्षा स्वास्थ्य स्वालंबन व सामाजिक कार्यो की प्रदर्शनी होगी.  

- 27 मार्च के आयोजन में प्रदेश के राज्यपाल कलराज मिश्र, रामकृष्ण मिशन के महाराज गोतमानंद जी महाराज व डालमिया ग्रुप के मृदु हरि डालमिया मौजूद रहेंगे. 

- 28 मार्च के आयोजन में आरएसएस के सरसंघचालक डॉ मोहन राव भागवत और मफतलाल ग्रुप के विशाल मफतलाल के संबोधन होंगे. 

- 29 की शाम को देशभर के प्रतिनिधियों का सम्मेलन आयोजित होगा. इस आयोजन की खास बात यह होगी कि एक ही स्थान पर हजारों सेवा कार्यों की झलक देखने को मिलेगी. 

इस कार्यक्रम में इस बार पर्यावरण संरक्षण पर खासतौर पर फोकस किया जाएगा. आयोजनकर्ताओं की पूरी कोशिश होगी कि कार्यक्रम में प्लास्टिक का उपयोग न हो,  और प्लास्टिक के वस्तुओं के संभावित विकल्प देखने को मिलेंगे. प्रत्येक 5 वर्ष में यह कार्यक्रम आयोजित किया जाता है इस बार इस कार्यक्रम की मेजबानी का मौका जयपुर को मिला है. 

सेवा भारती के द्वारा समाज के पिछड़े वर्ग के उत्थान के लिए अनेकों सेवा कार्य समाज-जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में निःस्वार्थ भाव से चलाए जाते हैं. संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में 93 हजार, स्वास्थ्य के क्षेत्र में करीब 13 हजार, सामाजिक क्षेत्र में 15 हजार, स्वावलम्बन के क्षेत्र में लगभग 8 हजार से अधिक प्रकल्पों के माध्यम से विभिन्न प्रकार के सेवा कार्य किए जा रहे हैं. इन सेवा कार्यों से सर्वाधिक लाभान्वित होने वाले वनवासी, कच्ची बस्तियों, अभावग्रस्त व गरीब वर्ग के लोग हैं, जो कि समाज की मुख्यधारा से दूर अभावों में जीवन यापन कर रहे हैं. 

VIDEO- स्वर्ण जयंती उपहार योजना: नमस्कार मैं हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा बोल रहा हूं...बधाई हो आपने कार जीती है 

शुक्रवार को राष्ट्रीय सेवा संगम 2020 के भूमि पूजन कार्यक्रम के आयोजन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय बौद्धिक शिक्षण प्रमुख स्वांत रंजन, राष्ट्रीय सेवा भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष पन्नालाल भंसाली, उपाध्यक्ष ऋषि पाल डडवाल, संगठन मंत्री सुधीर कुमार, क्षेत्र संघचालक डॉ रमेश अग्रवाल ने मंत्रोच्चार के साथ भूमि पूजन किया. वैदिक आचार्य पंडित श्रीनंदन मिश्र ने विधि-विधान से झण्डे का पूजन कराया. इसके बाद प्रमुख अतिथियों ने झण्डारोहण किया. इस दौरान सह क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम, सेवा भारती के प्रदेष अध्यक्ष कैलाश शर्मा, संगठन मंत्री मूलचंद सोनी, क्षेत्र सेवा प्रमुख शिव लहरी, प्रांत कार्यवाह गेंदालाल, प्रांत प्रचारक डॉ. शैलेंद्र, प्रबंध व्यवस्थापक कृष्ण कुमार, मेघ सिंह समेत अन्य लोग उपस्थित रहे. 

बरहाल इस बार आयोजित होने वाले सेवा संगम में देशभर के कुछ ऐसे प्रमुख उदाहरण देखने को मिलेंगे जिन्होंने वाकई में समाज की सेवा के क्षेत्र में एक नजीर पेश की है और दूसरे शब्दों में कहा जाए तो जो समाज के लिए एक उदाहरण बने हैं और समाज का अन्य वर्ग भी उनसे सीख ले सकता है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट 

और पढ़ें