close ads


University of California ने जैन धर्म पर अध्ययन के लिए की पीठ की स्थापना, जल्दी ही शुरु किए जाएंगें ग्रेजुएशन प्रोग्राम्स

University of California ने जैन धर्म पर अध्ययन के लिए की पीठ की स्थापना, जल्दी ही शुरु किए जाएंगें ग्रेजुएशन प्रोग्राम्स

वाशिंगटन: हाल ही में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय ने एक बड़ी घोषणा की है, जिसमें जैन अध्ययन के लिए एक अलग पीठ की स्थापना की जाएगी. बताया जा रहा है कि तीन भारतीय-अमेरिकी दंपतियों की ओर से दस लाख डॉलर का दान मिलने के बाद विश्वविद्यालय में जैन अध्ययन की एक पीठ की स्थापना की बड़ी घोषणा की गई है. भगवान विमलनाथ एंडाउड चेयर इन जैन स्ट्डीज यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सांता बारबरा में जैन धर्म पर स्नातक कार्यक्रम विकसित किए जाएंगे और पढ़ाए जाएंगे. जिससे छात्रों को जैन धर्म के बारे में अधिक से अधिक जानकारी मिल पाएगी.

विश्वविद्यालय की ओर से बताया गया है कि यहां जैन धर्म के सिद्धांत अहिंसा, अपरिग्रह और अनेकतावाद के बारे में अध्ययन कराया जाएगा तथा आधुनिक समाज में इनके क्रियान्वयन पर ध्यान दिया जाएगा. वक्तव्य के मुताबिक डॉ. मीरा और डॉ. जसवंत मोदी ने वर्धमान चेरिटेबल फाउंडेशन के जरिए दान दिया है. रीता और डॉ. नरेंद्र पारसन ने नरेंद्र एंड रीता पारसन फैमिली ट्रस्ट और रक्षा तथा हर्षद शाह ने शाह फैमिली फाउंडेशन के जरिए दान दिया है. इन्हीं की तर्ज पर ये अनूठी पहल साकार रुप ले पाई है. 

तीनों दंपतियों ने एक संयुक्त वक्तव्य में कहा है कि मानव जाति और सभी रूपों में जीवन की मदद करने तथा जलवायु परिवर्तन से निपटने का सबसे प्रभावी तरीका अहिंसा के सिद्धांत को बढ़ावा देना तथा सभी मतों के लोगों के प्रति सम्मान दिखाना है. जैन अध्ययन के लिए एक पीठ का समर्थन करना और उसकी स्थापना करना इस लक्ष्य की प्राप्ति का सबसे अच्छा तरीका है. इससे आने वाली पीढ़ियों को लाभ मिलेगा और उनका मार्गदर्शन हो पाएगा. (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें