विधानसभा में आज बेरोजगारी भत्ते को लेकर हुआ जमकर हंगामा

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/07/17 09:56

जयपुर: विधानसभा में लगातार तीसरे दिन प्रश्नकाल में जबर्दस्त हंगामा हुआ. भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने मंत्री अशोक चांदना के जवाब से असंतुष्ट होकर सदन में नारेबाजी की और बाद में बहिर्गमन किया. इस हंगामे के दौरान स्पीकर सीपी जोशी की व्यवस्था से नाराज होकर भाजपा ने फैसला किया है कि कल उसके विधायक प्रश्नकाल में नहीं आएंगे. 

बेरोजगारी भत्ते को लेकर जमकर हंगामा:
विधानसभा में बुधवार को बेरोजगारी भत्ते को लेकर जमकर हंगामा हो गया. प्रश्नकाल के दौरान भाजपा विधायक कालीचरण सराफ ने बेरोजगारी भत्ते को लेकर सवाल पूछा गया. खेल व कौशल मंत्री अशोक चांदना ने इसका जवाब भी दिया, लेकिन विपक्ष उससे संतुष्ट नहीं हुआ. नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया व उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने जब इस पर सवाल किया, तो स्पीकर ने इजाजत नहीं दी. इससे खफा विपक्ष ने ना केवल हंगामा करते हुए नारेबाजी की, बल्कि सदन से वाकआउट भी कर दिया. इस बीच स्पीकर सीपी जोशी व गुलाब चंद कटारिया में कई देर नोकझोंक भी हुई. 

कालीचरण सराफ किया सवाल:
दरअसल पूर्व मंत्री कालीचरण सराफ ने पूछा था कि प्रदेश में शिक्षित बेरोजगारों की संख्या कितनी है और मौजूदा सरकार द्वारा शिक्षित बेरोजगारों को प्रतिमाह ₹3500 बेरोजगारी भत्ते देने की घोषणा की गई थी. इसके अंतर्गत कितने बेरोजगारों को भत्ता दिया गया? सवाल का जवाब देते हुए मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि पहले 650 और 750 की राशि अक्षत योजना के तहत बरोजगारी भत्ते के रूप में दी जा रही थी, लेकिन अब मुख्यमंत्री युवा संबल योजना के तहत 3500 रुपए तक की राशि बेरोजगारी भत्ते के रूप में दी जा रही है. 

मंत्री चांदना के जवाब से संतुष्ट नहीं हुए कालीचरण सराफ:
चांदना ने जवाब देते हुए कहा कि राज्य के रोजगार कार्यालयों में 31 मई 2019 तक 10.73 लाख शिक्षित बेरोजगार युवा पंजीबद्ध हैं. चांदना ने बताया कि 2014 से दिसंबर 2018 तक 1 लाख 53 हजार से ज्यादा युवाओं को 122 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान किया गया था, जबकि जनवरी 2019 से मई 2019 तक 58 करोड़ 27 लाख की राशि का भुगतान इस मद में किया गया है. दिसंबर 2018 से मई 2019 तक 40,118 लाभार्थियों को 59 करोड़ 9 लाख रुपये वितरित किए. मंत्री के जवाब से विधायक कालीचरण सराफ संतुष्ट नहीं हुए. 

गुलाब चंद कटारिया भी बहस में हुए शामिल:
इस पर विधायक सराफ ने पूरक प्रश्न पूछा कि कांग्रेस सरकार के आने के बाद कितने बेरोजगार युवाओं को भत्ता मिल रहा है. तो मंत्री इसका संतोषजनक जवाब नहीं दे सके. विपक्ष ने इस बात पर घेरा कि जब पंजीकृत शिक्षित बेरोजगार 10 लाख से अधिक है, तो फिर बेरोजगारी भत्ता 40000 लोगों को क्यों दिया जा रहा है ? नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने भी इसमें शामिल होते हुए कहा कि बांसवाड़ा, उदयपुर और डूंगरपुर जिलों में यह भत्ता पाने वाले युवाओं की संख्या कम क्यों है? मंत्री चांदना ने कहा कि ये आंकड़े तो पिछली भाजपा सरकार के ही हैं और यह शोध का विषय है कि संख्या इतनी कम क्यों है. इस पर भाजपा विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया और नारेबाजी करते हुए आसन के सामने आ गए. 

बढ़ सकती है तकरार:
लगातार तीन दिन से विधानसभा में प्रश्नकाल में हंगामा हो रहा है और विपक्ष का आरोप है कि स्पीकर उनको बोलने का मौका नहीं दे रहे हैं. ऐसे में आज भाजपा ने फैसला किया कि कल उसके सदस्य प्रश्नकाल के दौरान सदन में नहीं आएंगे. सिर्फ भाजपा के सदस्य ही प्रश्नकाल में सदन में मौजूद रहेंगे, जिन का प्रश्न लगा होगा. भाजपा के इस फैसले से अब सदन में एक बार फिर तकरार बढ़ सकती है. 

... संवाददाता योगेश शर्मा, ऐश्वर्य प्रधान के साथ नरेश शर्मा की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in