दिल्ली हिंसा पर हंगामा, लोकसभा स्पीकर बिड़ला ने कहा-वेल में आने वाले सांसदों पर होगी कार्रवाई

दिल्ली हिंसा पर हंगामा, लोकसभा स्पीकर बिड़ला ने कहा-वेल में आने वाले सांसदों पर होगी कार्रवाई

दिल्ली हिंसा पर हंगामा, लोकसभा स्पीकर बिड़ला ने कहा-वेल में आने वाले सांसदों पर  होगी कार्रवाई

नई दिल्ली: दिल्ली हिंसा पर विपक्षी सांसदों का मंगलवार को लोकसभा में जोरदार हंगामा हुआ. इसके चलते लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. विपक्ष ने सरकार को दिल्ली हिंसा पर जमकर घेरा. जिसके चलते लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ.कांग्रेस, बसपा और भाकपा की तरफ से राज्यसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया था. 

ओम बिड़ला ने जताई नाराजगी:
वेल में बैनर-पोस्टर लेकर आने पर स्पीकर ओम बिड़ला ने नाराजगी जताई. उन्होंने तल्खी जताते हुए सांसदों से कहा कि अगर आप लोग बैनर-पोस्टर लाना चाहते हैं तो मैं इसकी अनुमति देने के लिए तैयार हूं. इसके बाद लोकसभा दोपहर 12 बजे और राज्यसभा 2 बजे तक स्थगित कर दी गई.  सत्र का दूसरा चरण सोमवार से शुरू हुआ, जो 3 अप्रैल तक चलेगा.

भड़काऊ भाषण के आरोपी BJP नेता कपिल मिश्रा को मिली Y+ सिक्योरिटी

सांसदों पर होगी कार्रवाई:
लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा वेल में आने वाले सांसदों पर कार्रवाई होगी.वेल में बैनर-पोस्टर लेकर आने पर स्पीकर ओम बिड़ला ने नाराजगी जताई. वहीं दिल्ली हिंसा पर हंगामे के चलते राज्यसभा को भी दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दिया गया.

सोमवार को भी उठाया गया दिल्ली हिंसा का मुद्दा: 
सोमवार को विपक्ष की ओर से दिल्ली हिंसा का मुद्दा उठाया गया, तो सांसदों ने अमित शाह इस्तीफा दो के नारे लगाए. इसी दौरान कांग्रेस के सांसद वेल में आए और नारेबाजी करने लगे, तो फिर भाजपा सांसदों के साथ धक्का-मुक्की करने लगे. इस दौरान कुछ सांसदों ने ट्रेजरी बेंच की ओर आने वाले सांसदों को रोकने की कोशिश की.

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा-कुछ लोगों को भारत माता की जय बोलने में हो रही है दिक्कत 

हंगामा बढ़ते देख लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कार्यवाही को स्थगित किया, लेकिन सांसदों के बीच तकरार जारी रही. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी समेत अन्य नेताओं ने माहौल को शांत कराया. जब ये सब हो रहा था तब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, नेता राहुल गांधी भी सदन में मौजूद थे. उल्लेखनीय है कि नागरिकता संशोधन एक्ट के नाम पर दिल्ली में हुई हिंसा में अबतक 46 लोग जान गंवा चुके हैं. इस मसले पर कांग्रेस ने संसद परिसर में भी विरोध प्रदर्शन किया था, जिसमें राहुल गांधी भी शामिल हुए थे.

और पढ़ें