उत्तरप्रदेशः नहीं थम रहे महिलाओं से दुराचार के मामले, अब अधजली और नग्‍न अवस्‍था में मिली ग्रेजुएशन की छात्रा

उत्तरप्रदेशः नहीं थम रहे महिलाओं से दुराचार के मामले, अब अधजली और नग्‍न अवस्‍था में मिली ग्रेजुएशन की छात्रा

शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में संदिग्ध परिस्थितियों में कॉलेज से गायब हुई स्नातक की छात्रा अधजली हालत में राजमार्ग के किनारे मिली है. उसके शरीर पर कपड़े भी नहीं थे. पीड़िता को गंभीर हालत में लखनऊ रेफर किया गया है. वहीं जिले से ही लापता दो चचेरी बहनों में से एक का शव पुलिस ने बरामद किया है जबकि दूसरी बच्ची खेत में गंभीर अवस्था में मिली है. पुलिस के अनुसार स्नातक में पढ़ने वाली छात्रा के पिता की तहरीर पर मामला दर्ज कर लिया गया है और घटना की जांच की जा रही है.

खेतों में मिली पीड़ित लड़की

पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने बताया है कि शहर के ही स्वामी शुकदेवानंद पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज में स्नातक में पढ़ने वाली छात्रा लखनऊ-बरेली राजमार्ग पर नगरिया मोड़ के पास खेतों में नग्न अवस्था में मिली है. गौरतलब है कि मुमुक्षु आश्रम के अंतर्गत संचालित होने वाले स्वामी शुकदेवानंद पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज के अधिष्‍ठाता पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्‍मयानंद हैं, जिन पर दो वर्ष पहले उनके ही महाविद्यालय की एक विधि छात्रा ने यौन शोषण का आरोप लगाया था. पुलिस अधीक्षक के मुताबिक छात्रा 15 दिन में एक बार अपने पिता के साथ कॉलेज कक्षा करने आती थी.

पिता के साथ कॉलेज आई थी

सोमवार को वह अपने पिता के साथ बरेली मोड़ स्थित स्वामी शुकदेवानंद पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज में पढ़ने आई थी. छात्रा का पिता कॉलेज के बाहर बैठा था जबकि छात्रा पढ़ने के लिए कॉलेज में चली गई थी. उन्होंने बताया है की जानकारी के मुताबिक, जब तीन बजे तक छात्रा वापस नहीं आई तो उसके पिता ने तलाश शुरू की थी. इस बीच छात्रा के पिता को किसी ने सूचना दी की उसकी बेटी नगरिया मोड़ के पास जली हुई अवस्था में पड़ी है और पुलिस उसे मेडिकल कॉलेज ला रही है. एसपी के मुताबिक पुलिस अधिकारी तथा मजिस्ट्रेट द्वारा छात्रा के बयान लेने का काफी प्रयास किया गया परंतु वह बोल नहीं सकी. 

इलाज के लिए लखनऊ रेफर किया गया

उन्होंने बताया है कि छात्रा काफी जल गई है, ऐसे में उसे बेहतर इलाज के लिए लखनऊ रेफर कर दिया गया है. छात्रा के पिता ने पत्रकारों को बताया है कि वह खुद अचंभित हैं क्योंकि बेटी कभी अकेले कॉलेज नहीं आई और अगर हमें कोई काम होता था तो बेटी आने के लिए मना कर देती थी. सप्ताह या 15 दिन में वह बेटी को लेकर आते थे और कॉलेज के बाहर बैठकर उसका इंतजार करते थे और पढ़ाई पूरी होने के बाद वह खुद बेटी को लेकर गांव तक जाते थे. गंभीर रुप से जली छात्रा थाना जलालाबाद के एक गांव की निवासी है और वहीं से शाहजहांपुर के इस कॉलेज में पढ़ने आती थी.

अधिकारियों ने किया घटनास्थल का निरीक्षण

पुलिस महानिरीक्षक राजेश कुमार पांडे ने सोमवार देर रात को छात्रा को देखने के साथ ही घटनास्थल का निरीक्षण किया था. उल्‍लेखनीय है कि वर्ष 2019 में शाहजहांपुर के स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने एक वीडियो में स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे. इस कॉलेज को स्वामी चिन्मयानंद का ट्रस्ट चलाता है. इस मामले में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद की मुमुक्ष आश्रम से गिरफ्तारी हुई थी लेकिन बाद में सुनवाई के दौरान एमपी-एमएलए अदालत में छात्रा ने स्‍वामी पर किसी तरह का आरोप लगाने से इन्‍कार कर दिया था. पिछले वर्ष स्‍वामी चिन्‍मयानंद को इलाहाबाद उच्च न्यायालय से मामले में जमानत मिली थी.

अन्य मामले में चचेरी बहने मिली संदिग्ध अवस्था में

शाहजहांपुर से ही मिले एक अन्‍य समाचार के अनुसार जिले में लापता दो चचेरी बहनों में एक का शव पुलिस ने बरामद किया है जबकि दूसरी गंभीर रूप से घायल खेत में पड़ी मिली है. पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने मंगलवार को बताया है कि थाना कांट अंतर्गत भानपुर गांव में रहने वाली दो चचेरी बहनें हुमा (7) तथा आफरीन (5) गांव के बाहर ट्यूबवेल पर नहाने गई थी जब शाम छह बजे तक वापस नहीं लौटी तो परिजनों ने ग्रामीणों के साथ उनकी तलाश शुरू की थी. उन्होंने बताया है कि सोमवार देर रात गांव के बाहर खेतों में आफरीन मृत अवस्था में पड़ी मिली जबकि इसकी चचेरी बहन हुमा दूसरे गांव फाजिलपुर में सरसों के खेत में गंभीर रूप से घायल पड़ी मिली थी. 

पुलिस जांच जारी

सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने तत्काल हुमा को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज भेजा और दूसरी बच्ची के शव को कब्ज़े में ले लिया था. आनंद ने बताया है कि मामले में सोमवार रात से ही पुलिस की टीम संदिग्धों को बुलाकर पूछताछ कर रही है और एक दर्जन लोगों से इस मामले में पूछताछ की जा चुकी है. उन्‍होंने दावा किया है कि पुलिस शीघ्र ही निष्कर्ष पर पहुंच पाएगी. पुलिस ने मामला दर्ज कर मृत बच्ची आफरीन के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है जबकि दूसरी घायल बच्ची हुमा को बेहतर इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया है पुलिस मामले की जांच कर रही है.  (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें